लाइव टीवी

निर्भया के दोषी पवन की याचिका खारिज होने पर पीड़िता के पिता हुए खुश, सुप्रीम कोर्ट से की ये मांग
Delhi-Ncr News in Hindi

भाषा
Updated: January 20, 2020, 7:28 PM IST
निर्भया के दोषी पवन की याचिका खारिज होने पर पीड़िता के पिता हुए खुश, सुप्रीम कोर्ट से की ये मांग
निर्भया के पिता (फाइल फोटो)

निर्भया (Nirbhaya) के पिता ने सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) से एक दोषी द्वारा दायर की जाने वाली याचिकाओं की संख्या को सीमित करने के लिए दिशा-निर्देश तैयार करने की मांग की है.

  • Share this:
नई दिल्ली. निर्भया (Nirbhaya) के पिता ने सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) से एक दोषी द्वारा दायर की जाने वाली याचिकाओं की संख्या को सीमित करने को लेकर दिशा-निर्देश तैयार करने की सोमवार को अपील की ताकि महिलाओं को समयबद्ध तरीके से न्याय मिल सके.

उनकी यह टिप्पणी उस वक्त आई जब सुप्रीम कोर्ट ने निर्भया सामूहिक बलात्कार और हत्या मामले में मौत की सजा पाने वाले चार में से एक दोषी पवन गुप्ता की याचिका सोमवार को खारिज कर दी. इस याचिका में उसने दिल्ली हाईकोर्ट के उस फैसले को चुनौती दी थी जिसने अपराध के वक्त उसके नाबालिग होने के दावे को खारिज कर दिया था.

‘सजा में देरी’ के लिए चाल चल रहे हैं निर्भया के गुनहगार
निर्भया के पिता ने कहा, 'यह खुशी की बात है कि अदालत ने उसकी याचिका खारिज कर दी. लेकिन जब भी हमारे मामले से जुड़ी कोई याचिका अदालत में आती है, हमारी धड़कनें तेज हो जाती हैं. अंत में हमें सुखद समाचार ही मिलता है.' चारों दोषियों पर याचिका दायर कर ‘सजा में देरी’ के लिए चाल चलने का आरोप लगाते हुए उन्होंने शीर्ष अदालत से दिशा-निर्देश तैयार करने की मांग की ताकि पीड़िताओं को समय से न्याय मिल सके.



मामले को निचली अदालत, दिल्ली हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट ने 3 बार सुना है
उन्होंने कहा, 'निचली अदालत, दिल्ली हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट ने तीन बार मामले को सुना है. सुप्रीम कोर्ट को कुछ विशेष शक्तियों का इस्तेमाल कर याचिकाएं दायर करने के लिए कुछ समय-सीमा निर्धारित करने की मांग की. निर्भया के पिता बोले, 'यह सिर्फ निर्भया के नहीं बल्कि हमारी अन्य बेटियों के लिए भी है. हम सुप्रीम कोर्ट से दिशा-निर्देश तैयार करने का अनुरोध करते हैं ताकि निर्भया और अन्य बेटियों को समय रहते न्याय मिल सके.'

अदालत ने एक फरवरी को फांसी देने के लिए जारी किया है वारंट
दिल्ली की एक अदालत ने शुक्रवार को चारों दोषियों-विनय शर्मा, मुकेश कुमार, अक्षय कुमार सिंह और पवन- की मौत की सजा पर एक फरवरी को अमल करने के लिए नए सिरे से आवश्यक वारंट जारी किए थे. निर्भया के साथ 16-17 दिसंबर, 2012 की रात में दक्षिण दिल्ली में चलती बस में छह व्यक्तियों ने सामूहिक बलात्कार किया और इसके बाद उसे बुरी तरह जख्मी हालत में सड़क पर फेंक दिया था. निर्भया की बाद में 29 दिसंबर, 2012 को सिंगापुर के एक अस्पताल में मृत्यु हो गई थी.

ये भी पढ़ें - 

दिल्ली में टूटा गठबंधन, बीजेपी से अलग होकर 4 सीटों पर लड़ेगा अकाली दल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का नामांकन टला, कल करेंगे दाखिल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 20, 2020, 6:47 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर