• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • कोर्ट के बाहर दोषी अक्षय की पत्नी हुई बेहोश, चीखकर बोली- मुझे न्याय चाहिए, मुझे भी मार दो

कोर्ट के बाहर दोषी अक्षय की पत्नी हुई बेहोश, चीखकर बोली- मुझे न्याय चाहिए, मुझे भी मार दो

निर्भया केस का दोषी अक्षय कुमार सिंह

निर्भया केस का दोषी अक्षय कुमार सिंह

5 मार्च को एक निचली अदालत ने मुकेश सिंह (32), पवन गुप्ता (25), विनय शर्मा (26) और अक्षय कुमार सिंह (31) को 20 मार्च को सुबह साढ़े पांच बजे फांसी देने के लिए नया मृत्यु वारंट जारी किया था.

  • Share this:
    नई दिल्ली. निर्भया गैंगरेप एवं हत्या मामले (Nirbhaya Gang Rape Case) के सजायाफ्ता चार दोषियों में से एक अक्षय कुमार सिंह की पत्नी गुरुवार को पटियाला हाउस कोर्ट के बाहर बेहोश हो गई. उसने बेहोश होने से पहले कहा कि उसे और उसके नाबालिग बेटे को भी फांसी दे दी जाए. अदालत के बाहर चीखते हुए अक्षय की पत्नी ने कहा, “मुझे भी न्याय चाहिए. मुझे भी मार दो. मैं जीना नहीं चाहती. मेरा पति निर्दोष है. यह समाज उसके पीछे क्यों पड़ा है?”

    बदहवास हो गई अक्षय की पत्नी

    पटियाला हाउस कोर्ट के बाहर अक्षय की पत्नी ने कहा, “हम इस उम्मीद में जी रहे थे कि हमें न्याय मिलेगा, लेकिन पिछले 7 साल से हम रोज मर रहे हैं.” सिंह की पत्नी ने खुद को सैंडल से मारना शुरू कर दिया, जिसके बाद वकीलों ने उसे समझाया-बुझाया. आपको बता दें कि निर्भया मामले के दोषी अक्षय सिंह की पत्नी ने इससे पहले बिहार के औरंगाबाद की एक अदालत में पति से तलाक लेने की अर्जी दायर की है. इसमें उसने कहा है कि अक्षय को फांसी होने के बाद वह विधवा के रूप में नहीं जीना चाहती है, इसलिए उसे तलाक दिलवाया जाए.

    निर्भया के वकील बोले- नरमी न बरती जाए

    इधर, अदालत के बाहर पीड़िता के परिजनों के वकील ने कहा कि दोषियों को कोई रियायत नहीं मिलनी चाहिए. वकील ने कहा, 'अक्षय हमारे समाज का हिस्सा है. अप्राकृतिक मौत से हर किसी को दुख होता है, लेकिन अक्षय के साथ कोई नरमी नहीं बरती जानी चाहिए.'

    गौरतलब है कि 5 मार्च को एक निचली अदालत ने मुकेश सिंह (32), पवन गुप्ता (25), विनय शर्मा (26) और अक्षय कुमार सिंह (31) को 20 मार्च को सुबह साढ़े पांच बजे फांसी देने के लिए नया मृत्यु वारंट जारी किया था. अदालत को गुरुवार को सूचित किया गया कि सभी दोषी अपने सभी कानूनी और संवैधानिक विकल्पों का इस्तेमाल कर चुके हैं और उनके बचने के लगभग सभी रास्ते बंद हो चुके हैं.

    अक्षय की याचिका पर फैसला सुरक्षित

    इससे पहले निर्भया मामले में दोषी अक्षय सिंह की याचिका पर दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया है. अक्षय ने अपनी याचिका में फांसी की सजा पर रोक लगाने की मांग की थी. याचिका में अक्षय ने कहा है कि उसकी दया याचिका राष्ट्रपति के पास लंबित है, इसलिए फांसी की सजा पर रोक लगे. इसी याचिका पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रखा है.

    पटियाला हाउस अदालत के अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश धर्मेंद्र राणा को सरकारी वकील ने बताया कि दोषी अक्षय कुमार सिंह और पवन गुप्ता की दूसरी दया याचिका पर सुनवाई किए बिना उसे इस आधार पर खारिज कर दिया गया कि पहली दया याचिका पर सुनवाई की गई थी और यह अब सुनवाई के योग्य नहीं है.

    (इनपुट - भाषा से भी)

    ये भी पढ़ें -

    निर्भया केस: दोषी पवन को लगा सुप्रीम कोर्ट से झटका, खारिज हुई याचिका

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज