Home /News /delhi-ncr /

NCR में प्रदूषण संकट पर CM मनोहर लाल ने कहा- यह पॉलिटिकल विषय नहीं, कोरोना जैसा बड़ा संकट

NCR में प्रदूषण संकट पर CM मनोहर लाल ने कहा- यह पॉलिटिकल विषय नहीं, कोरोना जैसा बड़ा संकट

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने NCR में बढ़ते प्रदूषण को लेकर कहा कि ये बड़ा संकट है.

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने NCR में बढ़ते प्रदूषण को लेकर कहा कि ये बड़ा संकट है.

Haryana News: मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर वीरवार को पलवल के गांव दुधौला स्थित विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय के तृतीय स्थापना दिवस समारोह में उपस्थित लोगों को संबोधित कर रहे थे. मुख्यमंत्री मनोहरलाल ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी का विजन है कि देश को आत्म निर्भर बनाया जाए और युवाओं को शिक्षा के साथ साथ उनके हाथों में कौशल प्रदान किया जाए. प्रधानमंत्री के विजन को साकार करते हुए हरियाणा सरकार द्वारा पलवल के गांव दुधौला में देश का पहला कौशल विश्वविद्यालय श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय की स्थापना की गई है.

अधिक पढ़ें ...

पलवल. दिल्ली-एनसीआर में बढ़ते प्रदूषण (Delhi NCR Air pollution) को लेकर CM मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि यह पॉलिटिकल विषय तो है नहीं, लेकिन एक ऐसा संकट है, जैसे कोरोना संकट आया था उसमे लोगो ने मिलकर लड़ाई लड़ी और लोग काफी हद तक उस संकट से बहार आ चुके हैं. लेकिन इस बढ़ते प्रदूषण से हम सबको लड़ना होगा.

CM मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि इसका कारण कहीं ना कहीं इंडस्ट्रीज, व्हीकल्स और पराली है, परन्तु हरियाणा में पराली जलाने पर काफी रोक लगाई हुई है, और हमारे यहां के किसान यहां पर काफी जागरूक भी हैं. लेकिन पराली जलाने का संख्या बिलकुल जीरो हो जाए इसके लिए हमने जुर्माने लगाना शुरू किया है. कई जगह पर हमने किसानों की सहायता के लिए उन्हें 1 हजार रुपये प्रति एकड़ की राशि भी दे रहे हैं.

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने उनसे कहा है कि आप लोग इसे जलाने की बजाए इसको एकत्र कीजिये और इसे इंडस्ट्रीज यूज़ में बेचिये और इसकी बिक्री कर रहे हैं, इससे किसानों की आय भी बढ़ी हैं. वहीं हमने सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों की पलना करते हुए स्कूल, कॉलेज बंद किये है, इंडस्ट्रीज को भी बंद किया है और अभी ऑड इवन की भी बात चल रही है. जिससे लोगों के स्वास्थ्य पर कोई फरक ना पड़े.

मुख्यमंत्री वीरवार को पलवल के गांव दुधौला स्थित विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय के तृतीय स्थापना दिवस समारोह में उपस्थित लोगों को संबोधित कर रहे थे. मुख्यमंत्री मनोहरलाल ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी का विजन है कि देश को आत्म निर्भर बनाया जाए और युवाओं को शिक्षा के साथ साथ उनके हाथों में कौशल प्रदान किया जाए. प्रधानमंत्री के विजन को साकार करते हुए हरियाणा सरकार द्वारा पलवल के गांव दुधौला में देश का पहला कौशल विश्वविद्यालय श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय की स्थापना की गई है. श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय के देश निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा.

मुख्यमंत्री मनोहरलाल ने कहा कि जिस विजन के साथ इस विश्विद्यालय की स्थापना की गयी थी, उसमें यह विश्विद्यालय पूरी तरह से फिट बैठ रहा है. हम प्रदेश के युवाओं को कौशल में निपुण बनाने में सफल हुए हैं. उन्होंने कहा की विद्यार्थी कौशल प्राप्त करके स्किल यूनिवर्सिटी से निकल रहें हैं. युवाओं के साथ स्किलिंग या कोई हुनर जुड़ जाता है तो उसकी डिमांड हर क्षेत्र में बढ़ जाती है. हुनर की बहुत बड़ी आवश्यकता है. पढ़ाई और हुनर मैं हमें अंतर समझने की आवश्यकता है. हुनर के बाद हम आगे बढऩे के रास्ते पर जा सकते हैं.

कौशल ही देश को, समाज को, राष्ट्र को आगे बढ़ा सकता है. अंत्योदय भावना हम में होनी चाहिए. अंतिम व्यक्ति को कैसे समर्थ किया जा सकता है इसके लिए हमें काम करना चाहिए. उन्होंने कहा की विश्विद्यालय से वर्ष 2030 तक हर वर्ष 12000 स्किल युवा निकलेंगे. वर्तमान में हर वर्ष 4000 स्किल युवाओं को यूनिवर्सिटी में कौशल प्रदान किया जा रहा है.

Tags: Air pollution delhi, CM Manohar Lal

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर