केवल 45 मिनट की ऑक्सीजन बची है, 100 से अधिक मरीजों की जिंदगी जोखिम में है: गंगाराम अस्पताल

अस्पताल (Hospital) ने कहा कि उसने पिछले 24 घंटे में कम से कम चार एसओएस भेजे हैं और वह संकट की स्थिति में है. अस्पताल ने कहा कि उसके पास केवल करीब 500 घन मीटर ऑक्सीजन बची है,

अस्पताल (Hospital) ने कहा कि उसने पिछले 24 घंटे में कम से कम चार एसओएस भेजे हैं और वह संकट की स्थिति में है. अस्पताल ने कहा कि उसके पास केवल करीब 500 घन मीटर ऑक्सीजन बची है,

अस्पताल (Hospital) ने कहा कि उसने पिछले 24 घंटे में कम से कम चार एसओएस भेजे हैं और वह संकट की स्थिति में है. अस्पताल ने कहा कि उसके पास केवल करीब 500 घन मीटर ऑक्सीजन बची है,

  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली स्थित सर गंगाराम अस्पताल (SGRH) ने एक अन्य जीवन रक्षा संदेश (SOS) भेजते हुए शनिवार रात कहा कि उसके पास केवल करीब 45 मिनट तक आपूर्ति के लिए ऑक्सीजन (Oxygen) बची है और 100 से अधिक मरीजों का जीवन जोखिम में है. अस्पताल ने कहा कि उसने पिछले 24 घंटे में कम से कम चार एसओएस भेजे हैं और वह संकट की स्थिति में है. अस्पताल ने कहा कि उसके पास केवल करीब 500 घन मीटर ऑक्सीजन बची है, जो करीब 45 से 60 मिनट ही चलेगी और 100 से अधिक मरीजों का जीवन खतरे में है.

उसने बताया कि अस्पताल में रोजाना 10,000 घट मीटर तरल ऑक्सीजन की खपत होती है. गंगाराम अस्पताल को पिछले कुछ दिन से टैंकरों के जरिए ऑक्सीजन की आपूर्ति हो रही है और वह स्वयं के ऑक्सीजन संयंत्र लगाने के भी प्रयास कर रहा है. इससे एक दिन पहले अस्पताल ने बताया था कि उसके 25 कोविड-19 मरीजों की मौत हो गई. सूत्रों ने बताया कि अस्पताल में इन मरीजों की मौत का कारण ‘‘कम दबाव की ऑक्सीजन’’ हो सकती है.

Youtube Video


मुझे बहुत बुरा महसूस होगा
वहीं, कल खबर सामने आई थी कि बत्रा अस्पताल के मैनेजिंग डायरेक्टर (MD) डॉक्टर एससीएल गुप्ता ऑक्सीजन संकट (Oxygen Crisis) पर बात करते हुए रो पड़े. उन्होंने कहा कि हम लोगों (तीमारदारों) से अनुरोध करते हैं कि वो अपने मरीजों को वहां ले जाएं जहां उन्हें ऑक्सीजन की उपलब्धता हो. हम यह समझते हैं कि मरीज किसी की माता, पिता हैं. यदि मैं किसी अपने को खोता हूं, तो यह स्वाभाविक है कि मुझे बहुत बुरा महसूस होगा.

अगले एक घंटे के लिए काफी रहेगी

इससे पहले, शनिवार की सुबह बत्रा अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी की खबर आई थी. हालांकि कुछ देर बाद ही यहां ऑक्सीजन को लेकर एक टैंकर पहुंचा. बत्रा अस्पताल के एमडी डॉक्टर एससीएल गुप्ता का कहना था कि अस्पताल को 500 किलोग्राम ऑक्सीजन ट्रक के जरिए पहुंचाई गई है जो ऑक्सीजन मिलने के बाद अगले एक घंटे के लिए काफी रहेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज