Home /News /delhi-ncr /

टैटू गर्ल नीलू सोलंकी की हत्या कर लाश डाल दी थी सूटकेस में, 8 साल बाद पुलिस को मिला सुराग मगर...

टैटू गर्ल नीलू सोलंकी की हत्या कर लाश डाल दी थी सूटकेस में, 8 साल बाद पुलिस को मिला सुराग मगर...

सांकेतिक फोटो

सांकेतिक फोटो

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच बुधवार को गुरुग्राम के पारस अस्पताल में राजू गहलोत को गिरफ्तार करने गई थी, लेकिन वहां पर उसकी डेडबॉडी मिली.

    आठ साल पहले टैटू गर्ल नीतू सोलंकी के सनसनीखेज मर्डर केस के मुख्य आरोपी और नीतू के बॉयफ्रेंड राजू गहलोत की अब मौत हो गई है. राजू गहलोत की मौत बुधवार को गुरुग्राम के पारस अस्पताल में हुई. राजू यहां पर अपनी पहचान छुपाकर इलाज करा रहा था. दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच बुधवार को गुरुग्राम के पारस अस्पताल में राजू को गिरफ्तार करने गई थी, लेकिन वहां पर उसकी डेड बॉडी मिली. दिल्ली से सटे गुरुग्राम के पारस अस्पताल में राजू की मौजूदगी की सूचना मिलने के बाद दिल्ली पुलिस वहां पहुंची थी. राजू की मौत के कारणों का अभी तक पता नहीं चल पाया है.

    बता दें कि दिल्ली में 8 साल पहले नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर सूटकेस में एक लड़की की लाश मिली थी. इस मामले में का मुख्य आरोपी नीतू सोलंकी के प्रेमी राजू गहलोत को बनाया गया था. गहलोत पर दिल्ली पुलिस ने 2 लाख का ईनाम रख रखा था. दिल्ली पुलिस ने दशभर के हवाई अड्डों पर राजू गहलोत के खिलाफ लुक आउट सर्कुलर भी जारी किया हुआ था.

    नाम बदलकर रह रहा था

    नीतू सोलंकी का बॉयफ्रैंड का राजू गहलोत फ्रेंच लैंग्वेज में डिप्लोमा कर रखा था. राजू एयर इंडिया का पूर्व कर्मचारी भी था. पिछले कई सालों से गुरुग्राम में एक नए नाम और नई पहचान के साथ रह रहा था. राजू एक नए नाम रोहन दहिया के नाम से गुरुग्राम के उद्योग विहार की एक कंपनी में जॉब कर रहा था. उस पर फिलहाल 2 लाख का ईनाम रखा गया था. दिल्ली पुलिस से यह मामला साल 2011 में क्राइम ब्रांच को ट्रांसफर किया था.

    राजू की तलाश के लिए दिल्ली पुलिस ने राजू के घरवालों का फोन सर्विलांस पर लगा रखा था. इसी दौरान पुलिस को पता चला कि राजू से उसके घरवालों ने बात की है. उस नंबर के जरिए और कुछ इनपुट के बाद पुलिस गुरुग्राम अस्पताल पहुंची. पहले पुलिस को शक हुआ कि कहीं पुलिस रेड की भनक राजू को लग तो नहीं गई है इसलिए पुलिस ने अस्पताल में काफी इंतजार किया. लेकिन, बाद में दिल्ली पुलिस को डॉक्टरों ने बताया कि उसकी मौत हो चुकी है.

    दिल्ली पुलिस ने केस सुलझाने का दावा किया था

    प्रतीकात्मक तस्वीर


    कुछ ही दिन पहले दिल्ली पुलिस ने दावा किया था कि वह नीतू सोलंकी मर्डर को सुलझाने वाली है. दिल्ली पुलिस को पश्चिमी दिल्ली में रहने वाली एक लड़की से राजू गहलोत का सुराग मिला है. कुछ दिन पहले ही पुलिस को जानकारी मिली थी कि नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर नीतू के शव का बैग रखवाने के लिए वह लड़की भी राजू के साथ आई थी.

    क्राइम ब्रांच ने दावा किया था कि उस लड़की पर पुलिस पिछले कई महीने से नजर रख रही थी. राजू गहलोत नीतू सोलंकी के मर्डर से पहले ही इस लड़की के सम्पर्क में था. उसने मर्डर की रात भी इस लड़की से बातचीत की थी. पुलिस को शक है कि यह लड़की नीतू की लाश फेंकने के दौरान राजू के साथ थी. पुलिस को रेलवे स्टेशन पर चश्मदीदों ने बताया था कि लाश का बैग रखने के दौरान एक लड़के के साथ कोई लड़की भी आई थी.

    आठ साल से फरार चल रहा था राजू

    दिल्ली पुलिस के मुताबिक, नीतू की शिनाख्त की खबर आते ही राजू फरार हो गया. दिल्ली पुलिस ने जानबूझकर उसके बैंक खातों को सीज नहीं किया. पुलिस का इरादा था कि राजू बैंक से रकम निकाले, जिससे उसके ठिकाने की जानकारी मिल सके. राजू गहलोत फ्रेंच लैंग्वेज में डिप्लोमा कर चुका एयर इंडिया का पूर्व कर्मचारी है. बैक खातों से तो दिल्ली पुलिस की कामयाबी नहीं मिल सकी, लेकिन राजू की दूसरी गर्लफ्रेंड से पुलिस को एक क्लू मिल गया.

    प्रतीकात्मक तस्वीर


    नीतू एमसीडी कांउसलर का चुनाव भी लड़ी थी. आश्रम इलाके में नीतू और राजू साथ रहते थे. नीतू और राजू एक ही गोत्र और एक ही गांव का था इसलिए दोनों की शादी घरवाले नहीं कर सकते थे. दोनों ने एक साथ घर छोड़कर आश्रम के हरि नगर में रह रहे थे. नीतू ने घरवालों को बताया था की वो विदेश जा रही है, पर रह दोनों दिल्ली में ही रहे रहे थे.

    साल 2011 में जब नीतू की लाश मिली थी तो उसका चेहरे पर चोट थी. उसकी शिनाख्त ठीक से कई दिनों तक पुलिस नही कर पाई थी. टैटू के जरिये इसकी पहचान हो पाई थी. यूपी, एमपी महाराष्ट्र, कर्नाटक, राजस्थान दिल्ली एनसीआर यूपी में पुलिस राजू की तलाश कर रही थी. नीतू की कत्ल के बाद राजू मोबाईल फोन का बहुत कम इस्तेमाल करता था और परिवार से भी एकदम दूरी बना रखी थी.

    ये भी पढ़ें:

    देश में कैसे मिल सकती है सस्ती दवाएं, क्या है जानकारों की राय

    ब्राडेंड दवाइयों का विकल्प जेनरिक दवाइयां क्यों नहीं बन पा रही है?

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp

    Tags: Cyber Crime, Delhi airport, Delhi MCD election, Delhi police, Gangrape and murder, Love Sex aur Dhokha, Love Story, Murder, New Delhi, New Delhi S30p04, Same community love affair

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर