Delhi Night Curfew News: दिल्‍ली में आज से नाइट कर्फ्यू, रात 10 से सुबह 5 बजे तक आवाजाही प्रतिबंधित

दिल्‍ली की केजरीवाल सरकार ने देश की राजधानी में नाइट कर्फ्यू लगाने का ऐलान किया है. (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

दिल्‍ली की केजरीवाल सरकार ने देश की राजधानी में नाइट कर्फ्यू लगाने का ऐलान किया है. (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

Delhi Night Curfew News: कोरोना की बढ़ती रफ्तार से पेरशान दिल्‍ली सरकार (Delhi Government) ने देश की राजधानी में रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक के लिए नाइट कर्फ्यू लगाने का ऐलान किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 6, 2021, 12:20 PM IST
  • Share this:

नई दिल्‍ली. देश की राजधानी दिल्‍ली में कोरोना वाायरस के कारण फैल रहा संक्रमण बेकाबू हो गया है. इसे देखते हुए दिल्‍ली की अरविंद केजरीवाल सरकार ने सख्‍ती दिखानी शुरू कर दी है. दिल्‍ली सरकार (Delhi Government) ने देश की राजधानी में तत्‍काल प्रभाव से रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक के लिए नाइट कर्फ्यू (Night curfew) लगाने का ऐलान किया है. यह 30 अप्रैल तक प्रभावी रहेगा. इस दौरान किसी भी तरह की गतिविधि प्रतिबंधित रहेगी. साथ ही आवाजाही पर भी पाबंदी रहेगी.

दिल्‍ली सरकार का ये आदेश तत्काल प्रभाव से लागू होगा. हालांकि इस दौरान जरूरी सेवाओं से जुड़े लोगों को राहत दी जाएगी. दिल्ली में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं, रोज करीब चार हजार नए मामले सामने आ रहे हैं और टेस्ट का पॉजिटिविटी रेट भी साढ़े पांच फीसदी से ऊपर हो गया है, जिसे ध्यान में रखते हुए ये फैसला किया गया है. बता दें कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को कहा था कि दिल्ली संक्रमण की चौथी लहर का सामना कर रही है, लेकिन लॉकडाउन लगाने का अभी कोई विचार नहीं है.

बता दें कि पिछले कुछ दिनों से देश में लगातार न सिर्फ कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं बल्कि मौत के आंकड़ों में भी बढ़ोतरी हो रही है. महाराष्ट्र में भी नाइट कर्फ्यू वहां की स्थानीय सरकार ने लगाया है, क्योंकि महाराष्ट्र ऐसा राज्य है जिसमें कोरोना के सर्वाधिक आंकड़े देखने को मिल रहे हैं. महाराष्‍ट्र सरकार ने कुछ और सख्त नियम लागू किए हैं. राज्य के अस्पतालों में भी कोरोना मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है और ऑक्सीजन वेंटीलेटर वाले बैड्स की कमी आने लगी है. दिल्ली में हालांकि अभी अस्पतालों में बेड्स की कमी जैसी समस्या नहीं आई है, लेकिन आने वाले समय में अगर आंकड़े इसी रफ्तार से बढ़े तो मुश्किलें बढ़ सकती हैं.

नाइट कर्फ्यू की सफलता को लेकर अलग-अलग राय
हालांकि नाइट कर्फ्यू की सफलता को लेकर सरकारों के बीच ही अलग-अलग राय है. केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने 15 मार्च को सभी राज्यों को पत्र लिखा था, जिसमें कहा था कि नाइट कर्फ्यू​ या फिर साप्ताहांत में लॉकडाउन लगाने से कोई खास फायदा नहीं होता, लिहाजा ऐसी स्थिति में स्थनीय प्रशासन को स्वास्थ्य मंत्रालय के दिशा-निर्देशों का सख्ती से पालन करवाने की तरफ ध्यान देना चाहिए.

दिल्‍ली में हो रही ताबड़तोड़ कार्रवाई

दिल्ली सरकार से जुड़े सूत्रों का कहना है कि काफी सोच विचार कर ये फैसला किया गया है. कोरोना प्रोटोकॉल का उल्लंघन करने के खिलाफ दिल्ली पुलिस ने पिछले हफ्ते बैंक्वेट हाल, रेस्टोरेंट और नाइट क्लब के खिलाफ कार्रवाई की थी. शनिवार की रात को दिल्ली पुलिस ने करीब पौने दो सौ लोगों के खिलाफ कार्रवाई की थी. इनमे 13 बैंक्वेट हाल, 58 रेस्टोरेंट और तीन नाइट क्लब के मालिक भी शामिल थे, यहां कोरोना प्रोटोकॉल का कतई पालन नहीं हो रहा था. दिल्ली में नए साल की शुरुआत में 25 दिसंबर से 1 जनवरी तक भी नाइट कर्फ्यू लगाया गया था.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज