Home /News /delhi-ncr /

mother dairy milk gets costlier by rupees 4 in delhi within six months know new prices

दिल्ली में छह महीने के अंदर 4 रुपये महंगा हो गया मदर डेयरी का दूध, जानें नई कीमतें

इस साल मदर डेयरी के दूध की कीमत में कुल 4 रुपये का इजाफा हो चुका है.

इस साल मदर डेयरी के दूध की कीमत में कुल 4 रुपये का इजाफा हो चुका है.

Mother Dairy Milk Price: दिल्ली-एनसीआर में मदर डेयरी ही दूध की सबसे ज्यादा सप्लाई करता है. कंपनी पॉली पैक और वेंडिंग मशीनों के जरिये रोजाना 30 लाख लीटर से अधिक दूध की बिक्री करती है. इसके साथ ही अमूल ने दूध की कीमत 2 रुपये प्रति लीटर बढ़ा दिया है.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

दिल्ली-एनसीआर में मदर डेयरी का दूध बुधवार से 2 रुपये महंगा हो गया है.
इससे पहले कंपनी ने इसी साल मार्च में भी दूध की कीमत 2 रुपये बढ़ाई थी.
कंपनी ने दूध के दाम बढ़ाने के पीछे उत्पादन और अन्य लागत में इजाफे का हवाला दिया है.

नई दिल्ली. दिल्ली-एनसीआर में आज से मदर डेयरी का दूध 2 रुपये महंगा हो गया है. इस तरह देखे तो इस साल मदर डेयरी के दूध की कीमत में कुल 4 रुपये का इजाफा हो चुका है. कंपनी ने इससे पहले मार्च में दिल्ली-एनसीआर (राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र) में दूध की कीमतों में दो रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी की थी.

मदर डेयरी दिल्ली-एनसीआर बाजार की अग्रणी दूध आपूर्तिकर्ताओं में से है और पॉली पैक एवं वेंडिंग मशीनों के माध्यम से प्रति दिन 30 लाख लीटर से अधिक दूध की बिक्री करती है. उसने दूध के दाम बढ़ाने के पीछे उत्पादन और अन्य लागत में इजाफे का हवाला दिया है. मदर डेयरी के एक अधिकारी ने मंगलवार को कहा कि कंपनी 17 अगस्त, 2022 से दूध की कीमतों में दो रुपये प्रति लीटर की वृद्धि करने के लिए ‘बाध्य’ है.

मदर डेयरी की नई कीमतें दूध के सभी पैक पर लागू होंगी. फुल क्रीम दूध की कीमत बुधवार से 59 रुपये प्रति लीटर से बढ़कर 61 रुपये प्रति लीटर हो जाएगी. वहीं टोंड दूध की कीमत बढ़कर 51 रुपये और डबल टोंड दूध की कीमत 45 रुपये प्रति लीटर हो जाएगी. गाय के दूध की कीमत बढ़ाकर 53 रुपये प्रति लीटर कर दी गई है. थोक वेंडेड दूध (टोकन दूध) की कीमत 46 रुपये प्रति लीटर से बढ़ाकर 48 रुपये कर दी गई है.

अधिकारी ने कहा कि पिछले पांच माह में कंपनी की लागत में काफी वृद्धि हुई है. उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा कि किसानों से दूध की खरीद की लागत 10-11 प्रतिशत बढ़ गई है. इसी तरह, गर्मी मौसम के लंबा खिंचने के कारण मवेशियों के चारे की लागत में भी उल्लेखनीय वृद्धि देखी गई है.

अधिकारी के अनुसार, किसानों से खरीद की लागत में हुई वृद्धि का आंशिक बोझ ही उपभोक्ताओं पर डाला जा रहा है. कंपनी बिक्री से होने वाली कमाई का लगभग 75-80 प्रतिशत किसानों से दूध खरीदने पर करती है.

Tags: Delhi news, Milk

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर