14 करोड़ की सरकारी मदद से पैदा हुए सिर्फ 233 बच्चे
Delhi-Ncr News in Hindi

14 करोड़ की सरकारी मदद से पैदा हुए सिर्फ 233 बच्चे
प्रतीकात्मक फोटो.

अल्पसंख्यक मंत्रालय (Minority ministry) की एक रिपोर्ट से इसका खुलासा हुआ है. पारसी (Parsi) समुदाय की आबादी बढ़ाने के लिए जियो पारसी (Jiyo Parsi) योजना चलाई जाती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 20, 2020, 11:31 AM IST
  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
नई दिल्ली. एक खास समुदाय की आबादी को बढ़ाने के लिए केन्द्र सरकार (Central Government) कई योजनाएं (Plan) चलाती है. योजनाओं पर करोड़ों रुपये (Crore rupees) भी खर्च किए जाते हैं. ऐसा इसलिए किया जाता है कि जिससे इस समुदाय की लगातार घट रही आबादी को रोका जा सके. यही वजह है कि 7 साल में 14 करोड़ रुपये खर्च करने के बाद सिर्फ 233 बच्चे पैदा हुए हैं. अल्पसंख्यक मंत्रालय (Minority ministry) की एक रिपोर्ट से इसका खुलासा हुआ है.

जियो पारसी योजना पर खर्च हो रहे हैं करोड़ों रुपये

अल्पसंख्यक मंत्रालय की ओर से जियो पारसी योजना चलाई जाती है. योजना का मकसद पारसी समुदाय की आबादी को बढ़ाना है. अगर 2011 की जनगणना के आंकड़ों पर जाएं तो देश में पारसी समुदाय की संख्या करीब 57 हजार है. इनमें से 28115 पुरुष और 29149 महिलाएं हैं. मीडिया रिपोर्टस की मानें तो देश में पारसी समुदाय के ज्यादातर परिवार महाराष्ट्र के मुम्बई और पुणे में रहते हैं. लेकिन उनकी आबादी कम हो रही है. पारसी समुदाय की आबादी बढ़े इसी के लिए मंत्रालय योजना के तहत चलाए जा रहे कई तरह के कार्यक्रमों को बजट जारी करता है.



पारसी योजना के इन कार्यक्रमों पर खर्च हुए 14.8 करोड़ रुपये



जियो पारसी योजना के तहत मैरिज रिलेशन मैनेजमेंट, फर्टीलिटी पॉवर, शादी और परिवार को कैसे चलाया जाता है इस पर वर्कशॉप आयोजित कराई जाती हैं. इतना ही नहीं समुदाय के बच्चों को डे केयर की सुविधा भी दी जाती है. मेडिकल की सुविधा के साथ बुजुर्गों को भी सहायता दी जाती है, जिससे वो घर पर बच्चों की देखभाल कर सकें. अल्पसंख्यक मंत्रालय की ओर से योजना के तहत कई तरह के कार्यक्रमों पर 2013-14 से लेकर 2019-20 तक 14.8 करोड़ रुपये खर्च किए हैं.

ये भी पढ़ें :- 

सरकार के पास नहीं बाघ-मोर को राष्ट्रीय पशु-पक्षी बताने वाले दस्तावेज, उठाया यह कदम

280 दिन में लोकपाल को मिलीं भ्रष्टाचार की 1296 शिकायतें, कितने पर हुई जांच-कार्रवाई, RTI में नहीं दिया जवाब
First published: February 20, 2020, 11:31 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading