लाइव टीवी

मुस्लिम आबादी वाली 10 में से एक पर BJP आगे, सीलमपुर से खुला AAP का खाता
Delhi-Ncr News in Hindi

News18Hindi
Updated: February 11, 2020, 12:31 PM IST
मुस्लिम आबादी वाली 10 में से एक पर BJP आगे, सीलमपुर से खुला AAP का खाता
जामा मस्जिद.

ऐसा दावा किया जाता है कि दिल्ली विधानसभा (Delhi Assembly) की 70 में से 10 सीट ऐसी हैं जहां हार-जीत को मुस्लिम वोटर (Muslim Voter) प्रभावित करते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 11, 2020, 12:31 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. ऐसा दावा किया जाता है कि दिल्ली विधानसभा (Delhi Assembly) की 70 में से 10 सीट ऐसी हैं जहां हार-जीत को मुस्लिम वोटर (Muslim Voter) प्रभावित करते हैं. लेकिन सियासी जानकारों की मानें तो सही मायनों में ओखला (Okhla), सीलमपुर (Seelampur), मुस्तफाबाद (Mustafabad), बल्लीमारान (Ballimaran) और मटिया महल (Matia Mahal) 5 ऐसी सीटें हैं जहां हार-जीत को मुस्लिम वोटर ही तय करते हैं. खास बात यह है कि इसमे से बल्लीमारान ऐसी विधानसभा है जहां सबसे ज्यादा 71.61 फीसदी वोट डाले गए हैं. वहीं सीलमपुर, मटियामहल और मुस्तफाबाद में भी डाले गए वोट का फीसद 70 से ऊपर ही रहा है. इन सभी 5 सीट में से चार पर आम आदमी पार्टी (AAP) उम्मीदवार आगे चल रहे हैं. वहीं सीलमपुर जैसी सीट पर आप के अब्दुल रहमान ने खाता खोल दिया है. आप के अब्दुल रहमान ने बीजेपी के कौशल कुमार को पछाड़ते हुए यह जीत हासिल की है. जबकि भारतीय जनता पार्टी (BJP) के कौशल कुमार सुबह करीब 8 से 10 हजार वोटों की बढ़त बनाए हुए थे.

ओखला-

मुस्लिम वोटरों की संख्या- 43 फीसद

2020 में वोट फीसद- 58.84

2015 के दिल्ली विधानसभा चुनाव में आप के अमानतुल्लाह खान ने इस सीट पर बीजेपी प्रत्याशी को 64532 वोटों से हराया था. 2015 में इस सीट पर आप का वोट शेयर 62.57 फीसद रहा था. आप उम्मीदवार को 104271 वोट मिले थे. जबकि बीजेपी उम्मीदवार को 39739 वोट मिले थे. बीजेपी का वोट 60.94 फीसदी रहा था.

बल्लीमारान-

मुस्लिम वोटरों की संख्या- 38 फीसद2020 में वोट फीसद- 71.61

2015 के दिल्ली विधानसभा चुनाव में आप के इमरान हुसैन ने इस सीट पर बीजेपी प्रत्याशी श्यामलाल बोरवाल को 33877 वोटों से हराया था. 2015 में इस सीट पर AAP का वोट शेयर 59.71 फीसद रहा था. इससे पहले बल्लीमारान विधानसभा बनने के साथ ही 1993 से 2013 तक कांग्रेस के हारुन युसुफ का कब्जा रहा है. लेकिन 2015 के चुनाव में हारुन दूसरे नंबर पर भी नहीं आ सके.

2015 का गणित-

आप को मिले 57118 वोट

बीजेपी को मिले 23241 वोट

कुल वोट प्रतिशत 67.95 प्रतिशत

सीलमपुर-

मुस्लिम वोटरों की संख्या- 50 फीसद

2020 में वोट फीसद- 71.22

2015 का गणित

वोट प्रतिशत 71.81

2015 के दिल्ली विधानसभा चुनाव में आप के मोहम्मद इशराक ने इस सीट पर बीजेपी प्रत्याशी को 27887 वोटों से हराया था. 2015 में इस सीट पर आप का वोट शेयर 51.26 फीसद रहा था.

आप को मिले वोट 57302

बीजेपी को मिले वोट 29415

मटिया महल-

मुस्लिम वोटरों की संख्या- 48 फीसद

2020 में वोट फीसद- 70.38

2015 का गणित

2015 के दिल्ली विधानसभा चुनाव में आप के असीम अहमद खान ने इस सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी शोएब इकबाल को 26096 वोटों से हराया था. 2015 में इस सीट पर AAP का वोट शेयर 59.23 फीसद रहा था.

आप को मिले 47584 वोट

कांग्रेस को मिले 21488 वोट

कुल वोट प्रतिशत 69.3

मुस्तफाबाद-

मुस्लिम वोटरों की संख्या- 36 फीसद

2020 में वोट फीसद- 70.55

2015 का गणित

2015 के दिल्ली विधानसभा चुनाव में बीजेपी के जगदीश प्रधान ने इस सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी हसन अहमद को 6031 वोटों से हराया था. 2015 में इस सीट पर बीजेपी का वोट शेयर 35.33 फीसद रहा था.

बीजेपी को मिले 58388 वोट

कांग्रेस को मिले 52357 वोट

कुल वोट प्रतिशत 70.85

ये भी पढ़ें :- 

संकट में पीएम मोदी का ड्रीम प्रोजेक्ट बुलेट ट्रेन! उद्धव ठाकरे ने लगाई रोक, अब तक खर्च हुए इतने हजार करोड़
कर्मचारी नहीं बल्कि इन 10 सरकारी कंपनियों की वजह से BSNL के डूबे 2.65 लाख करोड़!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 11, 2020, 11:35 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर