लाइव टीवी

दिल्ली में गणतंत्र दिवस समारोह के मद्देनजर बहुस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था
Delhi-Ncr News in Hindi

भाषा
Updated: January 26, 2020, 10:35 AM IST
दिल्ली में गणतंत्र दिवस समारोह के मद्देनजर बहुस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था
गणतंत्र दिवस परेड की फोटो.

71वें गणतंत्र दिवस समारोह (Republic Day Celebrations) के कारण राजपथ (Rajpath) के मुख्य क्षेत्र को रविवार को दोपहर 12 बजे तक बंद रखा जाएगा. संदिग्धों की पहचान के लिए प्रमुख बिंदुओं पर चेहरा पहचान प्रणाली लगाई गई है.

  • Share this:
नई दिल्ली. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (National Capital Delhi) में 71वें गणतंत्र दिवस समारोह (Republic Day Celebrations) के मद्देनजर बहुस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था की गई है, जिसके तहत हजारों सशस्त्र कर्मी कड़ी निगरानी कर रहे हैं. दिल्ली पुलिस द्वारा गणतंत्र दिवस समारोह के लिए किए गए इंतजामों में चेहरा पहचान प्रणाली और ड्रोन का इस्तेमाल शामिल है. साथ ही 10 हजार से अधिक सुरक्षाकर्मियों की तैनाती की गई है. पुलिस उपायुक्त (नयी दिल्ली क्षेत्र) ई. सिंघल ने बताया कि ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो की सुरक्षा के लिए विशेष इंतजाम किए गए हैं जो गणतंत्र दिवस परेड में मुख्य अतिथि हैं.

सुरक्षा के लिए लगाए गए हैं सैकड़ों सीसीटीवी कैमरे
अधिकारियों ने बताया कि रविवार को राजपथ से लालकिले तक के आठ किलोमीटर लंबे परेड मार्ग पर नजर रखने के लिए ऊंची इमारतों पर शार्पशूटर और स्नाइपर तैनात किए गए हैं. संदिग्धों की पहचान के लिए प्रमुख बिंदुओं पर चेहरा पहचान प्रणाली लगाई गई है. उन्होंने बताया कि सुरक्षा व्यवस्था के तहत सैकड़ों सीसीटीवी कैमरे भी लगाये गए हैं. इसमें से कम से कम 150 कैमरे लालकिला, चांदनी चौक और यमुना खादर में लगाए गए हैं.

दिल्ली में तैनात की गई हैं अर्द्धसैनिक बलों की 50 हजार कंपनियां

सिंघल ने कहा, ‘हमने चार स्तरीय सुरक्षा व्यवस्था की है. भीतरी, मध्य, बाहरी और राष्ट्रीय राजधानी के बाहर सीमांत क्षेत्रों में.’ उन्होंने बताया कि ड्रोन भी तैनात किए गए हैं. उन्होंने कहा, ‘दिल्ली पुलिस के पांच हजार से छह हजार कर्मी नई दिल्ली जिले में तैनात किए गए हैं. साथ ही अर्द्धसैनिक बलों की 50 हजार कंपनियां भी तैनात की गई हैं.’

किए गए हैं ये आतंकवाद रोधी उपाय
आयोजन स्थल तक दर्शक और आगंतुकों के बाधारहित आवागमन के लिए दो हजार से अधिक यातायात पुलिस कर्मी तैनात किए गए हैं. दिल्ली में आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर भी पुलिसकर्मियों को अलर्ट रहने को कहा गया है. चुनाव के तहत आठ फरवरी को दिल्ली में मतदान होगा. अधिकारियों ने कहा कि आतंकवाद रोधी उपाय किए जा रहे हैं, जैसे किरायेदारों और घरेलू सहायकों की पहचान, सीमा पर जांच, मॉल, बाजारों सहित महत्वपूर्ण स्थलों की सुरक्षा, भीड़-भाड़ वाले क्षेत्रों में गश्त आदि.मेट्रो स्टेशनों, रेलवे स्टेशनों, हवाई अड्डों और बस टर्मिनल पर बढ़ाई गई जांच
अधिकारियों ने बताया कि पुलिस ने होटल, टैक्सी और ऑटो-चालकों से अलर्ट रहने को कहा है. सुरक्षा बढ़ाए जाने के मद्देनजर सार्वजनिक स्थानों पर गश्त बढ़ा दी गई है. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘हमने सार्वजनिक स्थलों पर गश्त बढ़ा दी है. समूह में गश्त, रात में गश्त और वाहनों की जांच केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बल की मदद से की जा रही है. मेट्रो स्टेशनों, रेलवे स्टेशनों, हवाई अड्डों और बस टर्मिनल पर जांच बढ़ा दी गई है.

विजय चौक से इंडिया गेट तक परेड समाप्ति तक वाहनों की आवाजाही पर रोक
राजपथ पर मुख्य आयोजन स्थल को सुरक्षित बनाने के अलावा राष्ट्रपति भवन में आयोजित होने वाले ‘जलपान कार्यक्रम’ (ऐट होम) के लिए भी पर्याप्त सुरक्षा और यातायात व्यवस्था की गई है. पुलिस ने यातायात मार्ग परिवर्तन के बारे में रविवार को एक यातायात परामर्श भी जारी किया था. राजपथ पर विजय चौक से इंडिया गेट तक शनिवार को शाम छह बजे से रविवार को परेड समाप्त होने तक वाहनों की आवाजाही पर रोक लगा दी गई है.

शहर के क्षेत्राधिकार में 15 फरवरी तक निषिद्ध हैं ये
परामर्श के अनुसार पैरा ग्लाइडर्स, पैरा मोटर्स, हैंग ग्लाइडर्स, मानव रहित ड्रोन, हल्के विमान, रिमोट संचालित विमान, गर्म हवा के गुब्बारे, छोटे विमान आदि 15 फरवरी तक शहर के क्षेत्राधिकार में निषिद्ध हैं. इसमें लोगों से कहा गया है कि यदि वे कोई अज्ञात वस्तु या संदिग्ध व्यक्ति को देखें तो उसके बारे में तुरंत नजदीकी थाने को सूचित करें.

ये भी पढ़ें - 

BHU: चर्चा में रहे फिरोज खान के पिता रमजान खान को पद्म पुरस्कार देने का ऐलान


News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 26, 2020, 10:31 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर