Noida News: रेमडीसीवर इंजेक्शन ब्लैक कर रहे एक डॉक्टर समेत 3 लोग गिरफ्तार

पुलिस उन डाक्टर व कर्मचारियों को भी चिह्नित कर रही है. (सांकेतिक तस्वीर)

पुलिस उन डाक्टर व कर्मचारियों को भी चिह्नित कर रही है. (सांकेतिक तस्वीर)

उन्होंने बताया कि पूछताछ के दौरान पुलिस (Police) को पता चला है कि ये लोग कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों को सोशल मीडिया के माध्यम से संपर्क करते थे, तथा उन्हें ऊंचे दाम पर रेमडीसिवर इंजेक्शन बेचते थे.

  • Share this:
नोएडा. कोविड-19 (COVID-19) के अहम दवाओं में शामिल रेमडीसीवर इंजेक्शन (Remdisiver Injection) ब्लैक कर रहे एक डाक्टर समेत तीन लोगों को थाना सेक्टर 24 पुलिस ने शुक्रवार को गिरफ्तार कर उनके पास से 3 इंजेक्शन बरामद किए हैं. थाना सेक्टर 24 के थानाध्यक्ष सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि एक सूचना के आधार पर थाना पुलिस ने शुक्रवार को सुमित्रा हॉस्पिटल के पास से हमजा निवासी साहिबाबाद गाजियाबाद, मुजीब उर रहमान निवासी साहिबाबाद गाजियाबाद तथा डॉक्टर नुसरत इमाम (Dr. Nusrat Imam) निवासी मिलन विहार अपार्टमेंट एक्सटेंशन पटपड़गंज दिल्ली को गिरफ्तार किया है. सिंह ने बताया कि डाक्टर नुसरत के पास से पुलिस ने एक ब्रिजा कार में रखी रेमडीसीविर 100 एमजी के 3 इंजेक्शन बरामद किया है.

उन्होंने बताया कि पूछताछ के दौरान पुलिस को पता चला है कि ये लोग कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों को सोशल मीडिया के माध्यम से संपर्क करते थे, तथा उन्हें ऊंचे दाम पर रेमडीसिवर इंजेक्शन बेचते थे. सिंह ने बताया कि इन लोगों ने पूछताछ के दौरान अपने गैंग में कुछ और लोगों के शामिल होने का खुलासा किया है. पुलिस उनकी जल्द ही गिरफ्तारी करेगी. उन्होंने बताया कि पुलिस को पूछताछ के दौरान पता चला है कि कुछ अस्पतालों के कर्मचारी व डाक्टर मरीजों के परिजनों से संपर्क करके, गिरफ्तार आरोपियों से रेमडीसिवर इंजेक्शन मंगवा रहे थे. पुलिस उन डाक्टर व कर्मचारियों को भी चिह्नित कर रही है.

इंजेक्शन को 25000 रुपये में बेचते थे

वहीं, कुछ देर पहले खबर सामने आई थी कि दिल्ली पुलिस ने बड़ी संख्या में नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन (Remdesiveer Injection) बनाने के आरोप में बृहस्पतिवार को उत्तराखंड के कोटद्वार (Kotdwar) से 5 लोगों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने बताया कि आरोपी के पास से रेमडेसिविर के 196 नकली इंजेक्शन जब्त किए गए हैं. आरोपी पहले ही दो हजार नकली इंजेक्शन बेच चुके हैं. दिल्ली पुलिस के आयुक्त एसएन श्रीवास्तव ने ट्विटर पर इस बाबत सूचना साझा की. उन्होंने बताया कि आरोपी इस नकली इंजेक्शन को 25000 रुपये में बेचते थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज