तिहाड़ जेल से बड़ी साजिश की फिराक में था IM आतंकी, IB और NIA कर सकती है पूछताछ

आतंकी तहसीन अख्तर से जल्द हो सकती है पूछताछ.

आतंकी तहसीन अख्तर से जल्द हो सकती है पूछताछ.

Delhi News: तिहाड़ जेल में कैद इंडियन मुजाहिद्दीन  ( Indian Mujahidin) के आतंकी तहसीन अख्तर से जल्द केंद्रीय जांच एजेंसी आईबी (IB ) और  एनआईए (NIA) के अधिकारी जल्द पूछताछ करने वाले हैंं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 12, 2021, 10:29 PM IST
  • Share this:
दिल्ली. केंद्रीय जांच एजेंसी आईबी (IB ) के विशेष खुफिया अधिकारी और केंद्रीय जांच एजेंसी  एनआईए (NIA) के अधिकारी जल्द ही आतंकी तहसीन अख्तर उर्फ मोनू से पूछताछ कर सकते हैं. आतंकी तहसीन अख्तर उर्फ मोनू का संबंध आतंकी संगठन इंडियन मुजाहिद्दीन  ( Indian Mujahidin) से है. इसे मार्च 2014 में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की टीम द्वारा गिरफ्तार किया गया था. आतंकी तहसीन फिलहाल दिल्ली स्थित तिहाड़ जेल के जेल नंबर - 8 में कैद है. एनआईए के सूत्रों की अगर मानें तो तहसीन से संबंधित कई महत्वपूर्ण जानकारी दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल मिली है. उसी मामले में आगे की पूछताछ के लिए जल्द ही वो तिहाड़ जेल जाएंगे और विस्तार से पूछताछ करेंगे.

दरअसल, गुरुवार की शाम करीब 6 बजे दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की टीम तिहाड़ जेल छापेमारी की. इस दौरान तहसीन के बैरक में मोबाइल फोन बरामद किया गया था. आरोप है कि मुंबई में पिछले महीने एक कार के अंदर से विस्फोटक मामले में उस मोबाइल फोन से भेजे गए संदेश और टेलिग्राम एप्लिकेशन कनेक्शन जांच का बहुत ही महत्वपूर्ण कड़ी है. अब स्पेशल सेल के साथ ही जांच एजेंसी एनआईए और आईबी की टीम भी सबूत खंगालने में जुटी हुई है.

Youtube Video


शातिर आतंकी है तहसीन
आतंकी तहसीन इंडियन मुजाहिदीन का बहुत ही शातिर और खूंखार आतंकी है. जांच एजेंसी अब इसके बारे में ये जानना चाह रही है कि आतंकी संगठन जैश -उल - हिन्द का इंडियन मुजाहिद्दीन के साथ क्या कनेक्शन है और तिहाड़ जेल के अंदर में वे कौन -कौन से आतंकी हैं जो जेल में रहकर अभी भी आतंकी वारदात और कनेक्शन को जोड़ने में लगे है. इसके साथ ही वो कौन लोग हैं जो तिहाड़ जेल के अंदर इस तरह के आतंकियों को मदद कर रहे है. तहसीन का आतंकी संगठन जैश उल हिंद के साथ क्या कनेक्शन है और जिस तरह से टेलीग्राम एप्पीलेशन के माध्यम से तिहाड़ जेल के अंदर से संदेश भेजना और टेलीग्राम चैनल को क्रिएट करने के लिए डार्क वेब का इस्तेमाल करना ये जांच का महत्वपूर्ण मसला है, क्योंकि आरोपी ने जिस तरह से अपनी पहचान छुपाने के लिए आधुनिक तरीके का इसका प्रयोग जेल के अंदर से किया ये बहुत ही गंभीर मसला बन गया है.

ये भी पढ़ें: प्रकाश जावड़ेकर ने पोस्ट किया राजस्थान का 'Rape Calendar', राहुल-प्रियंका गांधी से पूछा बड़ा सवाल

 तिहाड़ जेल के डीजी को दिया जांच का आदेश 



दिल्ली के गृह मंत्रालय ने तिहाड़ जेल के अंदर मिले आतंकी के पास से मोबाइल फोन मामले की तफ्तीश के निर्देश जारी कर दिए गए है. दरअसल, तिहाड़ जेल दिल्ली सरकार के अधीन है. इसलिए इस मामले की गंभीरता को देखते हुए राज्य सरकार की गृह मंत्रालय ने काफी सतर्कता से जांच करवाने का आदेश जारी किया है. जल्द ही इस मामले में तिहाड़ जेल के कार्यरत कुछ कर्मचारियों पर गाज गिर सकती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज