लाइव टीवी

प्रियंका गांधी ने पूछा- उमर और महबूबा के खिलाफ किस आधार पर लगाया PSA
Delhi-Ncr News in Hindi

भाषा
Updated: February 7, 2020, 5:28 PM IST
प्रियंका गांधी ने पूछा- उमर और महबूबा के खिलाफ किस आधार पर लगाया PSA
प्रियंका गांधी ने पूछा मोदी सरकार से सवाल

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने कहा, ‘ उमर और महबूबा को बिना किसी आधार के अनिश्चितकाल के लिए कैद में रखे जाने के नहीं, बल्कि रिहा किए जाने के हकदार हैं.’

  • Share this:
नई दिल्ली. कांग्रेस (Congress) महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Vadra) ने जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्रियों उमर अब्दुल्ला (omar abdullah) और महबूबा मुफ्ती (Mehbooba mufti) के खिलाफ जन सुरक्षा कानून (PSA) के तहत मामला दर्ज होने को लेकर शुक्रवार को सवाल किया. प्रियंका गांधी ने पूछा कि किस आधार पर दोनों नेताओं के खिलाफ इस कानून के तहत कार्रवाई की गई है. उन्होंने यह भी कहा कि दोनों पूर्व मुख्यमंत्री रिहाई के हकदार हैं.

प्रियंका ने ट्वीट कर सवाल किया, ‘किस आधार पर उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती के खिलाफ पीएसए लगाया गया है?’ कांग्रेस महासचिव ने कहा, ‘ उमर और महबूबा ने भारत के संविधान को कायम रखा, लोकतांत्रिक प्रक्रियाओं का अनुपालन किया और कभी भी हिंसा एवं विभाजन से संबंध नहीं रखा. वे बिना किसी आधार के अनिश्चितकाल के लिए कैद में रखे जाने के नहीं, बल्कि रिहा किए जाने के हकदार हैं.’

दरअसल, उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती की छह महीने की एहतियातन हिरासत पूरी होने से महज कुछ घंटे पहले गुरुवार (छह फरवरी) को उनके खिलाफ जन सुरक्षा कानून (पीएसए) के तहत मामला दर्ज किया गया. इससे पहले दिन में नेशनल कॉन्फ्रेंस के महासचिव और पूर्व मंत्री अली मोहम्मद सागर और पीडीपी के वरिष्ठ नेता सरताज मदनी पर भी पीएसए लगाया गया.

दरअसल उमर  और महबूबा पिछले साल पांच अगस्त से नजरबंद हैं. इसी दिन केन्द्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर से विशेष दर्जा वापस लेकर उसे दो केन्द्र शासित प्रदेशों लद्दाख और जम्मू-कश्मीर में विभाजित कर दिया था. उन्होंने पीएसए के तहत जारी वारंट उमर को सौंपा। उमर के दादा तथा पूर्व मुख्यमंत्री शेख मोहम्मद अब्दुल्ला के शासनकाल में 1978 में लकड़ी की तस्करी को रोकने के लिए यह कानून लाया गया था.

ये भी पढ़ें: 

अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा शकील के खिलाफ FIR दर्ज, बड़े नेताओं के हत्या की है प्लानिंग

निर्भया की मां बोलीं- यह अन्याय है, देखती हूं कब तक कोर्ट दोषियों को समय देती

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 7, 2020, 5:28 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर