दिल्‍ली में इस नवरात्र में नहीं होंगी रामलीलाएं, लालकिला भी रह जाएगा सूना

कोरोना के चलते इस बार दिल्‍ली में नहीं होगी रामलीलाएं.
कोरोना के चलते इस बार दिल्‍ली में नहीं होगी रामलीलाएं.

दिल्‍ली के प्राचीन लालकिले पर होने वाली एतिहासिक रामलीला लवकुश रामलीला कमेटी के प्रधान अशोक अग्रवाल ने बताया कि इस बार दिल्‍ली के लालकिले पर रामलीला (Ramleela) नहीं होगी. जनवरी में लालकिले (Red Fort) पर रामलीला के लिए जगह के लिए आवेदन देने के बाद नवरात्र से 10 दिन पहले तक भी उन्‍हें अनुमति नहीं मिली है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 7, 2020, 6:24 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. हर साल दिल्‍ली के लालकिले पर गूंजने वाले जय श्री राम के उद्घोष, रावण की हंसी और माता सीता की करुण पुकार इस बार सुनाई नहीं देंगे. कोरोना महामारी ने रामलीला के मंचन पर संकट खड़ा कर दिया है. बीमारी को देखते हुए इस साल रामलीला कमेटियों को भी सरकार और विभागों की ओर से रामलीला करने की मंजूरी नहीं मिली है. लिहाजा हर साल लालकिले के साथ ही दिल्‍ली के अलग अलग इलाकों में होने वाली रामलीलाओं के आनंद से दर्शक इस बार वंचित रह जाएंगे.

दिल्‍ली के प्राचीन लालकिले पर होने वाली एतिहासिक रामलीला लवकुश रामलीला कमेटी के प्रधान अशोक अग्रवाल ने बताया कि इस बार दिल्‍ली के लालकिले पर उनकी रामलीला नहीं होगी. जनवरी में लालकिले पर रामलीला के लिए जगह के लिए आवेदन देने के बाद नवरात्र से 10 दिन पहले तक भी उन्‍हें अनुमति नहीं मिली है. जबकि उनकी टीम पिछले एक महीने से रामलीला के लिए रिहर्सल कर रही है. एक दो दिन रिहर्सल और करेंगे, शायद जगह मिल जाए. हालांकि अनुमति मिलने की संभावना इस बार नहीं है.

अशोक कहते हैं, बीमारी के चलते पहले ही लोगों के इकठ्ठा होने को लेकर निर्देश जारी किए जा चुके हैं. 100 से ज्‍यादा लोग एक जगह जमा नहीं हो सकते. जबकि रामलीला में हर बार ही हजारों की संख्‍या में भीड़ उमड़ती है. फिर भी रामलीला को लेकर कमेटियां तो पहले से तैयार थीं. रामलीला को लेकर हम लोग राष्‍ट्रपति, प्रधानमंत्री और उपराष्‍ट्रपति को निमंत्रण देकर आए थे. इसके लिए गदा पूजन भी हुआ था लेकिन अब सब खारिज होता दिखाई दे रहा है. पिछले पांच सालों की रामलीला को ही दोबारा ऑनलाइन दर्शकों के लिए उपलब्‍ध कराएंगे.



दिल्‍ली के लालकिले पर होने वाली लवकुश रामलीला कमेटी की रामलीला में बनी सीता.
दिल्‍ली के लालकिले पर होने वाली लवकुश रामलीला कमेटी की रामलीला में बनी सीता.

वहीं नवयुवक रामलीला कमेटी के पदाधिकारी रवि बताते हैं कि उन्‍हें भी लालकिला में रामलीला के लिए अनुमति नहीं मिली है जो पिछले कई सालों से लालकिले में ही होती रही है. लालकिले में एक साथ तीन रामलीलाएं होती थीं लेकिन इस बार एक भी नहीं होगी. रामलीला के दौरान हर साल ही बहुत भीड़ होती थी जिसे नियंत्रित कर पाना भी मुश्किल होता था, इस बार कोरोना की वजह से सब कुछ कैंसिल हो रहा है. इस बार सभी कलाकार भी घरों में ही बैठे हैं.

दिल्‍ली के कलाकार जाएंगे अयोध्‍या 

आगे पढ़ें
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज