Assembly Banner 2021

कंगना रनौत को किसान आंदोलन पर ट्वीट करना पड़ा भारी, कोर्ट ने दिल्‍ली पुलिस को दिया ATR फाइल करने का आदेश

कंगना रनौत किसान आंदोलन पर अपने ट्वीट को लेकर मुश्किल में हैं.

कंगना रनौत किसान आंदोलन पर अपने ट्वीट को लेकर मुश्किल में हैं.

पटियाला हाउस कोर्ट (Patiala House Court) में किसान आंदोलन पर ट्वीट करने के मामले में बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut) के खिलाफ केस दर्ज करने वाली याचिका पर 24 अप्रैल को सुनवाई होगी. हालांकि कोर्ट ने इस मामले में दिल्ली पुलिस को एक्शन टेकन रिपोर्ट (ATR) दाखिल करने का निर्देश दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 10, 2021, 6:26 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली/शिमला. किसान आंदोलन पर ट्वीट करने को लेकर बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut) के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की मांग वाली याचिका पर पटियाला हाउस कोर्ट (Patiala House Court) ने दिल्ली पुलिस को एक्शन टेकन रिपोर्ट (ATR ) दाखिल करने का निर्देश दिया है. जबकि इस मामले में कोर्ट 24 अप्रैल को अगली सुनवाई करेगा.

दिल्ली गुरुद्वारा सिख प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने पटियाला हाउस कोर्ट में याचिका दाखिल की थी. याचिका में कहा गया है कि कृषि कानूनों के विरोध में आंदोलन कर रहे किसानों के खिलाफ कंगना रनौत ने आपत्तिजनक ट्वीट किया जिससे किसानों खासकर सिख किसानों की छवि को नुक्सान पहुंचा है. याचिकाकर्ता ने इस बाबत दिल्ली पुलिस को शिकायत भी दी थी, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की. इसलिए कोर्ट इस मामले में दिल्ली पुलिस को धारा 156(3 ) के तहत मुकदमा दर्ज करने का आदेश दे.

बता दें कि कंगना रनौत ने किसान आंदोलन के खिलाफ ट्वीट करते हुए किसानों की तुलना आतंकवादियों से की थी. इस पर कोर्ट ने सिरसा के वकील से पूछा कि अगर किसी ने सोशल मीडिया पर कुछ कहा है, तो वो आपके लिए इतना जरूरी क्‍यों है? हमारे देश में कितने लोग ट्विटर का प्रयोग करते हैं?




वहीं, याचिकाकर्ता (दिल्ली गुरुद्वारा सिख प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा) के वकील ने कहा कि कंगना रनौत कोई ट्वीट करती हैं तो वो मीडिया में भी प्रकाशित होता है, ऐसे में उनका बयान सांप्रदायिक तनाव का कारण बन सकता है. हालांकि इस मामले में कोर्ट ने फिर पूछा कि कितने लोग सोशल मीडिया पर हैं या अखबार पढ़ते हैं?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज