Home /News /delhi-ncr /

Doctors Strike: दिल्ली में रेजिडेंट्स डॉक्टर्स की हड़ताल से क्‍यों मच रहा है बवाल?

Doctors Strike: दिल्ली में रेजिडेंट्स डॉक्टर्स की हड़ताल से क्‍यों मच रहा है बवाल?

इससे पहले रेजिडेंट डॉक्टर्स ने ओपीडी सेवा ठप कर रखी थी. (फोटो ANI)

इससे पहले रेजिडेंट डॉक्टर्स ने ओपीडी सेवा ठप कर रखी थी. (फोटो ANI)

NEET PG Counselling: नीट-पीजी काउंसलिंग में हो रही देरी के खिलाफ सोमवार से देशभर के रेजिडेंट डॉक्टरों ने इमरजेंसी सेवाएं बंद करने का ऐलान किया है. इस हड़ताल का असर देश की राजधानी दिल्‍ली पर भी पड़ रहा है. दरअसल दिल्‍ली के आरएमएल, सफदरजंग और लेडी हार्डिंग अस्पतालों के रेजिडेंट डॉक्टर भी आज इमरजेंसी सेवाओं से दूर रहेंगे. इससे पहले दिल्‍ली के रेजिडेंट डॉक्टर्स ने सात अस्‍पतालों में ओपीडी सेवाएं ठप रखी थीं. वैसे इसमें दिल्ली के साथ-साथ कर्नाटक, महाराष्ट्र, राजस्थान, मध्य प्रदेश, गुजरात समेत अन्य कई राज्यों ने डॉक्टर शामिल हैं.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्‍ली. नीट-पीजी 2021 काउंसलिंग (NEET PG Counselling) में देरी के कारण दिल्‍ली के साथ देशभर के रेजिडेंट डॉक्टर्स कई दिन से हड़ताल (Doctors Strike) कर रहे हैं. रेजिडेंट डॉक्टर्स ने पहले 27 नवंबर से ओपीडी सेवा ठप की थीं, तो सोमवार यानी आज से इमरजेंसी सेवाएं बंद करने के ऐलान से हड़कंप मच गया है. वहीं, रेजिडेंट डॉक्टरों के संगठन फेडरेशन ऑफ रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन (एफओआरडीए) द्वारा बुलाई गई इस हड़ताल को राष्ट्रीय और राज्य आरडीए का भरपूर समर्थन मिल रहा है. बता दें कि इस हड़ताल में दिल्ली के साथ-साथ कर्नाटक, महाराष्ट्र, राजस्थान, मध्य प्रदेश, गुजरात समेत कई राज्यों के डॉक्टर शामिल हैं.

    इमरजेंसी सेवाएं बंद करने का रेजिडेंट डॉक्टर का ऐलान दिल्‍ली में ज्‍यादा असर डाल सकता है, क्‍योंकि इसमें केंद्र सरकार से संचालित आरएमएल अस्‍पताल, सफदरजंग अस्‍पताल और लेडी हार्डिंग अस्पताल शामिल हैं. इन सभी अस्‍पतालों में दिल्‍ली के अलावा अन्‍य राज्‍यों के मरीज भी आते हैं. इससे पहले ओपीडी सेवा ठप करने का ऐलान सिर्फ तीन अस्‍पतालों ने किया था, लेकिन इसका असर दिल्‍ली के सात अस्‍पतालों में देखने को मिला था, क्‍योंकि अन्‍य जगह के रेजिडेंट डॉक्टर भी उनके समर्थन में आ गए थे. इसमें बाबा अंबेडकर, डीडीयू हॉस्पिटल, मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज और राम मनोहर लोहिया अस्‍पताल शामिल थे. अगर फिर से ये अस्‍पताल रेजिडेंट डॉक्टर के समर्थन में आ गए तो दिल्‍ली के हालात बदतर हो सकते हैं.

    जानें क्‍या है मामला?

    नीट पीजी काउंसलिंग में देरी की वजह से देशभर के 10 हजार से ज्यादा रेजिडेंट डॉक्टर हड़ताल पर हैं. इससे पहले फेडरेशन ऑफ रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन (FORDA) की ओर से कहा गया था कि हम मामले में सुप्रीम कोर्ट की ओर से मिले सकारात्मक परिणामों के लिए इंतजार कर रहे हैं. सुप्रीम कोर्ट नीट परीक्षा में ओबीसी के लिए 27 फीसद और ईडब्ल्यूएस श्रेणी के लिए 10 फीसद आरक्षण प्रदान करने वाले केंद्र और मेडिकल काउंसिलिंग समिति (एमसीसी) की अधिसूचनाओं के खिलाफ याचिकाओं पर सुनवाई कर रहा है. हालांकि केंद्र ने 25 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट को बताया है कि उसने ईडब्ल्यूएस श्रेणी के लिए 8 लाख रुपए की वार्षिक आय सीमा पर फिर से विचार करने का फैसला किया है. इस वजह से केंद्र ने चार हफ्तों के लिए नीट काउंसलिंग टाल दी है. इसके साथ एफओआरडीए ने कहा था कि उनको शारीरिक और मानसिक कष्टों से कोई राहत मिलती नहीं दिख रही है और कोर्ट की अगली सुनवाई 6 जनवरी 2022 को होगी. इसी वजह से यह हड़ताल चल रही है.

    एफओआरडीए ने स्वास्थ्य मंत्री को लिखा पत्र

    एफओआरडीए ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया को लिखे एक पत्र में कहा है कि देश भर के स्वास्थ्य संस्थानों में रेजिडेंट डॉक्टरों की कमी है और वर्तमान शैक्षणिक वर्ष में अभी तक कोई प्रवेश नहीं है. इसमें कहा गया है. भविष्य में कोविड-19 महामारी की लहर बड़ी होने की आशंका के बीच इसका असर स्वास्थ्य क्षेत्र पर विनाशकारी होगा जिससे देश की बड़ी आबादी प्रभावित होगी. ऐसा लगता है कि (नीट-पीजी) काउंसलिंग में तेजी लाने के लिए अभी तक कोई पहल या उपाय नहीं किया गया है, इसलिए दिल्ली के विभिन्न आरडीए प्रतिनिधियों के साथ विचार-विमर्श के बाद हमने अपने आंदोलन को आगे बढ़ाने और सोमवार से स्वास्थ्य संस्थान में सभी सेवाओं (नियमित और आपातकालीन) से हटने का फैसला किया है.

    दिल्ली पुलिस ने राजधानी में लोगों को यौन गतिविधियों में फंसाकर उनसे जबरन वसूली करने वाले गिरोह का भंडाफोड़ कर उसके सरगना को गिरफ्तार किया गया है, जिस पर पिछले एक साल में एक दर्जन से अधिक लोगों से लगभग 1.2 करोड़ रुपये की जबरन वसूली का आरोप है. पुलिस ने बताया कि आरोपी और उसके साथी फेसबुक पर महिलाओं की फर्जी प्रोफाइल बनाकर 'अमीर लगने वाले' पुरुषों से संपर्क करते थे और फिर उन्हें हनी ट्रैप में फंसा लेते थे. अतिरिक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) धीरज कुमार ने कहा कि तकनीकी निगरानी के आधार पर गिरोह का पता लगाया गया और इसके सरगना की पहचान बहादुरगढ़, हरियाणा के नीरज के रूप में हुई.
    दिल्ली में रविवार को कोविड-19 के 63 नए मामले आए और किसी भी संक्रमित के मौत का मामला सामने नहीं आया है. हालांकि संक्रमण दर में मामूली वृद्धि हुई है और यह 0.8 फीसदी से बढ़ कर 0.11 प्रतिशत हो गई है. स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि नए मामलों के साथ ही दिल्ली में अब तक संक्रमित हुए लोगों की कुल संख्या बढ़कर 14,41,358 हो गई है जिनमें से 25,098 मरीजों की जान जा चुकी है.
    गौतमबुद्ध नगर जिले की नोएडा सेक्टर-24 थाना पुलिस ने जुआ खेलने के आरोप में 10 लोगों को गिरफ्तार किया है. इसमें से तीन जुआ अड्डे के कथित संचालक हैं जबकि सात खेलने वाले हैं. अपर पुलिस उपायुक्त (जोन प्रथम) रणविजय सिंह ने रविवार को बताया कि बीती रात को नोएडा सेक्टर-24 थाना पुलिस ने एक सूचना के आधार पर मोरना गांव के पास से रवि मिश्रा, धर्मेंद्र कुमार, रवि कुमार, ललन पाल, सुरेश कुमार, गुरुदयाल, विकास कुमार, सोनू कुमार, गौरी चौधरी, संजय कश्यप को गिरफ्तार किया. इसके पास से 15,700 रुपये नकद , ताश की गड्डी आदि बरामद की है.
    बिल्डरों की एक संस्था ने उच्चतम न्यायालय से उसके उस आदेश को रद्द करने की मांग की है, जिसके तहत उसने दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में निर्माण गतिविधियों पर फिर से प्रतिबंध लगा दिया है. न्यायालय में दायर याचिका में 60 से अधिक बिल्डरों के एक निकाय, ‘डेवलपर्स एंड बिल्डर्स फोरम’ ने कहा है कि वे नवीनतम निर्माण प्रौद्योगिकी का उपयोग करते हैं ताकि धूल से होने वाले प्रदूषण को कम किया जा सके और निर्धारित मानदंडों का भी पालन किया जाता है.
    दिल्ली सरकार शहर के आठ शैक्षणिक संस्थानों में ऑटोमेटिक ड्राइविंग टेस्ट ट्रैक का निर्माण करेगी ताकि स्थायी लाइसेंस आवेदकों की प्रतीक्षा अवधि को कम कया जा सके.अधिकारियों ने कहा कि परिवहन विभाग ने कश्मीरी गेट स्थित इंदिरा गांधी दिल्ली महिला तकनीकी विश्वविद्यालय, बवाना में दिल्ली प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय तथा पूसा, जफरपुर कलां, मयूर विहार, शाहदरा, जेल रोड और नरेला में पांच औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों (आईटीआई) में स्वचालित ट्रैक के निर्माण के लिए निविदाएं आमंत्रित की हैं.उन्होंने कहा कि ट्रैक पर करीब 10 करोड़ रुपये की लागत आएगी और बोली लगाये जाने के बाद दो महीने में इसके बनने की उम्मीद है.
    दिल्ली उच्च न्यायालय ने दिल्ली दंगों से जुड़े एक मामले में अप्रैल, 2020 से हिरासत में रखे गये 20 वर्षीय एक छात्र को यह कहते हुए जमानत पर रिहा करने का आदेश दिया कि रिहाई के बाद सबूतों से छेड़छाड़ की आशंका दूर-दूर तक नजर नहीं आ रही है. शिकायत के अनुसार, गोकलपुरी का रहने वाला याचिकाकर्ता आरोपी उन तीन लोगों में शामिल था, जो 25 फरवरी, 2020 को कथित तौर पर एक घर में आग लगाने और सामान लूटने वाली भीड़ का हिस्सा थे.
    गौतमबुद्ध नगर जिला (नोएडा) पुलिस आयुक्तालय के अंतर्गत कार्य कर रही अपराध शाखा टीम द्वारा रिश्वत लेकर एटीएम हैकरों को छोड़ने के मामले में रविवार को एक हेडकांस्टेबल को बर्खास्त किया गया. इस मामले में पहले ही एक निरीक्षक सहित दो पुलिस कर्मियों को बर्खास्त किया गया था. पुलिस आयुक्त आलोक सिंह ने रविवार को बताया कि सोशल मीडिया पर जारी वीडियो तथा गाजियाबाद पुलिस की रिपोर्ट के आधार पर यह बात संज्ञान में आई कि गौतमबुद्ध नगर जिला पुलिस की अपराध शाखा में कार्यरत लोगों ने एटीएम हैकरों को रिश्वत लेकर छोड़ा. पुलिस उपायुक्त (अपराध) की जांच में आरोप सही साबित हुए. नोएडा पुलिस की अपराधा शाखा की टीम ने पहले भी उन्हें पकड़ा था लेकिन 25 लाख रुपये रिश्वत और एक क्रेटा कार लेकर छोड़ दिया था.
    दिल्ली पुलिस की विशेष प्रकोष्ठ ने कपिल सांगवान गिरोह के 27 वर्षीय सदस्य दीपक धनखड़ को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने बताया कि सांगवान ऊर्फ नंदू गिरोह का कथित ''शार्प शूटर'' धनखड़ एक हत्याकांड में आरोपी है और इससे पहले भी वह हत्या का प्रयास, आपराधिक धमकी, लूट और फिरौती वसूली समेत छह मामलों में शामिल रहा है. उन्होंने बताया कि धनखड़ प्रतिद्वंद्वी गिरोह के सरगना मंजीत महाल के पिता की हत्या के मामले में अंतरिम जमानत पर था लेकिन उसने मई 2021 में जमानत अवधि समाप्त होने के बाद भी आत्मसमर्पण नहीं किया और तब से ही फरार था.
    दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ क्षेत्रीय रैपिड ट्रांजिट सिस्टम (आरआरटीएस) को लागू करने के लिए राजधानी में 260 से अधिक पेड़ काटे जाएंगे और 280 पौधे लगाये जायेंगे.पर्यावरण विभाग ने इसके लिए 1.69 हेक्टेयर क्षेत्र को छूट दी है. आरआरटीएस कॉरिडोर के लिए कुल 543 पेड़ रास्ता बनाएंगे. उपयोगकर्ता एजेंसी, राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र परिवहन निगम (एनसीआरटीसी) को यमुना के पश्चिमी तट पर दिल्ली-नोएडा डायरेक्ट फ्लाईवे से सटी भूमि पर 280 पेड़ लगाने के लिए कहा गया है. नीम, अमलतास, पीपल, पिलखन, गूलर, बरगद और देसी कीकर के 5,430 पौधे लगाने के लिए सुरक्षा राशि के रूप में 3.09 करोड़ रुपये जमा करने का निर्देश दिया गया है.

    Tags: Delhi news, Delhi news today, Health Minister Mansukh Mandaviya, Junior Doctor Strike, Mansukh Mandaviya, NEET, RML Hospital, Safdarjung Hospital

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर