लाइव टीवी

OPINION: गलतियों से भरा कांग्रेस का घोषणापत्र और दिशाहीन नेतृत्व, कैसे मिलेगी जीत?
Delhi-Ncr News in Hindi

News18Hindi
Updated: February 5, 2020, 8:03 PM IST
OPINION: गलतियों से भरा कांग्रेस का घोषणापत्र और दिशाहीन नेतृत्व, कैसे मिलेगी जीत?
कांग्रेस पार्टी के दोनों स्टार प्रचारक राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा दिल्ली के अलग-अलग इलाके में चुनावी रैली कर विरोधियों पर हमला कर रहे हैं.

गांधी परिवार के अलावा पार्टी के स्टार प्रचारक भी विधानसभाओं में नज़र नहीं आए. माना जा रहा है कि ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि नामांकित लोगों में ही उत्साह की कमी है, ऐसे में स्टार प्रचारक कैसे उत्साह दिखा सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 5, 2020, 8:03 PM IST
  • Share this:
(रशीद किदवई)

नई दिल्ली. दिल्ली के दंगल (Delhi Assembly Election 2020) में कांग्रेस (Congress) की टॉप लीडरशिप भी पूरे दम-खम से प्रचार कर रही है. कांग्रेस पार्टी के दोनों स्टार प्रचारक राहुल गांधी (Rahul Gandhi) और प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में चुनावी रैली कर विरोधियों पर हमला कर रहे हैं. ऐसे में यह देखा जा रहा है कि चुनाव के अंतिम दिनों में राहुल और प्रियंका की तरफ से घोर मेहनत करने के बावजूद दिल्ली की विधानसभाओं में कांग्रेस पिछड़ती दिखाई दे रही है.

सोनिया गांधी, शनिवार को वोट डाल सकेंगी?
वहीं पार्टी की अंतरिम प्रमुख सोनिया गांधी एक बैठक को संबोधित करने वाली थीं, लेकिन हाल ही में सोनिया गांधी दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल में भर्ती हुईं. कहा जा रहा था कि शनिवार को दिल्ली में होने वाले चुनाव में अपना वोट नहीं डाल पाएंगी. अस्पताल के डॉक्टर कथित तौर पर चाहते थे कि वह सोमवार तक वहीं रहें. सोनिया पेट में इन्फेक्शन के चलते अस्पताल में हैं. ऐसे में उनकी गैरमौजूदगी में राहुल और प्रियंका ने राष्ट्रीय राजधानी के कुछ हिस्सों में कैम्पेनिंग की. हालांकि बुधवार को सोनिया गांधी को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई.

पार्टी के स्टार प्रचारक भी विधानसभाओं में नज़र नहीं आए
गांधी परिवार के अलावा पार्टी के स्टार प्रचारक भी विधानसभाओं में नज़र नहीं आए. माना जा रहा है कि ऐसा इसलिए हुआ कि नामांकित लोगों में ही उत्साह की कमी है, ऐसे में स्टार प्रचारक कैसे उत्साह दिखा सकता है. वहीं कांग्रेस के कई बड़े दिग्गज दिल्ली में ही रहते हैं लेकिन उनमें से कम ही लोगों को अपने अपने क्षेत्रों में देखा गया.

दिल्ली में कांग्रेस को नुकसानलेकिन इस वजह से दिल्ली में कांग्रेस को नुकसान नहीं हुआ. कांग्रेस के चुनाव घोषणापत्र को करीब से एक नज़र देखने से उसमें कई खामियां और विसंगतियां नज़र आएंगी. उदाहरण के लिए, घोषणापत्र बिंदु सं 34 में लिखा है- कांग्रेस प्रत्येक परिवार को रहने के लिए जगह सुनिश्चित करेगी, जिसमें जेजे क्लस्टर में किरायेदारों और मालिकों को शामिल किया गया है. उनको उसी जगह 350 वर्ग फुट का एक फ्लैट मिलेगा." लेकिन होर्डिंग्स और विज्ञापन में पार्टी 25 वर्ग या 269 वर्ग फुट का वादा करती है.

घोषणापत्र और विज्ञापन में फर्क 
घोषणापत्र के अनुसार, कांग्रेस 100 दिनों के भीतर लैंग्वेज टीचर्स की रिक्तियों को भरने के बारे में बात कर रही है ('अल्पसंख्यकों' के शीर्षक के तहत पॉइंट नम्बर 42 में). वहीं विज्ञापन में कांग्रेस द्वारा लैंग्वेज टीचर्स सहित 11,000 शिक्षकों के बैकलॉग को क्लियर करने का वादा किया गया है लेकिन बिना कोई समय सीमा दिए फिर चाहे वो 100 दिन हो या छह महीने.

ऋण को मंजूरी देने के मुद्दे पर
इसके अलावा थ्री-व्हीलर्स और ई-रिक्शा चलाने वालों के ऋण को मंजूरी देने के मुद्दे पर, कांग्रेस ने अपने विज्ञापन में कहा है कि वो अगर सत्ता में आए तो लोन देंगे. लेकिन घोषणापत्र में इस तरह के वाहनों के मालिकों को सब्सिडी देने के एकमुश्त इशारे की बात की गई है.

कांग्रेस के घोषणा पत्र में पॉइंट 08 में प्रदूषण से लड़ने और परिवहन में सुधार पर सरकार के बजट (प्रत्येक वर्ष) के पच्चीस प्रतिशत खर्च करने की योजना है. वहीं विज्ञापन इसे घटाकर बीस फीसदी कर देता है. ऐसे में अगर दिल्ली में कांग्रेस के पेश किये गए घोषणा पत्र और उनके विज्ञापनों पर नज़र फिराएंगे तो समझ आता है कि दोनों ही बातों में एक पेच है जोकि समझ से परे है. कांग्रेस को समझना होगा अब वोटर्स फर्क करना और उसे समझना सीख चुके हैं.

(लेखक वरिष्ठ पत्रकार हैं और यह लेख उनका निजी विचार है)

ये भी पढ़ें :-

निर्भया केस: केंद्र की याचिका खारिज, दोषियों को एक साथ ही होगी फांसी, मिला एक हफ्ते का समय

OPINION| निर्भया गैंगरेप-फांसी और न्यायगत प्रक्रिया

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 5, 2020, 5:47 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर