होम /न्यूज /दिल्ली-एनसीआर /

दिल्ली: AIIMS में बढ़ेगी परेशानी! नर्सिंग यूनियन आज से हड़ताल पर, जानें वजह

दिल्ली: AIIMS में बढ़ेगी परेशानी! नर्सिंग यूनियन आज से हड़ताल पर, जानें वजह

दिल्ली एम्स में नर्सों का हड़ताल.

दिल्ली एम्स में नर्सों का हड़ताल.

Delhi AIIMS Dispute: नर्सिंग यूनियन ने एम्स डायरेक्टर डॉ. रणदीप गुलेरिया को पत्र लिखकर हरीश कजीला की तुरंत बहाली की बात कही है. यूनियन का कहना है कि बिना किसी ठोस कारण के हरीश कजीला को सस्पेंड किया गया है. यही कारण है कि यूनियन की इमरजेंसी बैठक में हड़ताल पर जाने का निर्णय लिया गया है.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

एम्स में नर्सिंग यूनियन अपनी मांग पर अड़ा
रेजिडेंट डॉक्टर्स और नर्सेस का विवाद बड़ा

नई दिल्ली. दिल्ली एम्स यानी अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान के नर्सिंग स्टाफ यूनियन ने संघ के अध्यक्ष हरीश काजला को निलंबित किए जाने के फैसले के खिलाफ आज यानी मंगलवार से अनिश्चितकालीन हड़ताल का ऐलान कर दिया है. दिल्ली स्थित एम्स में पिछले दिनों नर्सिंग स्टाफ ड्यूटी पर नहीं आया था, इस​ कारण 50 से ज्यादा सर्जरी कैंसल हो गई थीं. इसके बाद नर्सिंग स्टाफ को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया था. इसी के तहत हाल ही में एम्स की ओर से नर्सिंग यूनियन के ह​रीश कजीला को सस्पेंड कर दिया गया था. अब एम्स के इस फैसले के विरोध में नर्सिंग यूनियन ने अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने का निर्णय लिया है.

नर्सिंग यूनियन ने एम्स डायरेक्टर डॉ. रणदीप गुलेरिया को पत्र लिखकर हरीश कजीला की तुरंत बहाली की मांग की है. यूनियन का कहना है कि बिना किसी ठोस कारण के हरीश कजीला को सस्पेंड किया गया है. यही कारण है कि यूनियन की इमरजेंसी बैठक में हड़ताल पर जाने का निर्णय लिया गया है. आज यानी 26 अप्रैल से शुरू हो रही यह हड़ताल तब तक जारी रहेगी, जब तक उनकी बातों को नहीं मान लिया जाता. इसके अलावा नर्सिंग स्टाफ के खिलाफ जो एक्शन लिया गया है, उसे भी वापस लिया जाना चाहिए. यूनियन के अनुसार, हम हमेशा शांति प्रिय तरीके से अपनी बात रखने की कोशिश करते हैं लेकिन हमारी बात सुनी ही नहीं जाती है. यही कारण है कि यूनियन की ओर से हड़ताल पर जाने का निर्णय लिया गया है.

बता दें कि 23 अप्रैल को रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन और नर्सिंग यूनियन के बीच विवाद हो गया था. नर्सिंग स्टाफ कम लोग और ड्यूटी के लम्बे समय को लेकर विरोध जता रहा था. इसके बाद कई उस दिन कई सर्जरी रद्द करनी पड़ी. मामले की गंभीरता को देखते हुए नर्सिंग स्टाफ को ना सिर्फ कारण बताओ नोटिस दिया गया बल्कि एफआईआर भी दर्ज की गई. दूसरी तरफ रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन का कहना है कि डॉक्टर्स और नर्सेस मिलकर ही हॉस्पिटल के वातावरण को बेहतर बनाते हैं. बेहतर नर्सिंग केयर के बिना डॉक्टर्स के काम का कोई फायदा नहीं है. हम किसी एक व्यक्ति के खिलाफ आवाज नहीं उठा रहे हैं, हम व्यवहार विशेष को लेकर चिंतित हैं.

Tags: Aiims delhi, Delhi news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर