• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • निर्भया केस: वकील ने कोर्ट से कहा- दोषियों को PAK सीमा या डोकलाम भेज दें, लेकिन नहीं दें फांसी

निर्भया केस: वकील ने कोर्ट से कहा- दोषियों को PAK सीमा या डोकलाम भेज दें, लेकिन नहीं दें फांसी

सुनवाई के दौरान पुलिस ने जमानत याचिकाओं का विरोध किया. (प्रतीकात्मक फोटो)

सुनवाई के दौरान पुलिस ने जमानत याचिकाओं का विरोध किया. (प्रतीकात्मक फोटो)

निर्भया मामले में दोषियों के वकील ने एक बार फिर कोर्ट में हलफनामा दायर करने की बात कही है. पटियाला हाउस कोर्ट में इस मामले की सुनवाई के दौरान दोषियों के वकील एपी सिंह ने फांसी की सजा को रोकने की अपील भी की.

  • Share this:
    नई दिल्ली. निर्भया मामले में दोषियों के वकील ने एक बार फिर कोर्ट में हलफनामा दायर करने की बात कही है. पटियाला हाउस कोर्ट में इस मामले की सुनवाई के दौरान दोषियों के वकील एपी सिंह ने फांसी की सजा को रोकने की अपील भी की. इस दौरान उन्होंने कोर्ट से इन दोषियों को भारत-पाकिस्तान सीमा पर और डोकलाम भेजने को कहा. साथ ही कहा कि इन्हें फांसी नहीं दें, ये देश की सेवा के लिए तैयार हैं. बता दें, इस मामले में दोषियों को शुक्रवार सुबह 5.30 बजे राजधानी दिल्ली के तिहाड़ जेल में फांसी हो सकती है.

    साल 2012 का है ये मामला
    राजधानी दिल्ली में 2012 में सड़क पर अपने दोस्त के साथ घूम रही एक लड़की के साथ एक विभत्स घटना हुई थी. इस घटना के बाद पूरा देश एक साथ खड़ा दिख रहा था. सामूहिक रेप के बाद निर्भया के नाम से जाने जाने वाली इस लड़की की हत्या कर दी गई थी. दिल्ली में हुई इस घटना के बाद कई दिनों तक हंगामा होता रहा.



    शुक्रवार को तय मानी जा रही है फांसी
    बता दें, दोषियों में से एक पवन गुप्ता की क्यूरेटिव याचिका को खारिज कर दिया गया है. वहीं पवन और अक्षय की दूसरी दया याचिका को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने खारिज कर दिया है. इसी के साथ दोपहर बाद पटियाला हाउस कोर्ट ने भी इस मामले में दोषियों की ओर से दायर एक याचिका को खारिज कर दिया है. याचिका में फांसी की सजा को रोकने की मांग की गई थी. अब माना जा रहा है कि चारों दोषियों की फांसी शुक्रवार सुबह 5.30 बजे के तय समय पर ही होगी. अब इन सभी की फांसी में कोई अड़चन नजर नहीं आ रही है.

    निर्भया की वकील को भरोसा- कल ही होगी फांसी
    वहीं इस मामले में निर्भया की तरफ से वकील सीमा कुशवाहा ने कहा कि उन्हें अब यकीन है कि चारों दोषियों को शुक्रवार को ही तय समय पर फांसी की सजा दी जाएगी. जबकि दोषी अक्षय के वकील ने कहा है कि दया याचिका खारिज होने की वजह से कई लोग प्रभावित होंगे. इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने दया याचिका पर टिप्पणी की थी. सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि आप कह रहे हैं कि आपने दूसरी बार दया याचिका दाखिल की और राष्ट्रपति ने उसे रिजेक्ट कर दिया. शीर्ष अदालत ने सवाल किया कि क्या अब न्यायिक समीक्षा की गुंजाइश है?

    इस अधिकारी की मौजूदगी में होगी फांसी
    सूत्रों के अनुसार, तिहाड़ जेल नंबर 3 में ट्रांसफर किए गए मंडोली जेल के असिस्टेंट सुप्रीटेंडेंट दीपक शर्मा की मौजूदगी में इन चारों दोषियों को फांसी होगी. गौरतलब है कि जेल नंबर तीन में ही ये चारों दोषी भी बंद हैं और इसी जेल में फांसी घर भी बना हुआ है.



    ये भी पढ़ें:

    कोर्ट के बाहर अक्षय की पत्नी हुई बेहोश, चीखकर बोली- मुझे भी मार दो!

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज