Home /News /delhi-ncr /

फर्जी कंपनियों के फ्रेंचाइजी देने वाले गिरोह का पर्दाफाश, 10 करोड़ के माल के साथ 4 गिरफ्तार

फर्जी कंपनियों के फ्रेंचाइजी देने वाले गिरोह का पर्दाफाश, 10 करोड़ के माल के साथ 4 गिरफ्तार

नोएडा पुलिस ने चार शातिर ठगों को गिरफ्तार करने में कामयाबी पाई है. लेकिन इनका गैंग लीडर फरार है

नोएडा पुलिस ने चार शातिर ठगों को गिरफ्तार करने में कामयाबी पाई है. लेकिन इनका गैंग लीडर फरार है

नोएडा पुलिस (Noida Police) के मुताबिक यह गिरोह वर्ष 2019 से नोएडा में ठगी का धंधा चला रहा था. इन्होंने बिहार, गुजरात, छत्तीसगढ़, समेत कई राज्यों के पचास से ज्यादा लोगों के साथ फ्रॉड किया है

नोएडा. उत्तर प्रदेश के नोएडा (Noida) में ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश हुआ है. यह गैंग फर्जी कंपनी बनाकर उसकी फ्रेंचाइजी (Franchise) देने के नाम पर लोगों के साथ ठगी करता था. नोएडा पुलिस (Noida Police) ने कार्रवाई करते हुए गिरोह के चार सदस्यों को गिरफ्तार किया है और उनसे तकरीबन 10 करोड़ का माल और कैश बरामद किया है. हालांकि इस फर्जीवाड़े (Fraud) का मुख्य अभियुक्त राजेश फरार है. पुलिस मामला दर्ज कर जांच कर रही है.

नोएडा पुलिस के एडीसीपी अंकुर अग्रवाल ने बताया कि यह लोग हाइपर मार्ट, H मार्ट जैसी फर्जी कंपनियां बनाते थे और उनकी फ्रेंचाइजी देने के नाम पर लोगों के साथ ठगी करते थे. कुछ लोगों की शिकायत पर जब पुलिस ने जांच शुरू की तब इस धंधेबाज गिरोह का पता लगा. पुलिस ने फर्जी फ्रेंचाइजी कंपनी बनाकर 50 से अधिक लोगों को ठगने वाले गिरोह के चार आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके पास से तकरीबन आठ से 10 करोड़ का माल और नकद बरामद किया है.

Unemployed, Uttar Pradesh News, cheating girls were running fake call centers, Bareilly Police, बरेली पुलिस, उत्तर प्रदेश पुलिस, कॉल सेंटर, फर्जी, बेरोजगार, ठगी
पुलिस ने छापेमारी कर फर्जी कंपनियां बनाकर उनके फ्रेंचाइजी देने वाले शातिर ठगों के गिरोह का पर्दाफाश किया है (प्रतीकात्मक तस्वीर)


वर्ष 2019 से नोएडा में ठगी का धंधा चला रहे थे

अग्रवाल ने बताया कि पुलिस ने शातिर ठगों से 3.330 किलो सोने के बिस्कुट और गहने, 242 ग्राम चांदी, 13 लाख 54 हजार 550 रुपए बरामद किया है. इसके अलावा इनके पास से एक मर्सीडीज समेत पांच गाड़ियां और अन्य तमाम इलेक्ट्रॉनिक सामान भी बरामद किए गए हैं. उन्होंने बताया कि गिरोह का मास्टरमाइंड राजेश कुमार अभी फरार है. यह लोग वर्ष 2019 से नोएडा में ठगी का धंधा चला रहे थे. इन पर बिहार, गुजरात, छत्तीसगढ़, समेत कई राज्यों के लोगों के साथ फ्रॉड करने का आरोप है. उन्होंने बताया कि मुख्य अभियुक्त राजेश जिस पर पहले भी दिल्ली में सात मामले चल रहे हैं वो इसका मास्टरमाइंड है. राजेश अपने भाई अंकुर और अन्य लोगों के साथ मिलकर इस फर्जीवाड़े को अंजाम देता था.

पुलिस के मुताबिक अभी तक राजेश की पांच फ्रॉड कंपनियों का पता लगा है. पुलिस को आशंका है कि शातिरों ने तकरीबन 100 के आस पास फ्रॉड कंपनी बनाकर ठगी की है. पुलिस फिलहाल अभी पूरे मामले की जांच कर रही है.

Tags: Franchise, Franchise agent, Fraud, Noida news, Online fraud, UP news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर