Home /News /delhi-ncr /

गाजीपुर बॉर्डर से किसानों के टेंट-तंबू उखड़ने की रफ्तार तेज, जानें कब तक खुलेगा NH-24?

गाजीपुर बॉर्डर से किसानों के टेंट-तंबू उखड़ने की रफ्तार तेज, जानें कब तक खुलेगा NH-24?

National Highway-24: गाजियाबाद ट्रैफिक पुलिस को किसानों के लौटने का इंतजार, तभी एनएच 24 खुलेगा.

National Highway-24: गाजियाबाद ट्रैफिक पुलिस को किसानों के लौटने का इंतजार, तभी एनएच 24 खुलेगा.

Kisan Andolan: केंद्र सरकार द्वारा तीन नए कृषि कानूनों (Farm Laws) की वापसी के ऐलान के बाद पिछले एक साल चल रहा किसान आंदोलन खत्‍म हो गया है. इसके साथ शनिवार सुबह से दिल्‍ली के टिकरी, सिंघु और यूपी-गाजीपुर बॉर्डर से किसानों का अपने-अपने घर लौटने का जो सिलसिला शुरू हुआ वह सोमवार को भी जारी है. हालांकि दिल्‍ली और यूपी को जोड़ने वाले नेशनल हाईवे 24 (National Highway-24) के खुलने में अभी और वक्‍त लगेगा. गाजियाबाद के एसपी ट्रैफिक रामानंद कुशवाहा ने कहा कि किसान आंदोलन पूर्ण तरीके से खत्म होने का इंतजार है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्‍ली. संयुक्त किसान मोर्चा (Samyukt Kisan Morcha) द्वारा किसान आंदोलन (Kisan Andolan) को स्थगित करने की घोषणा के बाद गाजीपुर बॉर्डर के साथ टिकरी और सिंघु बॉर्डर से प्रदर्शनकारियों की अपने घरों के लिए रवानी तेज हो गई है. दरअसल शनिवार की सुबह से दिल्‍ली बॉर्डरों से किसानों का अपने-अपने घर लौटने का जो सिलसिला शुरू हुआ वह सोमवार को भी जारी है. वहीं, यूपी और दिल्‍ली को जोड़ने वाले नेशनल हाईवे 24 (National Highway-24) को लेकर गाजियाबाद के एसपी ट्रैफिक रामानंद कुशवाहा ने कहा कि किसानों के पूरी तरह से हटने का इंतजार है. उसके बाद ही नेशनल हाईवे को पूर्ण रूप से खोला जाएगा, तब तक सभी आमजन से आग्रह है कि धैर्य बनाए रखें हमारी तरफ से पूरी तैयारी है.

    इसके साथ गाजियाबाद के एसपी ट्रैफिक ने कहा कि इससे आमजन को काफी राहत मिलेगी. दिल्ली से गाजियाबाद की दूरी बड़ी आसानी से आमजन तय कर पाएंगे.

    NHAI ने कही ये बात
    भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के सूत्रों के मुताबिक, नेशनल हाईवे को खोलने में अभी 15-20 दिन का समय लगत सकता है, क्‍योंकि इसे खोलने से पहले सड़क की मरम्मत करनी होगी. दरअसल एक फ्लाईओवर पर दरारें देखी गई हैं, जहां किसान आंदोलन कर रहे थे. एनएचएआई के परियोजना निदेशक अरविंद कुमार ने कहा कि किसानों के जाने के बाद हम जगह का निरीक्षण करेंगे. उसके बाद कुछ मरम्मत कार्य भी करने की आवश्यकता है.

    राकेश टिकैत ने कही थी ये बात
    भारतीय किसान यूनियन (BKU) के नेता राकेश टिकैत ने कहा था कि किसान 15 दिसंबर तक गाजीपुर बॉर्डर पर बना आंदोलन स्थल पूरी तरह से खाली हो जाएगा, क्‍योंकि लगातार काफी संख्‍या में किसान अपने-अपने घर लौट रहे हैं. आगे की क्या रणनीति रहेगी? इसके लिए 15 जनवरी को संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक होगी. बता दें कि संयुक्त किसान मोर्चा ने 11 दिसंबर से प्रदर्शन स्थल खाली करने की घोषणा की थी. इससे पहले टिकैत ने कहा था कि वे महापंचायतों का आयोजन बंद नहीं करेंगे. किसानों के मुद्दों पर चर्चा के लिए समय-समय पर महापंचायत का आयोजन होगा. अधिकांश किसान शनिवार को दिल्ली की सीमा को छोड़कर अपने घरों को लौट गए हैं और बाकी आने वाले दिनों चले जाएंगे, लेकिन मैं 15 दिसंबर को जाऊंगा.

    Tags: Farm laws, Kisan Andolan, National Highway 24, NHAI, Rakesh Tikait, Samyukt Kisan Morcha

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर