10 साल बाद हॉस्पिटल को मिली लापरवाही की सजा, चुकाने होंगे 20 लाख
Delhi-Ncr News in Hindi

10 साल बाद हॉस्पिटल को मिली लापरवाही की सजा, चुकाने होंगे 20 लाख
सांकेतिक तस्वीर

आयोग ने माना कि हॉस्पिटल की नजरअंदाजी की वजह से शख्स ने अपनी प्रेगनेंट पत्नी और होनेवाले बच्चे को खो दिया.

  • Share this:
हॉस्पिटल की नजरअंदाजी की वजह से अपनी प्रेगनेंट पत्नी और होनेवाले बच्चे को खोने वाले शख्स को आखिरकार दस साल बाद न्याय मिला. उपभोक्ता विवाद निवारण आयोग ने इस मामले में हॉस्पिटल को आदेश दिया है कि वह पीड़ित शख्स को मुआवजे के तौर पर 20 लाख रुपये दे. मामला राजधानी दिल्ली का है.

उपभोक्ता विवाद निवारण आयोग ने हॉस्पिटल को मरीज की परेशानी को नजरअंदाज करने का दोषी माना. आयोग ने माना कि हॉस्पिटल की नजरअंदाजी की वजह से शख्स ने अपनी प्रेगनेंट पत्नी और होनेवाले बच्चे को खो दिया. लिहाजा उपभोक्ता विवाद निवारण आयोग ने हॉस्पिटल को आदेश जारी किया कि वह पीड़ित शख्स को मुआवजे के तौर पर 20 लाख रुपये दे.

ये है मामला
मामला दिल्ली के वसंत विहार के होली ऐंजल्स नामक एक हॉस्पिटल का है. उन दिनों योगेश वटवानी नामक शख्स अपनी प्रेग्नेंट पत्नी डॉली को डेली चेकअप के लिए हॉस्पिटल लेकर जाता था. एक दिन डॉली उस हॉस्पिटल में जाती है, फिर वहीं भर्ती हो जाती है, जहां डॉक्टर जयश्री उनका इलाज कर रही थीं. एक दिन शाम को इलाज के दौरान पता चला कि डॉली को ब्लीडिंग हो रही है. बावजूद इसके डॉक्टर ने कहा कि डिलिवरी में अभी टाइम है और 4.50 पर हॉस्पिटल छोड़कर चली गईं.
पति ने आयोग में अपनी शिकायत में बताया कि उस दौरान डॉली को सांस लेने में दिक्कत होने लगी, वह मदद के लिए भी चिल्लाई लेकिन नर्स काफी देर में वहां पहुंची. फिर डॉक्टर भी 20 मिनट बाद हॉस्पिटल पहुंचीं. फिर सुन्न करने के लिए दी जाने वाली दवा वहां नहीं थी, जिसके चलते हालात और बिगड़ गए. पीड़ित के वकील ने उपभोक्ता विवाद निवारण आयोग में मुद्दा उठाया कि डॉक्टर ने हॉस्पिटल छोड़ते वक्त स्टाफ में से किसी को नहीं बताया था कि आपातकाल की स्थिति में क्या करना है.



ये  भी पढ़ें-

पत्‍नी की मौत के बाद पति ने भी तोड़ दिया दम, एक ही चिता पर हुआ अंतिम संस्‍कार

तेजस्वी का खुला खत, बिहारवासियों की पहनाई एक-एक माला, एक-एक नारे का है मुझ पर ऋण

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज