उत्‍तर प्रदेश में जल्‍द पूरे होंगे Northern Railway के प्रोजेक्‍ट, 83 परियोजनाओं को मिले ₹12996 करोड़

भारतीय रेल का फाइल फोटो...

भारतीय रेल का फाइल फोटो...

Northern Railway : नॉर्दन रेलवे को अगले वित्त वर्ष के लिए 25965 करोड रुपए के बजट का प्रावधान किया है. यह बजट राशि नॉर्दर्न रेलवे के अंतर्गत सभी 127 चालू और नए प्रोजेक्ट्स को पूरा करने को आवंटित की है. वर्ष 2009-14 की तुलना में बजट में करीब 5648 फ़ीसदी ज्यादा राशि आवंटित की गई है. 2009-14 के दौरान सिर्फ 7 राज्यों के Railway Projects के लिये 3084 करोड रुपए ही आवंटित किए गए थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 5, 2021, 12:03 PM IST
  • Share this:

नई दिल्ली. मोदी सरकार (Modi Government) ने भारतीय रेल (Indain Railways) को वर्ल्ड क्लास रेलवे बनाने के लिए वर्ष 2021-22 के वित्तीय वर्ष में दिल खोलकर बजट का आवंटन किया है. रेल बजट में रेलवे के 18 जोनों में से अकेले नॉर्दन रेलवे को अगले वित्त वर्ष के लिए 25965 करोड रुपए के बजट का प्रावधान किया है. यह बजट राशि नॉर्दर्न रेलवे के अंतर्गत सभी 127 चालू और नए प्रोजेक्ट्स को पूरा करने को आवंटित की है.



वर्ष 2009-14 की तुलना में बजट में करीब 5648 फ़ीसदी ज्यादा राशि आवंटित की गई है. 2009-14 के दौरान सिर्फ 7 राज्यों के Railway Projects के लिये 3084 करोड रुपए ही आवंटित किए गए थे. नॉर्दन रेलवे के अंतर्गत आने वाले 5 डिवीजन के 7 राज्य दिल्ली, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, जम्मू एवं कश्मीर, पंजाब, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश राज्य के प्रोजेक्ट शामिल हैं.



दिलचस्प बात यह है कि देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश के अंतर्गत चल रहे 83 प्रोजेक्ट्स जिन पर कुल अनुमानित लागत 96697 करोड है. उसके लिए वर्ष 2021-22 के बजट में 12696 करोड रुपए की राशि का प्रावधान किया गया है. यह वर्ष 2009-14 में आवंटित 1109 करोड रुपए की तुलना में 1045 फ़ीसदी ज्यादा की गई है.



 बताते चलें कि यूपी में अगले साल विधानसभा के चुनाव भी होने जा रहे हैं. ऐसे में केंद्र सरकार यूपी में रेल व्यवस्था को और ज्यादा चुस्त-दुरुस्त करने के साथ-साथ नई लाइनें बिछाने और पुराने चालू प्रोजेक्ट्स को जल्द से जल्द पूरा कराने की कोशिश में भी है.


इसके अतिरिक्त उत्तराखंड राज्य के चार प्रोजेक्ट के लिये जिन पर 18901 करोड रुपए की राशि खर्च होने का अनुमान लगाया गया है. इस पर 2021-22 में 4432 करोड रुपए का प्रावधान किया गया है जबकि 2009 से 2014 में सिर्फ  187 करोड रुपए ही आवंटित किये गये. इस बार आवंटित राशि 2270 फीसदी ज्यादा रिकॉर्ड की गई है.



हिमाचल प्रदेश में चल रहे चार रेलवे प्रोजेक्ट के लिए की अनुमानित लागत 16490 करोड रुपए है. जिसके लिए सरकार ने अगले वित्त वर्ष में 770 करोड रुपए का प्रावधान किया है.



जम्मू एवं कश्मीर में रेलवे के 3 प्रोजेक्ट के लिए 28840 करोड रुपए की अनुमानित लागत निर्धारित की थी जिसके लिए 2009 से 2014 तक सिर्फ 1044 करोड रुपए ही आवंटित किए गए थे. जबकि अब 2021-22 के बजट में ही 4294 करोड रुपए का बजटीय प्रावधान किया गया है.





पंजाब के 16 रेलवे प्रोजेक्ट के लिए  केंद्र सरकार ने Rail Budget में 2262 करोड रुपए  आवंटित करने का प्रावधान किया है.



हरियाणा के चालू और नए 13 प्रोजेक्ट्स जिन पर 19555 करोड रुपए की लागत आनी है. उसके लिए वर्ष 2021-22 के बजट में 1201 करोड रुपए की राशि का प्रावधान किया गया है. जबकि इन प्रोजेक्ट के लिए 2009-14 के बीच में सिर्फ 315 करोड रुपए ही आवंटित किए गए थे. अगले वित्त वर्ष में इन वर्षों की तुलना में 281 फ़ीसदी ज्यादा राशि आवंटित की गई है.



वहीं, दिल्ली मंडल के अंतर्गत चल रहे चालू व नये प्रोजेक्ट्स जिन पर 3527 करोड रुपए की लागत आना प्रस्तावित है. उसके लिए 2021-22 के बजट में 310 करोड रुपए का प्रावधान किया गया है.



किस राज्‍य के रेल प्रोजेक्‍ट को कि‍तना मि‍ला बजट



उत्‍तर प्रदेश- 12996 करोड़



उत्‍तराखंड- 4432 करोड़



पंजाब- 2262 करोड़



जम्‍मू एवं कश्‍मीर- 4294 करोड़



हिमाचल प्रदेश- 770 करोड़



हरियाणा- 1201 करोड़



दिल्‍ली- 310 करोड़


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज