दिल्ली में 4 साल की बच्ची को बचाने किडनैपर्स से भिड़ गई मां, देखें VIDEO
Delhi-Ncr News in Hindi

दिल्ली में 4 साल की बच्ची को बचाने किडनैपर्स से भिड़ गई मां, देखें VIDEO
अपहरण के इस मामले में पुलिस ने बच्ची के चाचा और उसके साथी को गिरफ्तार किया है.

Delhi Kidnapping Case: 20 लाख का कर्जा उतारने के लिए चाचा ने अपनी ही भतीजी के अपहरण (Kidnap) की साजिश रची थी. किडनैपिंग की कोशिश का वीडियो सोशल मीडिया (Social Media) पर जमकर वायरल (Viral) हो रहा है.

  • Share this:
दिल्ली. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delhi) के शकरपुर इलाके में 4 साल की बच्ची के किडनैपिंग (Kidnapping) की कोशिश के मामले को पुलिस ने 24 घंटे के अंदर सुलझा लिया है. मामले में बच्ची के चाचा को पुलिस ने गिरफ्तार. बताया जा रहा है कि 20 लाख का कर्जा उतारने के लिए चाचा ने अपनी ही भतीजी के अपहरण की  साजिश रची थी. किडनैपिंग की कोशिश का वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल (Viral Video) हो रहा है. दरअसल, मंगलवार दोपहर पूर्वी दिल्ली जिले की पुलिस में उस समय हड़कंप मच गया जब बच्ची की किडनैपिंग की सूचना मिली. हालांकि पुलिस के लिए राहत की बात ये रही कि बदमाश बच्ची को किडनैप करने में असफल हो गए. लेकिन दिनदहाड़े गली में घर के बाहर से बच्ची के अपहरण करने की कोशिश ने पूरे इलाके हड़कंप मचा दिया.

दरअसल, घटना पूर्वी दिल्ली जिले के शकरपुर इलाके की है जहां मंगलवार दोपहर कपड़ा व्यापारी की 4 साल की बच्ची को घर के बाहर से अपहरण करने की कोशिश की गई. तरुण गुप्ता का गांधी नगर में कपड़े का बिजनेस है. वो परिवार सहित शकरपुर इलाके में रहते है. जहां मंगवालर की दोपहर तरुण की 4 साल की बेटी घर के बाहर खड़ी थी. तभी बाइक पर सवार दो अज्ञात बदमाशों ने बच्ची को उठाकर भागने की कोशिश की लेकिन बच्ची जोर से रोने लगी. बच्ची की आवाज सुनकर उसकी मां बाहर दौड़ी और बच्ची को छुड़ाकर शोर मचा दिया जिसके बाद पड़ोसी दौड़ पड़े. खुद को फसता देख किडनैपर्स बाइक लेकर भागने लगे. पड़ोसी प्रभाकर झा उनके पीछे दौड़े और दूसरे पड़ोसी ने रास्ते में स्कूटी लगा कर रास्ता रोक दिया. दोनों पड़ोसियों ने बदमाशों की बाइक गिरा दी, लेकिन बदमाश चाकू दिखाकर भागने में सफल रहे. ये पूरी वारदात गली में लगे सीसीटीवी में कैद हो गई.

यहां देखें वीडिओ




ये भी पढ़ें: MP COVID-19 Update: भोपाल में 25 जुलाई से 10 दिन का टोटल लॉकडाउन

24 घंटे में सुलझा मामला

परिवार ने पुलिस को सूचना दी जिसके बाद पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज कब्जे में ली और जांच शुरू की. जांच के बाद 24 घण्टे के अंदर पुलिस ने मामला सुलझाते हुए हैरान कर देने वाला खुलासा किया. पुलिस ने व्यापारी के सगे छोटे भाई उपेन्द्र गुप्ता को अपनी ही भतीजी के अपहरण की साजिश रचने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया. आरोपी उपेंद्र ने बताया कि उस पर 20 लाख का कर्ज हो गया था और भाई अपने व्यापार में उसे साथ नहीं रखता था. इसलिए अपहरण कर फिरौती मांगने की योजना बनाई थी जिससे वह अपना कर्ज उतार सकता था. इसमें  साथी धीरज को भी शामिल किया और उसे एक लाख रुपए देने का वादा भी किया था. बदमाशों की बाइक की जब जांच की तो धीरज पुलिस गिरफ्त में आ गया. दरअसल वारदात में इस्तेमाल बाइक धीरज की थी जिसे उसने अपने पुराने पते पर लिया हुआ था जहां से पुलिस को धीरज का सुराग मिल गया. फिलहाल, पुलिस ने उपेन्द्र और उसके साथी धीरज को गिरफ्तार कर लिया है और जांच कर रही है कि इस पूरी घटना में कोई और व्यक्ति भी शामिल तो नहीं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज