दिल्ली में BJP के CM पद का दावेदार बनने का कोई इरादा नहीं: हरदीप सिंह पुरी
Delhi-Ncr News in Hindi

दिल्ली में BJP के CM पद का दावेदार बनने का कोई इरादा नहीं: हरदीप सिंह पुरी
हरदीप सिंह पुरी ने कहा, आवास, परिवहन, सड़क निर्माण और स्वच्छता से जुड़ी परियोजनाएं शुरू करना और इन्हें लागू कराना मंत्रालय का काम है, इसका दिल्ली के चुनाव से कोई ताल्लुक नहीं है. (फाइल फोटो)

दिल्ली (Delhi) में भाजपा (BJP) के मुख्यमंत्री पद के दावेदार बनने के सवाल पर हरदीप सिंह पुरी (Hardeep Singh Puri) ने कहा कि उनका ऐसा कोई इरादा नहीं है.

  • भाषा
  • Last Updated: November 23, 2019, 11:53 PM IST
  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
नई दिल्ली. आवास एवं शहरी मामलों के राज्यमंत्री (Minister of State for Housing and Urban Affairs Hardeep Singh Puri) हरदीप सिंह पुरी (Hardeep Singh Puri) ने दिल्ली (Delhi) में नागरिक सुविधाओं को विश्वस्तरीय बनाने में दिल्ली की केजरीवाल सरकार पर बाधक बनने का आरोप लगाते हुए शनिवार को आप संयोजक अरविंद केजरीवाल पर जमकर हमला बोला.

सभी बड़ी परियोजनाओं में सिर्फ बाधक बन रहे हैं अरविंद केजरीवाल
पुरी ने शनिवार को दिल्ली की अनधिकृत कालोनियों को नियमित करने की प्रक्रिया में इनकी सीमांकन की बाधा को दूर करने की घोषणा के लिए आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, पिछले ढाई साल से इन कालोनियों के सीमांकन के अलावा मेट्रो, आवास और परिवहन सहित सभी बड़ी परियोजनाओं में सिर्फ बाधक बन रहे हैं.

मंत्रालय का काम है महत्वपूर्ण फैसले करना और इन्हें लागू कराना



यह पूछे जाने पर कि दिल्ली में चुनाव से पहले आवास, परिवहन, सड़क निर्माण और स्वच्छता से जुड़ी तमाम बड़ी परियोजनाएं पुरी द्वारा शुरु किए जाने के मद्देनजर क्या उन्हें भाजपा के मुख्यमंत्री पद का दावेदार माना जाए, पुरी ने कहा, ‘महत्वपूर्ण फैसले करना और इन्हें लागू कराना मंत्रालय का काम है,. इसका दिल्ली के चुनाव से कोई ताल्लुक नहीं है.’’



मैं जहां हूं वहां खुश हूं: हरदीप
हरदीप सिंह पुरी ने कहा, ‘जहां तक दिल्ली में भाजपा के मुख्यमंत्री पद का चेहरा बनने का सवाल है, तो ऐसा मेरा कोई इरादा नहीं है.’ यह पूछे जाने पर कि पार्टी अगर उन्हें यह जिम्मेदारी सौंपती है तो क्या वह इसे स्वीकारेंगे, पुरी ने कहा, ‘दिल्ली में पार्टी के पास उन नेताओं का व्यवस्थित और बेहतर नेतृत्व है जो दिल्ली की राजनीति में ही बड़े हुए हैं. मैं मूलत: वह व्यक्ति हूं जो लोकसेवक (सिविल सर्वेंट) से मंत्री बना है, इसलिए मैं जहां हूं वहां खुश हूं.’

डॉ. हर्षवर्धन और किरण बेदी को सीएम प्रत्याशी घोषित कर चुनाव हार चुकी है भाजपा
उल्लेखनीय है कि 2013 के दिल्ली विधानसभा चुनाव में भाजपा ने डॉ. हर्षवर्धन को पार्टी की ओर से मुख्यमंत्री पद का दावेदार बनाया था, जबकि 2015 के चुनाव में पूर्व पुलिस अधिकारी किरण बेदी को पार्टी के चेहरे के रूप में चुनाव मैदान में उतारा गया था. आम आदमी पार्टी के मुकाबले दिल्ली के चुनावी मैदान में भाजपा के ये दोनों प्रयोग कामयाब नहीं हो पाए थे.

ये भी पढ़ें - 
First published: November 23, 2019, 11:53 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading