Home /News /delhi-ncr /

विश्‍वस्‍तरीय हाईटेक सुविधाओं से लैस की गईं दिल्‍ली की बसें, पहले से ज्‍यादा सुरक्षित होगी सवारी

विश्‍वस्‍तरीय हाईटेक सुविधाओं से लैस की गईं दिल्‍ली की बसें, पहले से ज्‍यादा सुरक्षित होगी सवारी

डीटीसी बसों के लिए सीएनजी की थोक खरीद पर आइजीएल द्वारा डीटीसी को दी जा रही छूट बढ़ाकर अब 6.5 प्रतिशत कर दी गई है.

डीटीसी बसों के लिए सीएनजी की थोक खरीद पर आइजीएल द्वारा डीटीसी को दी जा रही छूट बढ़ाकर अब 6.5 प्रतिशत कर दी गई है.

कश्मीरी गेट पर नवनिर्मित कमांड और कंट्रोल सेंटर के अलावा, एक डिजास्टर रिकवरी सेंटर, एक डेटा सेंटर और सभी डिपो में अलग-अलग व्यूइंग सेंटर भी हैं. सभी डिपो प्रबंधकों द्वारा लाइव फुटेज की निगरानी भी की जा सकती है. बसों में सभी गतिविधियों की वास्तविक समय की निगरानी के लिए कमांड सेंटर 24 घंटे कार्य करेगा. डिपो प्रबंधक, ड्राइवर, कंडक्टर और मार्शल बसों में लगाए गए सिस्टम के संचालन से संबंधित अपनी ट्रेनिंग पूरी कर चुके हैं.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली : दिल्‍ली परिवहन निगम (DTC) की बसों में महिला यात्रियों की सुरक्षा को पुख्‍ता करने के लिए अब और हाईटेक तरीका अपनाया गया है. इसके लिए बाकायदा कश्मीरी गेट (Kashmiri Gate) पर नवनिर्मित कमांड एंड कंट्रोल सेंटर स्‍थापित किया गया है. अब डीटीसी बसों की रियलटाइम निगरानी की जाएगी, जिसमें यह पता चल सकेगा कि किसी बस में अपराधिक गतिविधि या महिला सुरक्षा को खतरा तो नहीं. ऐसा होने की स्थिति में तत्‍काल कार्रवाई की जाएगी. साथ ही डीटीसी और क्लस्टर बसों को अब 3-आईपी कैमरा, एमएनवीआर जीपीएस डिवाइस, 10 पैनिक बटन, ड्राइवर के लिए एक डिस्प्ले, हूटर, स्ट्रोब और 2 नंबर टू-वे ऑडियो कम्यूनिकेशन डिवाइस के लिए एक-एक ड्राइवर और कंडक्टर के साथ फिट किया गया है.

    कश्मीरी गेट पर नवनिर्मित कमांड और कंट्रोल सेंटर के अलावा, एक डिजास्टर रिकवरी सेंटर, एक डेटा सेंटर और सभी डिपो में अलग-अलग व्यूइंग सेंटर भी हैं. सभी डिपो प्रबंधकों द्वारा लाइव फुटेज की निगरानी भी की जा सकती है. बसों में सभी गतिविधियों की वास्तविक समय की निगरानी के लिए कमांड सेंटर 24 घंटे कार्य करेगा. डिपो प्रबंधक, ड्राइवर, कंडक्टर और मार्शल बसों में लगाए गए सिस्टम के संचालन से संबंधित अपनी ट्रेनिंग पूरी कर चुके हैं.

    डीटीसी और क्लस्टर बसों में ये हाईटेक तकनीकें अपनाई गई हैं..
    -सभी डीटीसी और क्लस्टर बसों में अब 3-आईपी कैमरा, एमएनवीआर जीपीएस डिवाइस, 10 पैनिक बटन, ड्राइवर के लिए एक डिस्प्ले, हूटर, स्ट्रोब और 2 नंबर टू-वे ऑडियो कम्यूनिकेशन डिवाइस के लिए एक-एक ड्राइवर और कंडक्टर के साथ फिट किया गया है.
    -सभी नई शामिल बसों और आने वाली बसों में पहले से ही ये सभी सिस्टम स्थापित हैं, जो कश्मीरी गेट पर कमांड एंड कंट्रोल सेंटर के साथ एकीकृत होंगे.
    -यात्री, ड्राइवर या कंडक्टर किसी भी आपात स्थिति या घबराहट की स्थिति में पैनिक बटन दबा सकते हैं.
    अलर्ट स्वचालित रूप से वास्तविक समय में कश्मीरी गेट पर कमांड एंड कंट्रोल सेंटर को भेजा जाएगा.
    -कमांड सेंटर में ऑपरेटर अलर्ट को फिल्टर करेगा और विभिन्न अलर्ट परिदृश्यों में परिभाषित स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसिजर्स (एसओपी) के माध्यम से बस के जीपीएस निर्देशांक के साथ त्वरित प्रतिक्रिया के लिए पुलिस, फायर और एम्बुलेंस जैसे संबंधित हितधारक को अलर्ट भेजेगा.
    -इन पैनिक अलर्ट के साथ सिंक्रोनाइजेशन में आपातकाल के समय संबंधित अधिकारियों को एसएमएस और एक ईमेल अलर्ट भी भेजा जाएगा.

    दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने बाकायदा कश्मीरी गेट स्थित नवनिर्मित कमांड एंड कंट्रोल सेंटर का निरीक्षण भी किया. निरीक्षण के दौरान परिवहन विभाग, दिल्ली परिवहन निगम (डीटीसी), दूरसंचार कंसल्टेंट्स इंडिया लिमिटेड (टीसीआईएल), दिल्ली इंटीग्रेटेड मल्टी-मोडल ट्रांजिट सिस्टम (डीआईएमटीएस) और अर्न्स्ट एंड यंग (ईएंडवाई) के वरिष्ठ अधिकारी भी उनके साथ मौजूद थे.

    इस परियोजना का उद्देश्य डीटीसी और क्लस्टर बसों में आईपी आधारित सीसीटीवी निगरानी कैमरों, पैनिक बटन और जीपीएस के माध्यम से यात्री सुरक्षा विशेष रूप से महिला यात्रियों की सुरक्षा सुनिश्चित करना है. निरीक्षण के बाद परिवहन मंत्री ने अधिकारियों के साथ बैठक कर कमांड और नियंत्रण केंद्र के कामकाज से संबंधित सभी मुद्दों पर चर्चा बैठक भी की. उन्होंने अधिकारियों को डाटा निगरानी और संचालन के बारे में प्रतिदिन रिपोर्ट प्रस्तुत करने का भी निर्देश दिया.

    कमांड एंड कंट्रोल सेंटर के निरीक्षण के बाद परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने एक ट्वीट कर कहा, ‘मैंने आज डीटीसी/क्लस्टर बसों में लगे सीसीटीवी, जीपीएस और पैनिक बटन की निगरानी के लिए कश्मीरी गेट पर बने कमांड एंड कंट्रोल सेंटर का निरीक्षण किया. पूरी प्रणाली को जल्द ही मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा जनता को समर्पित किया जाएगा. दिल्ली की बसें अब पहले से ज्यादा सुरक्षित होंगी.’

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर