ट्रैफिक पुलिस: अब तेज आवाज़ करने वाले हॉर्न और साइलेंसर की बारी!
Delhi-Ncr News in Hindi

ट्रैफिक पुलिस: अब तेज आवाज़ करने वाले हॉर्न और साइलेंसर की बारी!
हाल ही में लोगों को सख्ती के साथ यातायात के नियमों का पालन कराने के लिए केन्द्र सरकार की ओर से आदेश जारी किए गए थे.

दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) के आदेश पर जल्द ही दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ऐसे वाहनों (Vehicle) के खिलाफ अभियान शुरु करने जा रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 18, 2019, 8:34 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. यदि आपकी बाइक (Bike) या कार (Car) में प्रेशर हॉर्न (Pressure Horn) या तेज आवाज करने वाला साइलेंसर लगा. या फिर आप सड़क (Road) पर चलते हुए बुलेट बाइक (Bullet Bike) से पटाखे (Crackers) जैसे आवाज निकालते हैं. सड़क पर चलते हुए आप अगर इनमें से कोई एक काम भी कर रहे हैं तो आपके लिए परेशानी खड़ी होने वाली है.

हाईकोर्ट ने कहा था सिर्फ चालान काटने से कुछ नहीं होगा

एक एनजीओ से जुड़े और लॉ के छात्र प्रतीक चौधरी ने दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) में प्रेशर हॉर्न और तरह-तरह की तेज आवाज करने वाले साइलेंसर का वाहनों में इस्तेमाल करने वालों के खिलाफ एक याचिका डाली थी. जिस पर कोर्ट ने सख्त रुख अपनाते हुए दिल्ली पुलिस से कहा था कि सिर्फ चालान काटने से कुछ नहीं होगा, ऐसे वाहन चालकों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए. अदालत ने यातायात पुलिस को इस तरह के उपकरणों के इस्तेमाल के खिलाफ की गई कार्रवाई पर एक ताजा स्थिति रिपोर्ट भी सौंपने का निर्देश दिए थे.



ये कहा गया था याचिका में
प्रतीक चौधरी ने याचिका में कहा था, दिल्ली में विभिन्न तरह के प्रेशर हॉर्न, स्पीकर और रॉयल एनफील्ड बुलेट मोटरसाइकिल में इस्तेमाल किए जाने वाले अलग तरह के साइलेंसर (तेज आवाज करने वाले) के निर्माण, बिक्री और इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगाया जाए. इससे तनाव, सिरदर्द, थकान, चिड़चिड़ापन, रक्तचाप में उतार-चढ़ाव, हृदय रोग और पाचन में गड़बड़ी जैसी स्वास्थ्य समस्याएं पेश आती हैं.

याचिका दाखिल करने वाले का आरोप है कि इससे इंसान के स्वास्थ्य पर खराब असर पड़ रहा है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)


याचिका पर ये बोली दिल्ली पुलिस

दिल्ली पुलिस ने हाईकोर्ट में याचिका पर जवाब दाखिल करते हुए कहा था कि वो लगातार ऐसे वाहनों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए चालान काट रहे हैं. जल्द ही इनके खिलाफ एक बड़ा अभियान भी छेड़ा जाएगा. वहीं चार जून से 22 जुलाई तक प्रेशर हॉर्न वाले 6315 वाहन और अलग तरह की आवाज करने वाले साइलेंसर लगे 35 वाहनों के चालान काटे गए. 23 जुलाई से 8 अक्टूबर तक 6157 प्रेशर हॉर्न और 390 गलत साइलेंसर लगे वाहनों के चालान काटे गए हैं.

ये भी पढ़ें-

सीएम योगी का दीवाली तोहफा, देश में बनने वाली तोप पर यूपी के इस जिले का लिखा जाएगा नाम

पिता केजरीवाल को दोबारा सीएम बनाने का जिम्मा लेने वाली हर्षिता के बारे में क्या ये बात जानते हैं आप
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज