पंडित राजन मिश्र के निधन पर पीएम मोदी ने कहा- उनका जाना कला और संगीत के लिए अपूरणीय क्षति

बनारस की मशहूर संगीतकार राजन-साजन मिश्र की जोड़ी टूट गई. राजन मिश्र का निधन हो गया. (twitter)

बनारस की मशहूर संगीतकार राजन-साजन मिश्र की जोड़ी टूट गई. राजन मिश्र का निधन हो गया. (twitter)

बनारस घराने की मशहूर संगीतकार राजन-साजन मिश्र की जोड़ी आज यानि रविवार को टूट गई. पंडित राजन मिश्र (Rajan Mishra) का रविवार को नई दिल्ली के अस्पताल में निधन हो गया. उन्हें कोरोना हो गया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 25, 2021, 9:23 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. बनारस घराने की मशहूर संगीतकार राजन-साजन मिश्र की जोड़ी टूट गई है. पंडित राजन मिश्र (Rajan Mishra) का रविवार को नई दिल्ली में निधन हो गया. उन्हें गंभीर हालत में दिल्ली के सेंट स्टीफंस हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था. राजन मिश्र कोरोना से भी संक्रमित थे. बताया जा रहा है कि इसी दौरान उन्हें दिल का दौरा पड़ा. उनके निधन पर नेता से लेकर कलाकार तक उन्हें श्रद्धांजलि दे रहे हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने ट्विटर पर लिखा, "बनारस घराने से जुड़े मिश्र जी का जाना कला और संगीत जगत के लिए अपूरणीय क्षति है."

पीएम मोदी ने लिखा कि, 'शास्त्रीय गायन की दुनिया में अपनी अमिट छाप छोड़ने वाले पंडित राजन मिश्र जी के निधन से अत्यंत दुख पहुंचा है। शोक की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं उनके परिजनों और प्रशंसकों के साथ हैं.'

On the demise of Pandit Rajan Mishra
पीएम मोदी ने राजन मिश्र के निधन पर दुख जताया है.


केंद्रीय पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री प्रहलाद पटेल ने लिखा कि पंडित राजन मिश्रा जी के निधन का दुखद समाचार मिला. पं राजन साजन मिश्रा जी की जोड़ी का यात्रा वृतांत, संस्कृति और संगीत की यशस्वी परंपरा है. मै दिवंगत आत्मा के चरणों में विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं.
उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने लिखा कि, "भारतीय शास्त्रीय संगीत की ख्याल शैली के सशक्त हस्ताक्षर, पद्मभूषण पंडित राजन मिश्रा जी के निधन का दु:खद समाचार मिला. संगीत में आपका योगदान आने वाली पीढ़ियों के लिए प्रेरणास्रोत है. मैं ईश्वर से दिवंगत आत्मा की शांति और शोक संतप्त परिजनों को धैर्य प्रदान करने की कामना करता हूं."

उत्तर प्रदेश के नेता प्रतिपक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि "भारत के महान संगीतज्ञ, 'पद्म भूषण' व 'यश भारती' से सम्मानित पंडित राजन मिश्र जी का कोरोना से निधन अत्यंत दुःखद है. अपने अमर संगीत के माध्यम से वे सदैव हमारे बीच रहेंगे. ईश्वर दिवंगत की आत्मा को शांति एवं शोकाकुल परिजनों को यह दुःख सहने का संबल प्रदान करें."

लोक गायिका मालिनी अवस्थी ने कहा कि 'काल ने पंडित जी को हम सबसे छीन लिया. श्रद्घेय पंडित राजन मिश्रा जी नही रहे. कुछ कहने को नही है. काशी सूनी हो गई, संगीत सूना हो गया. महादेव साजन भैया को, समस्त परिवार को यह असीम कष्ट सहने की शक्ति प्रदान करे.



पिता और दादा से ली थी संगीत की शिक्षा

1951 में जन्मे राजन मिश्र ने अपने दादा पंडित बड़े राम जी मिश्रा और पिता पंडित हनुमान मिश्रा से संगीत की शुरुआती शिक्षा ली थी. इसके बाद वे 1977 में दिल्ली चले गए. उन्होंने अपने भाई साजन मिश्र के साथ 400 साल पुराने बनारस घराने की परंपरा को आगे बढ़ाया. दोनों ने 1978 में श्रीलंका में अपना पहला कॉन्सर्ट किया था. जल्द ही वे जर्मनी, फ्रांस, स्विट्जरलैंड, ऑस्ट्रिया, अमेरिका, ब्रिटेन, नीदरलैंड, अमेरिका, सिंगापुर, कतर, बांग्लादेश सहित कई देशों में प्रदर्शन करने गए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज