अपना शहर चुनें

States

Switch Delhi: सात हजार से ज्यादा ने रजिस्टर्ड कराए Electric Vehicle, 210 मॉडलों पर मिली 13.5 करोड़ की सब्सिडी!

परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत नेे स्विच दिल्ली संकल्प को लॉन्च किया गया है.
परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत नेे स्विच दिल्ली संकल्प को लॉन्च किया गया है.

Switch Delhi: दिल्ली सरकार ने सभी को ईवी वाहन (Electric Vehicles) खरीदने के लिए प्रोत्साहित किया. दिल्ली में करीब 7000 से अधिक नए ईवी पंजीकृत किए गए हैं. 210 से अधिक स्वीकृत मॉडल पर लगभग 13.5 करोड़ की सब्सिडी अब तक वितरित की जा चुकी है. दिल्ली डायलॉग एंड डेवलपमेंट कमीशन (DDDC) ने डब्लूआरआई इंडिया के सहयोग से वेबिनार आयोजित किया. इसमें 100 से अधिक लोग शामिल हुए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 23, 2021, 7:54 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत (Kailash Gehlot) ने दिल्ली को भारत की ईवी राजधानी बनाने की प्रतिबद्धता को मजबूत करने के लिए ev.delhi.gov.in/pledge पर स्विच दिल्ली संकल्प को लॉन्च किया गया है. दिल्ली में सभी को ईवी वाहन (Electric Vehicles) खरीदने के लिए प्रोत्साहित किया. दिल्ली में करीब 7000 से अधिक नए ईवी पंजीकृत किए गए हैं. 210 से अधिक स्वीकृत मॉडल पर लगभग 13.5 करोड़ की सब्सिडी अब तक वितरित की जा चुकी है.


दिल्ली में इलेक्ट्रिक वाहन खरीद में तेजी लाने के लिए जनता और हितधारकों के साथ जुड़ाव बढ़ाने के उद्देश्य से दिल्ली डायलॉग एंड डेवलपमेंट कमीशन (DDDC) ने डब्लूआरआई इंडिया के सहयोग से वेबिनार आयोजित किया गया.


इसमें 100 से अधिक लोग शामिल हुए. वेबिनार ने दो पैनलों की मेजबानी की. पहला इलेक्ट्रिक वाहन खरीदने वाले व विशेषज्ञों के बीच चर्चा और दूसरा कि युवा दिल्ली में ईवी आंदोलन कैसे चला सकते हैं.


डब्ल्यूआरआई इंडिया में परिवहन निदेशक अमित भट्ट द्वारा संचालित विशेषज्ञ पैनलिस्टों में डब्ल्यूआरआई इंडिया के डॉ. ओपी अग्रवाल, बीआरपीएल के अभिषेक रंजन, आरएमआई इंडिया की अक्षिमा घाटे, मोटर वाहन पत्रकार क्रांति संभव और ईवी मालिक आयुषी जैन शामिल हुए.




डब्ल्यूआरआई इंडिया के डॉ. ओपी अग्रवाल ने कहा कि दूसरे राज्यों की ओर से लागू की गई ईवी नीतियां औद्योगिक नीति जैसी लगती हैं. ऐसा लगता है कि उन्हें राज्य में निवेश आकर्षित करने के बनाया गया है.


लेकिन दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने ईवी नीति में इलेक्ट्रिक वाहन खरीदने पर भारी सब्सिडी और प्रोत्साहन देकर देश के सामने उदाहरण पेश किया है। इसके अलावा खरीदारों को इस आंदोलन में शामिल किया है.


आरएमआई इंडिया की अक्षिमा घाटे ने कहा कि दिल्ली सरकार का पूरे बेड़े को ईवी में बदलने का निर्णय, एक बड़ा निर्णय है. इसका पर्यावरण पर बड़ा और सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा. यह दिल्ली को स्वच्छ और हरा भरा बनाने का रास्ता तय करेगा.


बीआरपीएल (BRPL) के अभिषेक रंजन ने चार्जिंग और ताकत के प्रावधानों पर कहा कि बेहतर चार्जिंग बुनियादी ढांचा, ग्रिड योजना और उपभोक्ता योजना को प्रोत्साहित करने के लिए हम दिल्ली सरकार के साथ काम कर रहे हैं.


वाहनों को चार्ज करने के लिए बिजली की आपूर्ति को लेकर कभी भी समस्या नहीं होगी. दिल्ली सरकार (Delhi Government) सौर ऊर्जा (Solar Power) की मदद से बुनियादी सुविधा सुनिश्चित करने के लिए भी कदम उठा रही है. इलेक्ट्रिक कार की खरीदने वाली आयुषी जैन ने कहा कि बिजली चलित वाहन का मालिक होकर बहुत अच्छा लगता है.


दिल्ली में ईवी आंदोलन चलाने वाले युवाओं के दूसरे पैनल में पर्यावरणविद छात्र आदित्य दुबे, लेट मी ब्रीथ से निहारिका मग्गो, पर्यावरण कहानी मंच और ईवी मालिक शेरेबानू फ्रोश और नैक्सन इलेक्ट्रिक वाहन खरीदार क्लब के सदस्य विवेक आहूजा शामिल हुए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज