• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • निर्भया केस: दोषी पवन को लगा सुप्रीम कोर्ट से झटका, खारिज हुई याचिका

निर्भया केस: दोषी पवन को लगा सुप्रीम कोर्ट से झटका, खारिज हुई याचिका

निर्भया मामले में दोषी पवन गुप्ता (फाइल फोटो)

निर्भया मामले में दोषी पवन गुप्ता (फाइल फोटो)

निर्भया रेप केस में दोषी पवन ने नाबालिग होने के मामले में सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव याचिका दाखिल की थी, जिसे अदालत ने खारिज कर दिया है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. निर्भया गैंगरेप और हत्या (Nirbhaya Gangrape and murder case) के मामले में दोषी पवन को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका लगा है. सुप्रीम कोर्ट ने पवन की क्यूरेटिव याचिका खारिज कर दी है. दोषी पवन ने नाबालिग होने के मामले में सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव याचिका दाखिल की थी, जिसे अदालत ने खारिज कर दिया है. ऐसे में माना जा रहा है कि कल होने वाली फांसी के लिए एक और रास्ता साफ हो चुका है.

    बता दें कि सुप्रीम कोर्ट निर्भया के दोषी पवन गुप्ता की क्यूरेटिव पीटिशन पर इन-चैंबर सुनवाई करने को तैयार हो गया. सुप्रीम कोर्ट में पवन की याचिका पर गुरुवार को सुबह 10.25 मिनट पर सुनवाई हुई. इसमें सर्वोच्च न्यायालय के 6 जजों ने इन-चैंबर सुनवाई करते हुए पवन की याचिका को खारिज कर दिया.

    हर पैंतरा अपना रहे हैं दोषी
    निर्भया गैंगरेप और हत्या के मामले में दोषी फांसी के एक दिन पहले तक हर पैंतरा अपनाने से बाज नहीं आ रहे हैं. दोषी फांसी की सजा रुकवाने के लिए फिर से अदालत पहुंच गए हैं. वह हर बार यह कह रहे हैं कि उन्हें फांसी देने से कुछ नहीं बदलने वाला. हिन्दी अखबार नवभारत टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार निर्भया के चार दोषियों में से एक विनय ने राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली स्थित तिहाड़ जेल के अधिकारी से कहा कि अगर उन्हें फांसी देने से रेप रुक जाएं, तो उन्हें मौत की सजा दे दी जाए.

    20 मार्च को फांसी
    रिपोर्ट के अनुसार विनय ने कहा- 'अगर हमें फांसी देने से देश में रेप रुक जाएंगे, तो बेशक हमें फांसी पर लटका दो, लेकिन यह बलात्कार रुकने वाले नहीं हैं.' रिपोर्ट के अनुसार अधिकारी ने यह भी बताया कि मुकेश को छोड़कर और किसी भी दोषी का चेहरा देख कर नहीं लग रहा है कि उन्हें 20 मार्च को फांसी होनी है. वहीं दूसरी ओर इसी मामले के एक और दोषी अक्षय की पत्नी ने बिहार के औरंगाबाद स्थित कोर्ट में तलाक की अर्जी दाखिल की है. इस अर्जी में अक्षय की पत्नी ने कहा है कि वह फांसी के बाद विधवा के रूप में नहीं रहना चाहती है, इसलिए उसे तलाक दिलाया जाए.



    ये भी पढ़ें - COVID-19: कोरोनावायरस की वजह से 31 मार्च तक बंद हुआ नोएडा का इस्कॉन मंदिर

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज