होम /न्यूज /दिल्ली-एनसीआर /

देश में बनेंगे 21 ग्रीनफील्‍ड एयरपोर्ट, यहां देखें लिस्‍ट

देश में बनेंगे 21 ग्रीनफील्‍ड एयरपोर्ट, यहां देखें लिस्‍ट

 सभी एयरपोर्ट निर्माण के लिए सैद्धांतिक मंजूरी दी गई.

सभी एयरपोर्ट निर्माण के लिए सैद्धांतिक मंजूरी दी गई.

Ministry of Civil Aviation News: नागरिक उड्डयन मंत्रालय के अनुसार देश में 21 ग्रीनफील्‍ड एयरपोर्ट (Greenfield airports) का निर्माण किया जा रहा है. इनमें से 8 एयरपोर्ट शुरू हो चुके हैं, इन एयरपोर्ट के लिए सैद्धांतिक स्‍वीकृति प्रदान की जा चुकी है. इन एयरपोर्ट के निर्माण के बाद हवाई सफर करने वालों के लिए सुविधा होगी.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्‍ली. देश में 21 ग्रीनफील्‍ड एयरपोर्ट (Greenfield airports) का निर्माण किया जा रहा है. इनमें से 8 एयरपोर्ट शुरू हो चुके हैं, बचे हुए अन्‍य एयरपोर्ट airports पर काम चल रहा है. इन एयरपोर्ट के लिए सैद्धांतिक स्‍वीकृति प्रदान की जा चुकी है. इन एयरपोर्ट के निर्माण के बाद हवाई सफर करने वालों के लिए सुविधा होगी. लोगों को उनके शहर से या आसपास के शहर से हवाई सफर की सुविधा मिलेगी. इन सभी एयरपोर्ट बनने के बाद देश में कुल एयरपोर्ट की संख्‍या 170 के करीब पहुंच जाएगी.

नागरिक उड्डयन मंत्रालय (Ministry of Civil Aviation) के अनुसार मौजूदा समय देश में 153 एयरपोर्ट हैं. इनमें से 114 एयरपोर्ट डोमेस्टिक हैं और बचे हुए इंटरनेशनल और डोमेस्टिक हैं. नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने छोटे शहरों के लिए सस्‍ती हवाई यात्रा शुरू करने के लिए 766 रूट किए चिन्हित है. इनमें से 246 रूटों पर उड़ान शुरू हो चुकी है. इस योजना का विस्‍तार के लिए एयरपोर्ट की आश्‍वयकता पड़ रही है. इसी को ध्‍यान में रखते हुए नए एयरपोर्ट का निर्माण किया जा रह है. नागरिक उड्डयन मंत्रालय के अनुसार केन्‍द्र सरकार ने देशभर में 21 ग्रीनफील्ड हवाईअड्डों की स्थापना के लिए ‘सैद्धांतिक स्वीकृति प्रदान की है,

यहां बनेंगे ग्रीनफील्‍ड एयरपोर्ट

गोवा में मोपा, महाराष्ट्र में नवी मुंबई, शिरडी और सिंधु दुर्ग, कर्नाटक में कलबुर्गी, बीजापुर, हसन और शिमोगा, मध्य प्रदेश में दतिया (ग्‍वालियर), उत्तर प्रदेश में कुशीनगर और नोएडा (जेवर), गुजरात में धोलेरा और हीरासर, पुड्डुचेरी से कराईकल, आंध्र प्रदेश में दगदर्शी, भोगपुरम और ओरावकल (कुनूर), पश्चिम बंगाल में दुर्गापुर, सिक्किम में पायोग, केरल में कन्नूर, और अरुणाचल प्रदेश में होलंगी (ईटानगर) शामिल हैं. अब तक आठ ग्रीनफील्ड हवाई अड्डे दुर्गापुर, शिरडी, सिंधुदुर्ग, पायोग, कन्नूर, कलबुर्गी, ओरावकल और कुशीनगर शुरू हो चुके हैं.

एयरपोर्ट निर्माण पर एक नजर

हवाईअड्डा परियोजनाओं के क्रियान्वयन का उत्तरदायित्व, एयरपोर्ट अथारिटी ऑफ इंडिया और संबंधित राज्य सरकार और संबंधित हवाईअड्डा डेवलप करने वाली कंपनी की है. एएआई ने क्रमशः 646 करोड़ रुपए और 1405 करोड़ रुपये की अनुमानित परियोजना लागत पर होलंगी (अरुणाचल प्रदेश) और हीरासर (गुजरात) हवाईअड्डों के विकास का कार्य अपने हाथ में लिया है. सार्वजनिक निवेश बोर्ड ने 1305 करोड़ रुपये की लागत पर धोलेरा (गुजरात) हवाईअड्डे के विकास (चरण-1) सिफारिश की है. शेष दस ग्रीनफील्ड हवाईअड्डों के संबंध में अनुमानित परियोजना लागत इस प्रकार है: मोपा (3000 करोड़ रुपये), नवी मुंबई (16,250 करोड़ रुपये), बीजापुर (150 करोड़ रुपये), हसन (592 करोड़ रुपये), शिमोगा (220 करोड़ रुपए), डबरा (200 करोड़ रुपये), जेवर (8,914 करोड़ रुपये-चरण 1) कराईकल (50 करोड़ रुपये), दगदर्थी (293 करोड़ रुपये) और भोगपुरम (2,500 करोड़ रुपये) संभावित है.

Tags: Airports, Civil aviation, Ministry of civil aviation

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर