लाइव टीवी

कपिल मिश्रा का भाषण शर्मनाक, सरकार का कुछ नहीं करना और भी शर्मनाक: प्रियंका
Delhi-Ncr News in Hindi

भाषा
Updated: February 26, 2020, 6:21 PM IST
कपिल मिश्रा का भाषण शर्मनाक, सरकार का कुछ नहीं करना और भी शर्मनाक: प्रियंका
प्रियंका गांधी ने कहा हिंसा से सिर्फ आप लोगों को पीड़ा होगी और सिर्फ आप लोगों का नुकसान होगा.

कुछ दिनों पहले दिल्ली पुलिस के अधिकारियों के सामने भाजपा नेता कपिल मिश्रा (Kapil Mishra) ने कथित तौर पर कहा था कि अगर तीन दिन के अंदर सड़कों को संशोधित नागरिकता विरोधी (CAA) प्रदर्शनकारियों से खाली नहीं कराया गया तो वह एवं उनके समर्थक सड़कों पर उतरने के लिए मजबूर हो जाएंगे.

  • Share this:
नई दिल्ली. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) ने भाजपा नेता कपिल मिश्रा (Kapil Mishra) के बयान को शर्मनाक करार देते हुए बुधवार को कहा कि सरकार का इस पर कुछ नहीं करना और भी अधिक शर्मनाक है.

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) के संवाददाता सम्मेलन के बाद प्रियंका ने पत्रकारों से कहा, ' भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने जो कहा है वह शर्मनाक है लेकिन सरकार का इस पर कुछ नहीं करना और भी अधिक शर्मनाक है.' उन्होंने दिल्ली के लोगों से हिंसा से दूर रहने की अपील करते हुए कहा, 'हिंसा से सिर्फ आप लोगों को पीड़ा होगी और सिर्फ आप लोगों का नुकसान होगा.'

गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले दिल्ली पुलिस के अधिकारियों के सामने मिश्रा ने कथित तौर पर कहा था कि अगर तीन दिन के अंदर सड़कों को संशोधित नागरिकता विरोधी प्रदर्शनकारियों से खाली नहीं कराया गया तो वह एवं उनके समर्थक सड़कों पर उतरने के लिए मजबूर हो जाएंगे.

एक सवाल के जवाब में प्रियंका ने कहा कि उत्तर प्रदेश में हमने अपने कार्यकर्ताओं को कहा है कि इस तरह की घटना होने पर वे शांति और अमन बनाएं.



सोनिया गांधी ने गृह मंत्री को ठहराया था जिम्मेदार
इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हिंसा को लेकर बुधवार को गृह मंत्री अमित शाह को जिम्मेदार ठहराया और कहा कि उन्हें तत्काल इस्तीफा देना चाहिए. पार्टी की सर्वोच्च नीति निर्धारण इकाई कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक में पारित प्रस्ताव पढ़ते हुए सोनिया ने संवाददाताओं से कहा, 'दिल्ली में हो रही हिंसा और जानमाल नुकसान के बाद स्थिति पर चर्चा के लिए बैठक हुई. यह एक सोचा-समझा षड्यंत्र है. भाजपा के कई नेताओं ने भड़काऊ बयान देकर नफरत और भय का माहौल पैदा किया.'

उन्होंने कहा कि कांग्रेस कार्य समिति उन सभी परिवारों के प्रति गहरी संवेदना प्रकट करती है जिन्होंने हिंसा में अपने प्रियजनों को खो दिया है.

'सरकार भूमिका निभाने में विफल'
कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि सीडब्ल्यूसी लोगों से घृणा की राजनीति को अस्वीकार करने और दरारें भरने के लिए बेहतर कदम उठाने की अपील करती है. सोनिया ने कहा कि मौजूदा स्थिति के लिए केंद्र सरकार और खासकर गृह मंत्री जिम्मेदार हैं तथा उन्हें तत्काल इस्तीफा देने चाहिए.

उन्होंने यह दावा भी किया कि दिल्ली सरकार भी अपनी भूमिका निभाने में विफल रही.

ये भी पढ़ें-
10 प्वाइंटस में जानिए दिल्ली हिंसा मामले में HC ने दिए कौन से अहम निर्देश

देश में हिंसा की स्थिति में कब और कैसे सेना बुलाई जा सकती है?

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 26, 2020, 6:12 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर