Home /News /delhi-ncr /

NGT की टिप्‍पणी- ऑड-ईवन पर दायर याचिका सुनवाई योग्‍य नहीं, याचिकाकर्ता ने अर्जी वापस ली

NGT की टिप्‍पणी- ऑड-ईवन पर दायर याचिका सुनवाई योग्‍य नहीं, याचिकाकर्ता ने अर्जी वापस ली

राष्ट्रीय हरित अधिकरण (NGT) ने केंद्र सरकार को अक्षरधाम मंदिर प्रबंधन की एक याचिका पर स्थिति रिपोर्ट दाखिल करने को कहा है.

राष्ट्रीय हरित अधिकरण (NGT) ने केंद्र सरकार को अक्षरधाम मंदिर प्रबंधन की एक याचिका पर स्थिति रिपोर्ट दाखिल करने को कहा है.

बुधवार को हुई सुनवाई में ट्रिब्‍यूनल ने दिल्ली सरकार की ऑड-ईवन स्‍कीम को चुनौती देने वाली याचिका को सुनवाई योग्‍य नहीं माना. इसके बाद याची ने अपनी अर्जी वापस ले ली.

  • News18India
  • Last Updated :
    नई दिल्ली. अरविंद केजरीवाल सरकार (Arvind Kejriwal Government) को राष्‍ट्रीय हरित ट्रिब्‍यूनल (NGT) से बड़ी राहत मिली है. ट्रिब्‍यूनल ने सरकार की ऑड-ईवन स्‍कीम (Odd-Even Scheme) को चुनौती देने वाली याचिका को सुनवाई योग्‍य नहीं माना है. इसके बाद याचिकाकर्ता ने अपनी अर्जी वापस ले ली है. बता दें कि पिछले हफ्ते केजरीवाल सरकार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर आगामी नवंबर महीने में ऑड-ईवन स्‍कीम को दिल्ली की सड़कों पर फिर से लागू करने का ऐलान किया था.

    4 से 15 नवंबर तक लागू रहेगी ऑड-ईवन योजना
    दिल्‍ली (New Delhi) को प्रदूषण (Pollution) और भारी ट्रैफिक से निजात दिलाने के मकसद से 4 से 15 नवंबर तक ऑड-ईवन योजना (Odd Even Scheme) लागू करने के दिल्‍ली सरकार (Delhi Government) के फैसले को राष्‍ट्रीय हरित न्‍यायाधिकरण में चुनौती दी गई थी. इस पर बुधवार को सुनवाई हुई जिसमें NGT ने याचिकाकर्ता को अर्जी वापस लेने का आदेश दिया. ट्रिब्‍यूनल ने सरकार की ऑड-ईवन स्‍कीम को चुनौती देने वाली याचिका को सुनवाई योग्‍य नहीं माना. इसके बाद याची ने अपनी अर्जी वापस ले ली.

    क्या है ऑड-ईवन योजना
    ऑड-ईवन योजना के तहत दिल्ली की सड़कों पर लोग अपनी गाड़ी (कार-एसयूवी) रोजाना नहीं ले जा सकेंगे. जैसे यदि किसी गाड़ी के रजिस्ट्रेशन नंबर का अंतिम अंक 0, 2, 4, 6, 8 है तो वो आप तारीख 5, 7, 9, 11, 13, 15 तारीख को अपनी गाड़ी सड़क पर ला सकते हैं. अगर आपकी गाड़ी का अंतिम नंबर 1, 3, 5, 7, 9 है तो आप 4, 6, 8, 10, 12, 14 को गाड़ी लेकर सड़क पर आ सकते हैं.



    बता दें कि पिछले हफ्ते शुक्रवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दावा किया था कि दिल्ली में 25 फीसदी प्रदूषण कम हुआ है लेकिन इसके बावजूद हमें चुप होकर नहीं बैठना है. उन्होंने कहा कि पड़ासी राज्यों से पराली का धुंआ दिल्ली और आसपास के इलाकों में छा जाता है. सरकार ने प्रदूषण कम करने के लिए सुझाव मांगे थे जिस पर करीब 1200 सुझाव आए हैं.

    प्रदूषण को लेकर बीजेपी का केजरीवाल पर निशाना
    दिल्ली बीजेपी के नेता विजय गोयल ने सीएम केजरीवाल पर झूठ बोलने का आरोप लगाया था. उन्‍होंने कहा कि प्रदूषण दिल्‍ली का सबसे बड़ा मुद्दा है लेकिन केजरीवाल प्रदूषण को लेकर झूठ बोल रहे हैं. गोयल ने कहा था कि ऑड-ईवन का बेवजह प्रचार कर पैसे बर्बाद करेंगे. अगर ऑड-ईवन करना ही है तो चार महीने क्‍यों नहीं कर रहे. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CPCB) की रिपोर्ट बताती है कि वाहनों से केवल नौ प्रतिशत ही प्रदूषण होता है. केजरीवाल बाकी कारणों पर कोई एक्‍शन क्‍यों नहीं ले रहे. इसके साथ ही कार्बन मोनो ऑक्‍साइड को लेकर भी झूठ बोल रहे हैं.

    ये भी पढ़ें- 

    प्याज की बढ़ती कीमतों पर मोदी सरकार के मंत्री ने दिया यह बयान

    सस्ती कार के विज्ञापन पर न करिए भरोसा, आपके साथ भी हो सकती है ऐसी वारदात!

    Tags: Arvind kejriwal, Delhi, National Green Tribunal (NGT)

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर