Home /News /delhi-ncr /

Delhi-NCR के बोड़ाकी स्टेशन का नाम बदलने की हो रही तैयारी, जानिए क्या होगा नया नाम

Delhi-NCR के बोड़ाकी स्टेशन का नाम बदलने की हो रही तैयारी, जानिए क्या होगा नया नाम

स्काई वॉक ट्रैवलर की मदद से सामान के साथ आराम से सफर हो सकेगा.

स्काई वॉक ट्रैवलर की मदद से सामान के साथ आराम से सफर हो सकेगा.

Bodaki Railway Station Name Change: ग्रेटर नोएडा का बोड़ाकी रेलवे स्टेशन (Bodaki Railway Station) दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) का नंबर वन स्टेशन बनने जा रहा है. बोड़ाकी से पूर्वी यूपी के साथ-साथ बिहार और पश्चिम बंगाल के लिए भी ट्रेन मिलेगी. यहां से मेट्रो ट्रेन की सुविधा भी मिलेगी. इसके साथ ही एनसीआर के दूसरे स्टेशन के मुकाबले बोड़ाकी से ट्रेन (Train) पकड़ना ज्यादा आरामदायक हो जाएगा. हाथ में भारी-भरकम लगेज लेकर ट्रेन के पीछे नहीं भागना होगा. रेलवे स्टेशन से मेट्रो स्टेशन (Metro Station) जाना हो या मेट्रो स्टेशन से बस अड्डा (Bus Station), स्काई वॉक ट्रैवलर (Sky Walk Traveler) की मदद से सामान के साथ कुछ ही मिनट में पहुंच जाएंगे.

अधिक पढ़ें ...

    नोएडा. दिल्ली-NCR के ग्रेटर नोएडा में बने बोड़ाकी रेलवे स्टेशन (Bodaki Railway Station) का नाम बदलने की तैयारी चल रही है. जल्द ही बोड़ाकी का नाम बदलकर ग्रेटर नोएडा (Greater Noida) किया जा सकता है. ऐसी चर्चा है कि अथॉरिटी की ओर से नाम बदलने का एक प्रस्ताव भारतीय रेल मंत्रालय (Indian Railway) को भेजा गया है. यूपी और केन्द्र सरकार मिलकर बोड़ाकी रेलवे स्टेशन को इंटरनेशनल लेवल की सुविधाओं वाला बनाने जा रहे हैं.

    साथ ही मल्टी मॉडल ट्रांसपोर्ट और लॉजिस्टिक हब बनाने की योजना पर भी काम चल रहा है. 7 गांवों की जमीन का अधिग्रहण कर योजनाओं पर अमल किया जा रहा है. जेवर एयरपोर्ट (Jewar Airport) बनने के साथ ही बोड़ाकी स्टेशन का विकास सोने पर सुहागा होगा.

    500 मीटर के एरिया में चलेगा स्काई वॉक ट्रैवलर

    ग्रेटर नोएडा के बोड़ाकी में एक पुराना रेलवे स्टेशन हैं. लेकिन अब यहां मल्टीमॉडल ट्रांसपोर्ट और लॉजिस्टिक हब तैयार करने की योजना पर काम हो रहा है. इसके लिए 7 गांवों की 478 हेक्टेयर जमीन अधिग्रिहित की जा रही है. जानकारों की मानें तो 80 फीसद जमीन का अधिग्रहण हो चुका है. योजना के तहत यहां रेलवे स्टेशन, मेट्रो ट्रेन और बस अड्डा भी तैयार किया जा रहा है. तीनों ही जगह आने-जाने में यात्रियों को किसी भी तरह की कोई परेशानी न हो. भारी-भरकम सामान लेकर ट्रेन और बस के लिए दौड़ न लगानी पड़े, इसके लिए स्काई वॉक ट्रैवलर बनाने की योजना पर भी काम शुरू हो गया है.

    वायु प्रदूषण के चलते दिल्ली में क्या है बैन और कहां मिल रही राहत, जानिए सब कुछ

    जानकारों की मानें तो स्काई वॉक ट्रैवलर रेलवे स्टेशन, मेट्रो ट्रेन और बस अड्डे को जोड़ते हुए 500 मीटर के एरिया में तैयार किया जाएगा. इसमे करना यह होगा कि यात्री अपना सामान लेकर ट्रैवलर पर खड़े हो जाएंगे और ऑटोमेटिक तरीके से वो चलने लगेगा.

    लॉजिस्टिक और मल्टी मॉडल ट्रांसपोर्ट हब

    ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी से जुड़े अफसरों की मानें तो अब तक केन्द्र सरकार की ओर से लॉजिस्टिक और मल्टी मॉडल ट्रांसपोर्ट हब के लिए के लिए 850 करोड़ रुपये मिल चुके हैं. 500 करोड़ रुपये की दूसरी किस्त अभी हाल ही में मिली है. यह दोनों हब बोड़ाकी रेलवे स्टेशन के पास बनेंगे. यह स्टेशन ग्रेटर नोएडा में है. सामान की लोडिंग-अनलोडिंग के लिए यार्ड बनेंगे. बोड़ाकी में 16 रेल लाइन बिछाई जाएंगी.

    Tags: Delhi-NCR News, Greater noida news, Jewar airport

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर