जेपी नड्डा ने घोषित की अपनी टीम, ओम माथुर को नहीं दी जरा भी तरजीह

ओम माथुर को संगठन का जबरदस्त जानकार माना जाता है. (फाइल फोटो)
ओम माथुर को संगठन का जबरदस्त जानकार माना जाता है. (फाइल फोटो)

इस नई टीम में भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रहे और राज्यसभा सांसद ओम माथुर (Om Prakash Mathur) का नाम सिरे से गायब है. बताया जाता है कि ओम माथुर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बेहद करीबी रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 26, 2020, 7:14 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. कार्यभार संभालने के आठ महीने के बाद भारतीय जनता पार्टी (BJP) के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष जगत प्रकाश नड्डा (JP Nadda) ने अपनी नई टीम का ऐलान कर दिया है. पर इस नई टीम में भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रहे और राज्यसभा सांसद ओम माथुर (Om Prakash Mathur) का नाम सिरे से गायब है. बताया जाता है कि ओम माथुर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के बेहद करीबी रहे हैं. अमित शाह (Amit Shah) ने राजस्थान कोटे से ओम माथुर को राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाया था. इसके बाद पार्टी की कई महत्त्वपूर्ण जिम्मेदारी उन्हें समय-समय पर सौंपी जाती रही, जिसका निर्वहन उन्होंने बखूबी किया था.

महाराष्ट्र में ओम माथुर ने गाड़ा झंडा

महाराष्ट्र में हुए विधानसभा चुनाव के प्रभारी ओम माथुर ही थे. उनके नेतृ्त्व में कार्यकर्ताओं और नेताओं ने एक बेहतर प्रदर्शन करके दिखाया. इन्हीं के नेतृ्त्व में बीजेपी यहां सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी. इस चुनाव में बीजेपी की जीत के बाद माथुर का कद और ऊंचा हो गया था. बीजेपी अध्यक्ष और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने झारखंड में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ओम प्रकाश माथुर को चुनाव प्रभारी नियुक्त किया था. झारखंड के चुनाव प्रभारी बने ओम माथुर इससे पहले महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, राजस्थान और उत्तर प्रदेश समेत कई राज्यों की कमान संभाल चुके थे. माथुर को संगठन का जबरदस्त जानकार माना जाता है, वहीं माथुर निचले तबके तक संगठन में पकड़ बनाने में माहिर रहे हैं.



आरएसएस के करीबी रहे हैं माथुर
ओम माथुर राजस्थान के रहने वाले हैं. साल 1952 में पैदा हुए माथुर ने साल 1972 में आरएसएस ज्वॉइन किया. उसके बाद वह संघ के प्रचारक के तौर पर काम करते रहे. साल 1990 में वह सक्रिय राजनीति में आए और 1990 से 2002 तक वह राजस्थान बीजेपी के महासचिव बने रहे.

नई टीम में कहीं जगह नहीं

जेपी नड्डा की इस बार घोषित नई टीम में ओम माथुर को कोई जगह नहीं मिली है. इस टीम में भाजपा सांसद तेजस्वी सूर्या को पार्टी के युवा मोर्चा का नया अध्यक्ष नियुक्त किया गया. वह पूनम महाजन की जगह लेंगे. भाजपा ने महासचिवों के रूप में राम माधव, पी मुरलीधर राव, अनिल जैन और सरोज पांडेय की जगह नए चेहरों को मौका दिया. जेपी नड्डा ने पार्टी में बदलाव करते हुए 12 राष्‍ट्रीय उपाध्‍यक्ष, 8 राष्‍ट्रीय महामंत्री, एक राष्‍ट्रीय महामंत्री (संगठन), तीन राष्‍ट्रीय सह-संगठन मंत्री, 13 राष्‍ट्रीय मंत्री, एक कोषाध्‍यक्ष, एक सह कोषाध्‍यक्ष, एक केंद्रीय कार्यालय सचिव और एक प्रभारी राष्‍ट्रीय आईटी एवं सोशल मीडिया के नाम की घोषणा की. इसके साथ ही युवा मोर्चा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष, ओबीसी मोर्चा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष, किसान मोर्चा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष, अनुसूचित जाति मोर्चा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष, अनुसूचित जनजाति मोर्चा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष और अल्‍पसंख्‍यक मोर्चा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष का भी ऐलान किया गया है. 23 राष्‍ट्रीय प्रवक्‍ता के नाम भी जारी किए गए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज