लाइव टीवी

निर्भया कांड: दया याचिका खारिज होने पर सुप्रीम कोर्ट पहुंचा दोषी मुकेश, कहा-मानकों का पालन नहीं हो रहा
Delhi-Ncr News in Hindi

एएनआई
Updated: January 25, 2020, 6:42 PM IST
निर्भया कांड: दया याचिका खारिज होने पर सुप्रीम कोर्ट पहुंचा दोषी मुकेश, कहा-मानकों का पालन नहीं हो रहा
निर्भया के दोषी मुकेश ने फिर लगाई सुप्रीम कोर्ट में दया की गुहार (फाइल फोटो)

दिल्ली (Delhi) की एक अदालत ने भी शनिवार को दोषी पवन, विनय और अक्षय के वकील की उस याचिका को खारिज कर दिया है, जिसमें कहा गया था कि तिहाड़ जेल (Tihar Jail) दस्तावेज नहीं सौंप रहा है.

  • Share this:
नई दिल्ली. निर्भया सामूहिक दुष्कर्म (Nirbhaya Gang Rape) और हत्या मामले में फांसी की सजा से बचने के लिए दोषी लगातार नए-नए हथकंडे अपना रहे हैं. निर्भया मामले के दोषी मुकेश सिंह (Mukesh Singh) ने शनिवार को अपनी वकील वृंदा ग्रोवर के जरिये सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में याचिका दायर कर राष्ट्रपति (President) द्वारा याचिका खारिज करने को चुनौती देते हुए रहम की गुहार लगाई है. यह जानकारी खुद वृंदा ग्रोवर ने मीडिया को दी है. मुकेश कुमार की ओर से अर्जी अधिवक्ता वृंदा ग्रोवर ने दायर की. ग्रोवर ने कहा, ‘जिस तरह से दया याचिका खारिज की गई है, उसकी न्यायिक समीक्षा के लिए अर्जी अनुच्छेद 32 के तहत दायर की गई है.’

उन्होंने कहा कि शत्रुघ्न चौहान प्रकरण में शीर्ष अदालत द्वारा निर्धारित मानकों का पालन नहीं किया जा रहा है. इन मानकों में ऐसे कैदी को आवश्यक दस्तावेज उपलब्ध कराने की अनिवार्यता भी शामिल है. 2014 के इस फैसले में कहा गया था कि जेल अधिकारियों के लिए ऐसे कैदी को एक सप्ताह के भीतर आवश्यक दस्तावेज की प्रतियां उपलब्ध कराना जरूरी है.’ चारों दोषियों को एक फरवरी सुबह छह बजे फांसी देने के लिए मृत्यु वारंट जारी किया गया है.



मुकेश ने अपनी दोषसिद्धि और फांसी की सजा के खिलाफ सुधारात्मक याचिका दायर की थी, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया था. इसके बाद मुकेश ने दया याचिका दायर की थी. सुप्रीम कोर्ट ने मुकेश की सुधारात्मक याचिका खारिज करने के साथ ही इस मामले में फांसी की सजा पाये अन्य दोषी अक्षय कुमार (31) की सुधारात्मक याचिका भी खारिज कर दी थी. दो अन्य दोषियों पवन गुप्ता (25) और विनय कुमार शर्मा ने अभी तक सुप्रीम कोर्ट में सुधारात्मक याचिका दायर नहीं की है.

फांसी से बचने का अंतिम रास्तागौरतलब है कि मौत की सजा पाए दोषी के लिए बचने का यह अंतिम रास्ता होता है. जब राष्ट्रपति किसी की दया याचिका खारिज कर दें, तो इसे सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी जा सकती है. यह चुनौती दोषी को दया याचिका खारिज होने के 14 दिन के अंदर देनी होती है. अगर यह याचिका भी खारिज हो जाती है, तो मुकेश के पास सभी कानूनी विकल्प पूरी तरह से समाप्त हो जाएंगे और निर्धारित तारीख को उसे फांसी हो सकती है. यह फांसी उसी हालत में रुकेगी जब मामले से जुड़े अन्य तीन दोषियों का कोई केस लंबित हो और फांसी की तारीख तक उस पर फैसला न आ सके. तब फांसी की एक नई तारीख घोषित की जा सकती है.

पवन, विनय और अक्षय की याचिका खारिज
वहीं, शनिवार को दिल्ली की एक अदालत ने दोषी पवन, विनय और अक्षय के वकील की वह याचिका खारिज कर दी, जिसमें कहा गया था कि तिहाड़ जेल दस्तावेज नहीं सौंप रहा है. अभियोजन पक्ष ने अदालत को सूचित किया कि तिहाड़ जेल के अधिकारियों ने दोषियों के वकील द्वारा मांगे गए सभी संबंधित दस्तावेज उन्हें पहले ही मुहैया करा दिए हैं. इस पर अदालत ने कहा कि इस मामले में आगे किसी दिशा-निर्देश की आवश्यकता नहीं है और कोर्ट ने यह याचिका खारिज कर दी.

1 फरवरी को फांसी के फंदे पर लटकेंगे आरोपी
निर्भया गैंगरेप मामले में 4 दोषियों को फांसी की सजा मुकर्रर हो चुकी है. दोषी विनय, अक्षय, मुकेश और पवन को तिहाड़ जेल नंबर 3 में फांसी होने वाली है. इसके लिए एक फरवरी की सुबह छह बजे का समय रखा गया है. आपको बता दें कि इस मामले के सभी दोषियों को अलग-अलग काल कोठरियों में बंद रखा गया है.

क्या है पूरा मामला
16 दिसंबर, 2012 की रात 23 साल की एक पैरामेडिक स्टूडेंट अपने दोस्त के साथ दक्षिण दिल्ली के मुनिरका इलाके में बस स्टैंड पर खड़ी थी. इस दौरान वो अपने घर जाने के लिए वहां से गुजर रहे एक प्राइवेट बस में सवार हो गई. इस चलती बस में एक नाबालिग समेत छह लोगों ने युवती के साथ बर्बर तरीके से मारपीट और गैंगरेप किया था. इसके बाद उन्होंने पीड़िता को चलती बस से फेंक दिया था. बुरी तरह जख्मी युवती को बेहतर इलाज के लिए एयर लिफ्ट कर सिंगापुर ले जाया गया था. यहां 29 दिसंबर, 2012 को अस्पताल में उसकी मौत हो गई थी.

ये भी पढ़ें: निर्भया के दोषी की याचिका खारिज, काम नहीं आई फांसी को टालने की तरकीब


News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 25, 2020, 2:51 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर