ओवरस्पीड में कटे डेढ़ लाख चालान अब दिल्ली पुलिस के लिए बने मुसीबत, ये है वजह
Delhi-Ncr News in Hindi

ओवरस्पीड में कटे डेढ़ लाख चालान अब दिल्ली पुलिस के लिए बने मुसीबत, ये है वजह
दिल्ली पुलिस के लिए डेढ़ लाख कटे ई-चालान अब मुसीबत बन गए हैं

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस (Delhi Traffic Police) द्वारा रद्द किया गया पुराना नोटिफिकेशन (Notification) कानून अधिसूचित न होने से जुर्माना राशि कोर्ट में जमा हुआ है, इसलिए इस पर अभी तक कोई फैसला नहीं लिया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 18, 2019, 3:18 PM IST
  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
नई दिल्ली. दिल्ली ट्रैफिक पुलिस (Delhi Traffic police) ने दो दिन पहले राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 24 (National Highway 24) पर अंधाधुंध ई-चालान (e-challan) काटने का आदेश वापस ले लिया है. ऐसे में अहम सवाल है कि जिन वाहन चालकों ने जुर्माना भर दिया है उनका क्या होगा? क्योंकि अभी तक दिल्ली पुलिस द्वारा रद्द किया गया नोटिफिकेशन कानून अधिसूचित न होने से जुर्माना राशि कोर्ट में जमा हुआ है, इसलिए इस पर अभी तक कोई फैसला नहीं लिया गया है. हां, जिन लोगों ने अभी तक जुर्माना राशि जमा नहीं किया है उनको अब फाइन नहीं देना पड़ेगा. साथ ही उन लोगों का नाम भी रिकॉर्ड बुक से हटा लिया जाएगा.

डेढ़ लाख कटे ई-चालान को लेकर असमंजस में ट्रैफिक पुलिस

बता दें कि दो दिन पहले ट्रैफिक पुलिस ने अपने ही एक पुराने आदेश को रद्द करते हुए नया आदेश जारी किया था. दिल्ली ट्रैफिक पुलिस के नए आदेश में कहा था कि अब एनएच-24(9) पर चार पहिया वाहन और तिपहिया वाहन की रफ्तार 70 और 40 किलोमीटर प्रतिघंटा कर दिया गया है. इससे पहले दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने 60 किलोमीटर से ज्यादा स्पीड होने पर लगभग डेढ़ लाख ई-चालान काटे थे, जिससे राजस्व के रूप में दिल्ली पुलिस को करोड़ों रुपये का फायदा हुआ था.



दिल्ली ट्रैफिक पुलिस इन सब के बावजूद अपने कैमरे में गलती सुधारने को तैयार नहीं थी
दिल्ली ट्रैफिक पुलिस इन सब के बावजूद अपने कैमरे में गलती सुधारने को तैयार नहीं थी




दिल्ली पुलिस के लिए सिरदर्दी यह है कि कोर्ट में जमा जुर्माना राशि को सही व्यक्ति तक कैसे पहुंचाया जाए और वो तरीका क्या होगा? ट्रैफिक पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि इसको लेकर जल्द ही निर्णय ले लिया जाएगा. अगर जुर्माना राशि को वापस लिए जाने का फैसला होता है तो यह कोई बड़ी बात नहीं है. ट्रैफिक पुलिस के पास वाहन चालकों का पूरा रिकॉर्ड है इसलिए समय जरूर लगेगा, लेकिन वसूली गई राशि वापस कर दी जाएगी.

कुछ दिनों से मीडिया रिपोर्ट्स में यह बात निकल कर सामने आ रही थी कि बीते अगस्त महीने से 10 अक्टूबर, 2019 तक राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-24 पर गति सीमा 60 किलोमीटर प्रतिघंटा कर दी गई थी. दिल्‍ली ट्रैफिक पुलिस ने इस आधार पर करीब डेढ़ लाख चालान काट डाले. इसे लेकर कुछ संगठन अदालत का दरवाजा खटखटाने की तैयारी में थे. लेकिन, दिल्ली ट्रैफिक पुलिस को जब अपनी गलती का एहसास हुआ तो यह फरमान वापस ले लिया.

निजामुद्दीन ब्रिज से गाजीपुर बोर्डर तक कटे थे ई-चालान

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने ये चालान निजामुद्दीन पुल से गाजीपुर बॉर्डर (उत्तर प्रदेश की गाजियाबाद सीमा) के बीच काटे थे. पीडब्ल्यूडी ने राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के मशविरे के बाद नियमानुसार इस मार्ग पर 70 किलोमीटर प्रतिघंटा की गति को कानूनी तौर पर जायज करार दिया था. इसको लेकर इस राजमार्ग पर जगह-जगह बोर्ड भी लगे हुए हैं.

ये भी पढ़ें: 

दिल्ली पुलिस के थानों में हो सकते हैं फिदाइन हमले, आईबी ने जारी किया अलर्ट

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस का कारनामा: 9 किलोमीटर के अंदर ही काट डाले डेढ़ लाख चालान, फजीहत होने पर आई बैकफुट पर
First published: October 18, 2019, 2:52 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading