Home /News /delhi-ncr /

noida police arrest 10 delhi based call centre employees for duping job aspirants

2 साल में 50 बेरोजगारों को ठग कमाए 20 करोड़; ऐसे हुआ 'कॉल सेंटर' का खुलासा, 10 अरेस्ट

नोएडा पुलिस ने बेरोजगारों को ठगने वाले कॉल सेंटर का किया भंडाफोड़

नोएडा पुलिस ने बेरोजगारों को ठगने वाले कॉल सेंटर का किया भंडाफोड़

नोएडा पुलिस ने नौकरी के इच्छुक उम्मीदवारों यानी बेरोजगारों को कथित रूप से ठगने के आरोप में दिल्ली में एक कॉल सेंटर के 10 कर्मचारियों को गिरफ्तार किया है. अधिकारियों का मानना है कि गिरोह ने दो सालों से अब तक लगभग 50 लोगों को ठगा है और इन दो सालों में ठगी करके 20 करोड़ रुपये से अधिक जमा किए हैं.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली: दिल्ली में एक ऐसे कॉल सेंटर का भंडाफोड़ हुआ है, जो बेरोजगारों को दो सालों से ठगता आ रहा था. नोएडा पुलिस ने नौकरी के इच्छुक उम्मीदवारों यानी बेरोजगारों को कथित रूप से ठगने के आरोप में दिल्ली में एक कॉल सेंटर के 10 कर्मचारियों को गिरफ्तार किया है. अधिकारियों का मानना है कि गिरोह ने दो सालों से अब तक लगभग 50 लोगों को ठगा है और इन दो सालों में ठगी करके 20 करोड़ रुपये से अधिक जमा किए हैं.

पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार आरोपियों की पहचान पवन कुमार, जितेश कुमार, राम किशन, दीपेंद्र कुमार, प्रदीप कुमार सिंह, अरविंद कुमार यादव, तेजपाल सिंह, रोहित कुमार, सुभाष चंद्रा और राम कृष्ण सिंह के रूप में हुई है. अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त (नोएडा) रणविजय सिंह ने कहा कि एक व्यक्ति द्वारा शिकायत की गई थी कि उसे नौकरी के झूठे वादे पर धोखा दिया गया था, जिसके बाद पुलिस ने जांच कर इस रैकेट का खुलासा किया.

सिंह ने कहा कि नोएडा सेक्टर 77 के निवासी ने 20 लाख रुपये की धोखाधड़ी का आरोप लगाते हुए पुलिस से संपर्क किया था. उन्होंने कहा कि पीड़ित ने सेक्टर 113 पुलिस स्टेशन को सूचित किया था कि वह एक प्रमुख वेबसाइट पर नौकरी की तलाश कर रहा था, जिसके बाद उसे किसी ऐसे व्यक्ति का फोन आया, जिसने अपनी सिंगापुर स्थित एक निर्माण फर्म के प्रतिनिधि के रूप में पहचान बताई.

अधिकारी ने आगे कहा, ‘प्रतिनिधि ने उसे बताया कि उसकी प्रोफ़ाइल को शॉर्टलिस्ट किया गया था. फिर कॉल करने वाले ने उसे दो से तीन सप्ताह की अवधि में प्रोसेसिंग फी और अन्य दस्तावेज़ कामों के लिए कुछ पैसे का भुगतान करने के लिए मना लिया. पीड़ित को जब तक एहसास हुआ कि उसके साथ ठगी हो रही है, तब तक उसने 20 लाख रुपये का भुगतान कर दिया था. जब मामले की जांच की गई तो पुलिस ने पाया कि दिल्ली के मयूर विहार फेज I में एक कॉल सेंटर से एक बड़ा नेटवर्क चल रहा था.’

उन्होंने कहा कि गिरोह ने उत्तर प्रदेश सहित विभिन्न राज्यों के लगभग 50 नौकरी के इच्छुक उम्मीदवारों को ठगने के लिए उसी तरीके का इस्तेमाल किया था. उन्होंने कहा कि उनके खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 420 (धोखाधड़ी) के तहत मामला दर्ज किया गया है और मामले में आगे की कानूनी कार्यवाही की जा रही है. सिंह ने कहा कि उनके पास से सात लैपटॉप, 17 मोबाइल फोन और 6.74 लाख रुपये नकद बरामद किए गए हैं.

Tags: Delhi news, Noida news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर