हाथों में रस्सी लेकर तिहाड़ जेल पहुंची महिलाएं, निर्भया के दोषियों को खुद फांसी देने की मांग

सामाजिक कार्यकर्ता योगिता भयाना के साथ महिलाओं ने तिहाड़ जेल बाहर किया प्रदर्शन

सामाजिक कार्यकर्ता योगिता भयाना (Yogita Bhayana) की अगुवाई में हाथों में रस्सी लेकर महिलाओं ने तिहाड़ जेल (Tihar Jail) के गेट नंबर-4 के बाहर आक्रोशपूर्ण प्रदर्शन किया और निर्भया गैंगरेप के दोषियों को खुद फांसी देने की मांग की.

  • Share this:
    नई दिल्ली. दिल्ली की तिहाड़ जेल (Tihar Jail)  में निर्भया (Nirbhaya) के दोषियों को फांसी दिए जाने की तैयारी तेज हो गई है. खबरों के मुताबिक, तिहाड़ जेल नंबर-3 में मौजूद फांसी घर की साफ-सफाई के बाद उसकी सुरक्षा मजबूत कर दी गई है. निर्भया के दोषियों को जल्द फांसी देने की मांग अब देशभर से उठने लगी है. इसी संबंध में तिहाड़ जेल के बाहर सोमवार को कुछ महिलाओं ने हाथों में रस्सी लेकर प्रदर्शन किया.

    सामाजिक कार्यकर्ता योगिता भयाना (Yogita Bhayana)  की अगुवाई में महिलाओं ने तिहाड़ जेल के गेट नंबर-4 के बाहर आक्रोशपूर्ण प्रदर्शन किया. इस दौरान महिलाओं ने हाथों में रस्सी लेकर खुद दोषियों को फांसी दिए जाने की मांग की. योगिता ने कहा कि वह खुद दोषियों को फांसी देना चाहती हैं, इसके लिए उन्होंने तिहाड़ जेल डीजी को मांग पत्र सौंपा है.

    पत्र में योगिता ने लिखा, ‘निर्भया के दोषियों को मैं खुद फांसी देना चाहती हूं. जिससे समाज में यह संदेश जाए कि एक महिला भी फांसी दे सकती है. अगर मैं उन दरिंदों को अपने हाथों से सजा देती हूं तो मेरी वेदना कम होगी. उस बच्ची को और उसके परिवार को दर्द में मैंने देखा है. अगर यह मौका मुझे मिलता है तो यह निर्भया को सच्ची श्रद्धांजलि होगी. साथ ही महिलाओं की अस्मिता से खेलने वालों के लिए यह एक चेतावनी भी होगी.’

    योगिता भयाना ने तिहाड़ जेल के डीजी को पत्र लिख खुद निर्भया के दोषियों को फांसी देने की मांग की


    बता दें कि निर्भया को न्याय दिलाने के लिए योगिता भयाना पिछले 7 वर्षों से काम कर रही हैं. इससे पहले भी योगिता ने राष्ट्रपति को पत्र लिख खुद जल्लाद बनने की इच्छा जाहिर की थी.

    'फांसी देने के लिए कोई नहीं तो मैं बन जाऊंगी जल्लाद'
    उन्होंने कहा था कि यदि तिहाड़ जेल के पास फांसी देने के लिए कोई जल्लाद (Executioner) नहीं है तो मैं जल्लाद बनने के लिए तैयार हूं. लेकिन सिर्फ एक जल्लाद की वजह से निर्भया केस के दोषियों की फांसी देने में देर नहीं होनी चाहिए. योगिता ने ये मांग ऐसे वक्त में की थी जब हैदराबाद का डॉक्टर गैंगरेप केस सामने आया और उसके बाद से निर्भया केस के दोषियों को जल्द से जल्द फांसी देने की मांग उठने लगी.

    पीपुल्स अगेंस्ट रेप इन इंडिया (परी) अभियान चलाती हैं योगिता भयाना


    हरियाणा की रहने वाली हैं योगिता भयाना
    योगिता भयाना दिल्ली-एनसीआर में रेप पीड़िताओं की सहायता के लिए पीपुल्स अगेंस्ट रेप इन इंडिया (परी) अभियान चलाती हैं. बड़ी संख्या में पीड़िता और उनके परिजन योगिता से जुड़कर कोर्ट में अपने केस को लड़ रहे हैं. योगिता भयाना ने न्यूज18 हिन्दी को बताया था कि यह एक बड़ा अजीब से मामला है कि गैंगरेप के दोषी सामने हैं और आपको फांसी देने के लिए जल्लाद नहीं मिल रहा है.

    ये भी पढ़ें-

    दिल्ली के इन 3 मेट्रो स्टेशनों पर एंट्री और एग्जिट बंद, नहीं रुकेगी कोई ट्रेन

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.