Home /News /delhi-ncr /

most road accidents happen in summer delsp

गर्मियों में सबसे अधिक होते हैं सड़क हादसे, ये हैं वजह

देश में प्रति वर्ष करीब 4.5 लाख सड़क हादसे होते हैं. (सांकेतिक फोटो)

देश में प्रति वर्ष करीब 4.5 लाख सड़क हादसे होते हैं. (सांकेतिक फोटो)

सड़क परिवहन मंत्रालय की रिपोर्ट के अनुसार सबसे अधिक सड़क हादसे बारिश या कोहरे की तुलना में गर्मी खासकर मई में होते हैं. एक्‍सपर्ट मानते हैं कि ज्‍यादातर स्‍कूलों में गर्मियों की छुट्टियां मई माह से शुरू हो जाती हैं. लोग सड़क मार्ग से दूसरे शहर घूमने या रिश्तेदारों के यहां जाते हैं. इस वजह से सड़कों पर ट्रैफिक बढ़ जाता है और हादसे होते हैं.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. सड़क हादसों (road accidents) को लेकर आमतौर पर यह माना जाता है कि सबसे अधिक हादसे कोहरे या बरसात में होते हैं, लेकिन यह अनुमान गलत है. सबसे अधिक हादसे गर्मी यानी मई माह में होते हैं, जब मौसम बिल्‍कुल साफ होता है. सड़क परिवहन मंत्रालय (Ministry of Road Transport) की रिपोर्ट के अनुसार इन सड़क हादसों का सबसे बड़ा कारण स्पीड (speed) है. पिछले वर्षों का रिकार्ड देखा जाए तो मई के बाद दूसरे नंबर पर हादसे जनवरी यानी कोहरे के दौरान हादसे होते हैं.

इस संबंध में एक्‍सपर्ट मानते हैं कि ज्‍यादातर स्‍कूलों में गर्मियों की छुट्टियां मई माह से शुरू हो जाती हैं. लोग सड़क मार्ग से दूसरे शहर घूमने या रिश्तेदारों के यहां जाते हैं. इस वजह से सड़कों पर ट्रैफिक बढ़ जाता है और हादसे होते हैं. इसके अलावा बारिश और कोहरे में लोग सावधानी से वाहन चलाते हैं लेकिन मौसम साफ होने पर स्‍पीड से गाड़ी चलाना भी हादसों की एक वजह है.

सड़क परिवहन मंत्रालय की रिपोर्ट के पूरे साल में करीब 4.5 लाख सड़क हादसों में करीब 1.5 लोगों की मौत होती है और करीब 4.5 लाख लोग घायल होते हैं. रिपोर्ट अनुसार बारिश की तुलना में गर्मी में 15 से 20 फीसदी हादसे अधिक हुए हैं. वहीं, कोहरे की तुलना गर्मी में 2 से 3 फीसदी अधिक हादसे होते हैं.

ये भी पढ़ें:गड्ढों से हादसों में सालाना करीब छह हजार होते हैं शिकार, मशीन से जल्‍द भरेंगे गड्ढे

गर्मियों में सड़क हादसों के ये हैं कारण

सेंट्रल रोड रिसर्च इंस्टीट्यूट के साइंटिस्ट डा. वेलमूगन ने बताया कि जहां ट्रैफिक अधिक होगा, वहां पर सड़क हादसों की संभावना अधिक होगी और जहां ट्रैफिक कम होता है, वहां सड़क हादसे कम होंगे. गर्मियों में स्‍कूलों की छुट्टियां शुरू होने पर एक साथ लोग बाहर निकलते हैं. इस वजह से वाहनों की संख्‍या बढ़ जाती है, जिससे हादसे होते हैं. लेकिन वापस आने का समय अलग-अलग होता है, इसलिए शायद जून में हादसों की संख्‍या कम होती है.

अराइव सेव के निदेशक हरमन सिंह सिद्धू बताते हैं कि मई में लोग परिवार और बच्‍चों के साथ शहर से बाहर जाते हैं. इस दौरान लोग खुली सड़कों में स्पीड से गाड़ी चलाते हैं, जिससे हादसे होते हैं. यही वजह होती है कि हाईवे पर अधिक हादसे होते हैं.

ये भी पढ़ें: Road Accident News- सड़क हादसे में मुआवजे के लिए नहीं होगा इंतजार

सेव लाइफ फाउंडेशन की पब्लिक पॉलिसी की निदेशक करुणा रैना बताती हैं कि गर्मी में अधिक हादसों का एक कारण यह भी होता है कि बारिश या कोहरे में लोग संभलकर वाहन चलाते हैं लेकिन गर्मी में रास्‍ता बिल्‍कुल साफ होता है, इसलिए स्‍पीड बढ़ाने के साथ और कम सतर्कता बरतते हैं. यह भी हादसे अधिक होने की एक वजह हो सकती है.

वर्ष 2019 में मौसम, सड़क हादसे और मौतों का आंकड़ा
माह                  हादसे                मौत
मई (गर्मी)         41190             14644
जनवरी (कोहरा) 41130            13688
जुलाई (बारिश)  36190             11875
अगस्त (बारिश) 34096             10740

वर्ष 2018 में मौसम, सड़क हादसे और मौतों का आंकड़ा
माह                    हादसे                       मौत
मई (गर्मी)          42730                    14368
जनवरी (कोहरा) 41780                    13196
जुलाई (बारिश)    36991                  11742
अगस्त (बारिश) 35845                    11053

वर्ष 2017 में मौसम, सड़क हादसे और मौतों का आंकड़ा
माह                    हादसे                      मौत
मई (गर्मी)          42799                   14417
जनवरी (कोहरा) 39824                   12416
जुलाई (बारिश) 36380                     11183
अगस्त (बारिश) 36294                    11116

Tags: Road accident, Road Accidents, Road and Transport Ministry

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर