नक्सलियों पर नकेल कसने को देश चुका रहा है ये कीमत

ग्राफिक-न्यूज18 हिन्दी.

सुरक्षा बलों ने नक्सलियों को घेरकर रखा हुआ है. जिसके चलते नक्सली हमलों में भी कमी आई है.

  • Share this:
सुरक्षा बलों ने नक्सलियों पर नकेल कसना शुरु कर दिया है. ये ही वजह है कि हर साल नक्सलियों की गिरफ्तारी का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है. सुरक्षा बलों ने नक्सलियों को घेरकर रखा हुआ है. जिसके चलते नक्सली हमलों में भी कमी आई है.

आए दिन सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में नक्सली मारे भी जा रहे हैं. अगर बीते कुछ साल की बात करें तो 2015 में 1089 नक्सली हमले हुए थे. लेकिन 2017 में ये आंकड़ा घटकर 908 पर रह गया है. वहीं जून 2018 तक भी सिर्फ 476 नक्सली घटनाएं हुई हैं.

इसी हताशा के चलते अब नक्सलियों ने स्थानीय नागरिकों को निशाना बनाना शुरु कर दिया है. 2015 से जून 2018 तक 662 नागरिक नक्सली हमले में घायल हो चुके हैं.

ग्राफिक-न्यूज18 हिन्दी.


इतना ही नहीं नक्सली सार्वजिनक संपत्ति को भी नुकसान पहुंचा रहे हैं. 2015 से जून 2018 तक नक्सली रेलवे, खान, दूरसंचार, सड़क और स्कूल सहित दूसरे 329 विभागों को पर हमला किया था.

लोकसभा में एक सवाल के जवाब में गृहराज्य मंत्री हंसराज गंगाराम अहीर ने बताया कि पिछले कुछ वर्षों में नक्सलियों के खिलाफ सुरक्षा बलों को मजबूत किया गया है.

सुरक्षा बलों को हेलिकॉप्टर, यूएवी दिए गए हैं. वहीं पुलिस स्टेशनों का किले जैसा निर्माण किया गया है. नक्सलियों के खिलाफ राज्य पुलिस को भी मजबूत किया गया है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.