लाइव टीवी

शाहीन बाग प्रदर्शन: बच्चों की मौजूदगी पर DM को मिला नोटिस, 10 दिन में मांगा जवाब

Vijay Shrivastav | News18Hindi
Updated: January 22, 2020, 5:22 PM IST
शाहीन बाग प्रदर्शन: बच्चों की मौजूदगी पर DM को मिला नोटिस, 10 दिन में मांगा जवाब
डीएम से प्रदर्शन में बच्चों के इस्तेमाल पर जवाब मांगा गया. (फाइल फोटो)

राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) ने साउथ ईस्ट दिल्ली के डीएम को लेटर लिखकर वहां हो रहे प्रदर्शन में बच्चों के इस्तेमाल पर जवाब मांगा है. इसके साथ ही इन बच्चों की पहचान कर काउंसलिंग करवाने की सलाह भी दी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 22, 2020, 5:22 PM IST
  • Share this:
प्रियंका कांडपाल

नई दिल्ली. राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) ने दक्षिण पूर्व दिल्ली (South East Delhi) के डीएम को लेटर लिखकर वहां हो रहे प्रदर्शन में बच्चों को शामिल करने पर जवाब मांगा है. इसके साथ ही इन बच्चों की पहचान कर काउंसलिंग करवाने की सलाह भी दी. आयोग ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narednra Modi) और गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) के खिलाफ शाहीन बाग प्रदर्शन के दौरान नारेबाज़ी में बच्चों के इस्तेमाल को लेकर यह नोटिस जारी किया. इस संबंध में आयोग ने संज्ञान लेकर संबंधित अधिकारी से 10 दिन में रिपोर्ट मांगी है. आयोग के इस लेटर के अनुसार, संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ हो रहे इस प्रदर्शन के कई वीडियो वायरल हुए हैं. इन वीडियो में CAA के खिलाफ बच्चे नारेबाजी करते दिख रहे हैं.

जानिए क्या कह रहे हैं बच्चे
इस लेटर के अनुसार, इस संबंध में शिकायत मिली है कि ये बच्चे वीडियो में यह बता रहे हैं कि देश के पीएम और होम मिनिस्टर उन्हें नागरिकता का कागज दिखाने को बोल रहे हैं, अगर उन्होंने ये कागज नहीं दिखाये तो उन्हें डिटेंशन सेंटर में भेज दिया जाएगा, जहां उन्हें खाना खाने और कपड़े पहनने की अनुमति नहीं होगी.

शाहीन बाग प्रदर्शन, दिल्ली, राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग, प्रदर्शन, वायरल वीडियो, Shaheen Bagh Protest, Delhi, NCPCR, Protest, Viral Video
राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग की डीएम को लिखी चिट्ठी.


बच्चों की पहचान कर कराएं काउंसलिंग
आयोग ने साउथ ईस्ट दिल्ली के डीएम से अनुरोध किया है कि इस मामले की गंभीरता और इसका बच्चों पर पड़ने वाले प्रभाव को देखते हुए संबंधित अधिकारी डीसीपीओ के साथ पुलिस चाइल्ड वेलफेयर ऑफिसर को जरूरी निर्देश जारी कर इन बच्चों की पहचान करें. साथ ही इन बच्चों और जरूरत पड़ने पर इनके माता पिता की काउंसलिंग कराएं. अगर जरूरत पड़े तो इन बच्चों को आयोग के सामने भी पेश किया जाए.एक महीने से जारी है प्रदर्शन
CAA और अन्य मुद्दों पर पिछले एक महीने से अधिक समय से शाहीन बाग में विरोध प्रदर्शन चल रहा है. शाहीन बाग के इस प्रदर्शन में राजनीतिक दलों के कई दिग्गज नेताओं के अलावा सामाजिक कार्यकर्ता शामिल हो चुके हैं. सीएए के खिलाफ चल रहे इस प्रदर्शन के कारण आम लोगों की परेशानी भी बढ़ी है. इस कारण नोएडा से फरीदाबाद आने जाने वाले लोग काफी परेशान हैं. जाम लगने की समस्या से नौकरीपेशा लोगों की समस्या बढ़ती जा रही है. वैसे दिल्ली पुलिस के अधिकारी प्रदर्शनकारियों से बातचीत कर रहे हैं. पुलिस ने धरना खत्म करने की अपील की है.

ये भी पढ़ें: -

चंद्रशेखर आजाद आज जाएंगे शाहीन बाग, महिलाओं के धरने में होंगे शामिल

JNU हिंसा में खुलासा: न सर्वर रूम में रखे कंप्‍यूटर तोड़े गए, न ही CCTV कैमरे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 22, 2020, 3:40 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर