Home /News /delhi-ncr /

Ghaziabad News- गाजियाबाद में कोरोना का प्रभाव, सरकारी अस्‍पताल में ऑपरेशन और डिलेवरी बंद

Ghaziabad News- गाजियाबाद में कोरोना का प्रभाव, सरकारी अस्‍पताल में ऑपरेशन और डिलेवरी बंद

अस्‍पताल के नौ डॉक्‍टर हो चुके हैं संक्रमित.
 (File Photo)

अस्‍पताल के नौ डॉक्‍टर हो चुके हैं संक्रमित. (File Photo)

Operation stopped in Government Hospital: गाजियाबाद जिले में दो मुख्‍य सरकारी अस्‍पताल हैं. एमएमजी अस्‍पताल और संयुक्‍त जिला अस्‍पताल. एमएमजी अस्‍पताल में पहले ही इमरजेंसी मामलों में ही ऑपरेशन किए जा रहे थे, केवल संयुक्‍त अस्‍पताल में ही ऑपरेशन चल रहे थे, लेकिन अब यहां भी बंद  कर दिए गए हैं. इसका कारण अस्‍पताल के करीब आधे  डॉक्‍टर कोरोना  संक्रमित हो चुके हैं.

अधिक पढ़ें ...

    गाजियाबाद. जिले में कोरोना (corona infected) का प्रकोप जारी है,  इस वजह से जिले के सरकारी अस्‍पताल में (government hospital) ऑपरेशन (operation) और डिलेवरी बंद करनी पड़ी. इस वजह से लंबे समय से ऑपरेशन का इंतजार कर रहे मरीजों को परेशानी हो रही है. ऑपरेशन दोबारा कब शुरू होंगे, यह भी अभी तय नहीं है. हालांकि मंगलवार को गाजियाबाद जिले में करीब एक सप्‍ताह बाद 1000 से कम मामले आए हैं. अभी तक रोजाना करीब 2000 मामले कोरोना के मामले आ रहे थे.

    गाजियाबाद जिले में दो मुख्‍य सरकारी अस्‍पताल हैं. एमएमजी और संयुक्‍त  जिला अस्‍पातल. एमएमजी अस्‍पताल में पहले ही इमरजेंसी मामलों में ही ऑपरेशन किए जा रहे थे, केवल संयुक्‍त अस्‍पताल में ही ऑपरेशन चल रहे थे, लेकिन अब यहां भी बंद  कर दिए गए हैं. इसका कारण अस्‍पताल के करीब आधे  डॉक्‍टर  कोरोना  संक्रमित हो चुके हैं. छह महिला रोग विशेषज्ञ, दो नेत्र रोग विशेषज्ञ एवं एक बाल रोग विशेषज्ञ के संक्रमित होने के बाद अस्पताल में जांच और ऑपरेशन बंद कर दिए गए हैं.

    अस्पताल में कार्यरत सात महिला रोग विशेषज्ञों में से छह के संक्रमित होने के बाद डिलेवरी भी बंद कर दी गई हैं. एमएमजी अस्पताल में सर्जिकल वार्ड में पांच कोरोना मरीज मिलने के बाद वार्ड को सैनिटाइज कराने के लिए खाली कर दिया गया था. वार्ड में भर्ती मरीजों को होर्डिंग एरिया में शिफ्ट किया गया. बाद में दो मरीजों को संतोष अस्पताल में भर्ती कराया गया.

    सामान्य दिनों में संयुक्त अस्पताल में प्रतिदिन 10 से 12 ऑपेरशन होते थे. इनमें हड्डी, नाक, कान, गला, पेट संबंधी सर्जरी होती थीं, जबकि मोतियाबिंद के 20 से अधिक ऑपरेशन किए जाते थे. डॉक्टरों के संक्रमित होने से ऑपरेशन बंद हो चुके हैं. अस्‍पताल आने वाले मरीजों को 10 से 15 दिन ऑपरेशन की सलाह दी जा रही है. ऐसे में उन मरीजों को परेशानी हो रही है, जिन्‍हें ऑपरेशन की तत्‍काल जरूरत है. ऐसे में अगर वे मरीज एमएमजी अस्‍पताल जाते हैं, वहां पर लंबा इंतजार करना पड़  सकता है.

    इस संबंध में सीएमओ डॉ. भवतोष शंखधार कहते हैं कि कहीं भी ऑपरेशन बंद करने के आदेश नहीं दिए गए हैं. अगर डॉक्‍टर स्‍वयं संक्रमित हो गए हैं तो ऐसे में ऑपरेशन कौन करेगा. मरीज ऑपरेशन को टाल सकते हैं तो कोई परेशानी नहीं है.

    Tags: Corona Affected, Ghaziabad News

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर