मदर डेयरी ने फ्रोजन जामुन पल्प बाजार में उतारा, झारखंड के किसान होंगे मालामाल
Ranchi News in Hindi

मदर डेयरी ने फ्रोजन जामुन पल्प बाजार में उतारा, झारखंड के किसान होंगे मालामाल
मदर डेयरी ने जामुन से तैयार एक नया प्रोडक्ट बाजार में उतारा है.

मदर डेयरी (Mother Dairy) ने फ्रोजन जामुन पल्प के रूप में नया प्रोडक्ट बाजार में उतारा है. यह प्रोडेक्ट झारखंड (Jharkhand) के किसानों से जामुन (Jamun) खरीदकर तैयार किया जा रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 17, 2020, 7:37 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. राष्ट्रीय डेरी विकास बोर्ड (National Dairy Development Board) की पूर्ण स्वामित्व की सब्सिडियरी मदर  डेयरी (Mother Dairy) ने जामुन (Jamun) के एक नए उत्पाद को बाजार में उतारा है. किसानों और उपभोक्ताओं दोनों को जोड़ने और लाभान्वित करने के मकसद से यह उत्पाद शुरू किया गया है. मदर डेयरी ने दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) में उपभोक्ताओं के लिए अपने हाॅर्टीकल्चर ब्राण्ड सफल के तहत फ्रोजन जामुन पल्प की शुरुआत की है. इस उत्पाद को शत-प्रतिशत प्राकृतिक जामुन फल से तैयार किया गया है. खास बात यह है कि जामुन के इन फलों को सीधे झारखंड के किसानों से लिया जा रहा है. इस कदम से झारखंड के किसानों के लिए प्रत्यक्ष बाज़ार और स्थायी आजीविका उपलब्ध होगा.

सफल फ्रोजन जामुन पल्प की ये है ख़ासियत

सफल फ्रोजन जामुन पल्प 99 रुपये की कीमत के साथ 250 ग्राम के एक री-युज़ेबल टब में उपलब्ध होगा. इस प्रोडक्ट की शेल्फ लाइफ 6 महीने होगी. एक 250 ग्राम का पैक ताज़ा जामुन के 500-700 ग्राम के बराबर है.



उत्पाद को लेकर डेयरी के लक्ष्य 
मदर डेयरी ने सफल के जरिये 1 लाख घरों तक पहुंचने का लक्ष्य निर्धारित किया है. सफल फ्रोजन जामुन पल्प सफल के 300 आउटलेट्स पर उपलब्ध होगा. बाद में धीरे-धीरे इसे सामान्य व्यापार आउटलेट्स और ई-कॅामर्स में प्रवेश कराने की कंपनी की योजना है.

जामुन फल या पल्प के ये हैं फायदे

नए उत्पाद के बारे में बात करते हुए डेयरी के बिजनेस हेड प्रदीप्ता साहू ने कहा कि जामुन का फल गुणों से भरपूर है. इसमें विटामिन सी और आयरन होता है, जो हीमोग्लोबिन की कमी को पूरा करने में मदद करता है. ग्लाइसेमिक इंडेक्स कम होने के कारण यह डाइबीटीज के रोगियों के ब्लड शुगर की मात्रा को सामान्य रखता है. चूंकि जामुन केवल सीमित अवधि के लिए उपलब्ध होता है. लिहाजा बाहरी उत्पाद की अनिश्चितता को देखते हुए मदर डेयरी ने एक विकल्प उपलब्ध करने के लिए जामुन के मौसम के दौरान इस उत्पाद को पेश किया है.

साहू ने कहा कि यह प्रोडक्ट विशेष रूप से इम्यूनिटी की एक ताज़ा खुराक उपलब्ध कराने के मकसद से बनाया गया है. इस उत्पाद में चीनी, प्रिसरवेटिव्स और रंग के न होने के कारण यह अपने आप में खालिस जैविक है. उपभोक्ताओं को जामुन फल के मौसम का इंतज़ार नहीं करना पड़ेगा. और घर पर आराम से अपना मनचाहा पेय, पाॅप्सिकल एवं डेसर्ट बना सकते हैं.

इस तरह तैयार हो रहा है जामुन पल्प

सफल झारखंड से सीधे जामुन की सोर्सिंग कर रहा है. और इसे सफल की रांची यूनिट में प्रोसेस किया जा रहा है. इस प्लान्ट में दो प्रोसेसिंग लाइनें हैं. एक फलों और सब्ज़ियों की फ्रीजिंग के लिए फ्रोज़न (आईक्यूएफ) और दूसरी लाइन पल्प एवं कान्सन्ट्रेट्स बनाने के लिए है.

मदर डेयरी इसके अलावा भी कई उत्पादों का प्रसंस्करण उत्पाद तैयार कर उपभोक्ताओं को उपलब्ध करवा रही है. मदर डेयरी, अपने हाॅर्टीकल्चर ब्राण्ड सफल के तहत टमाटर, केला, आंवला, जामुन, गाजर का पेस्ट, हल्दी का पेस्ट आदि का प्रसंस्करण कर रही है, जिसे सीधे राज्य के किसानों से लिया जा रहा है. डेयरी ने 2017 में भारत का पहला फ्रोजन जैकफ्रूट पेश किया था, जो सीधे झारखंड के किसानों से खरीदे जाते हैं. सफल के रांची इकाई में जमा कर इसे पैक किए जाते हैं. जिसकी वजह से कटहल को पसंद करने वालों के लिए यह फल साल भर उपलब्ध रहता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज