लाइव टीवी

भजनपुरा हत्याकांड: सुसाइड नहीं परिवार के पांच लोगों की धारदार हथियार से की गई थी हत्या
Delhi-Ncr News in Hindi

Sankar Anand | News18Hindi
Updated: February 13, 2020, 9:37 AM IST
भजनपुरा हत्याकांड: सुसाइड नहीं परिवार के पांच लोगों की धारदार हथियार से की गई थी हत्या
भजनपुरा में 5 लोगों के शव बरामद किए गए हैं. पुलिस ने मौके पर पहुंच कर छानबीन शुरू कर दी है.

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने हत्या (Murder) का केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. घर में लूटपाट के सबूत नहीं मिले हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 13, 2020, 9:37 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली.देश की राजधानी दिल्ली के भजनपुरा (Bhajanpura) इलाके में एक ही परिवार के पांच लोगों के शव मिलने से सनसनी फैल गई थी. पहली नज़र में पांच लोगों की मौत आत्महत्या (Suicide) के रूप में देखी जा रही थी. शव कई दिन पुराने थे. लेकिन, अब दिल्ली पुलिस की जांच और पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में सामने आया है कि एक ही परिवार के पांच लोगों ने आत्महत्या नहीं की है, बल्कि किसी धारदार हथियार से उनकी हत्या की गई है. सभी के गर्दन और शरीर के दूसरे हिस्सों में ज़ख्म के निशान हैं. दिल्ली पुलिस ने हत्या का केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. हालांकि, घर में लूटपाट के निशान नहीं मिले हैं. हत्याकांड के मकसद का पता लगाने की कोशिश की जा रही है. साथ ही आरोपी की तलाश भी तेज कर दी गई है.

मकान में कुछ दिनों पहले ही रहने आया था परिवार
बताया जा रहा है कि कुछ समय पहले ही यह परिवार इस मकान में किराए पर रहने के लिए आया था. पति-पत्नी के अलावा उनके तीन बच्‍चे भी साथ में रह रहे थे. शंभूनाथ (43) अपनी पत्नी सुनीता (38) और बेटी कोमल (16) के अलावा बेटा सचिन (14) और छोटे बेटे शिवम के साथ रह रहे थे. मकान में बाहर से ताला लगा हुआ था. मकान से बदबू आने पर पड़ोसियों को शक हुआ और इस मामले की सूचना पुलिस को दी गई. मौके पर पहुंची पुलिस ने ताला तोड़कर घर के अंदर दाखिल हुई तब जाकर इस चौंकाने वाली घटना का पता चला.

कई दिन पुराने हैं सभी पांच लोगों के शव

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक, ये शव कुछ दिन पुराने हैं और उन्‍हें क्षत-विक्षत हालत में बरामद किया गया है. बरामद शवों की पहचान शंभु कुमार, सुनीता देवी, शिवम, सचिन और कोमल के तौर पर की गई है. भजनपुरा इलाके में सड़ी-गली हालत में जो लाशें मिली हैं, उसके बारे में पुलिस ने बताया कि ये पति-पत्नी और तीन बच्चों के शव हैं. पुलिस को शुरुआती तौर पर मामला आत्महत्या का लग रहा था. पुलिस का कहना है कि बच्चों की उम्र 18, 16 और 12 साल के आसपास है. शुरुआती जानकारी के मुताबिक पति बैटरी रिक्शा चलाता था.

मृतकों की रिश्तेदार सोनी जायसवाल ने News18 को बताया था कि परिवार पहले B ब्लॉक में रहता था और जूस की दुकान थी. करीब आठ महीने पहले ही शम्भू जायसवाल ने ई-रिक्शा खरीदा था. एक बेटा शिवम 18 साल का था और 12वीं क्लास में पढता था. दूसरे बेटे का नाम सचिन (15) था. परिवार बिहार का रहने वाला है. उधर, ज्‍वाइंट सीपी का कहना है की पति-पत्नी की लाश अलग कमरे में थी और तीनों बच्चो की लाश अलग कमरे में. शवों की हालत देखकर लग रहा है कि मृत्यु को थोड़ा समय हो गया है. घर के बाहर ताला लगा था, लेकिन फिलहाल सभी पहलुओं की जांच की जा रही है. घर के अन्दर से लूटपाट के भी सुराग नहीं मिले हैं.

ये भी पढ़ें- Delhi Election Results 2020: दिल्ली की वो 6 सीटें, जहां मुस्लिमों ने AAP को दिलाई बड़ी जीतशाहीन बाग: सरकार ने लोकसभा में दिया नुकसान की भरपाई और कार्रवाई से जुड़ा यह जवाब

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 13, 2020, 9:08 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर