• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • दिल्ली कैंट रेप केसः मासूम से दुष्कर्म के आरोपियों की रिमांड 3 दिन बढ़ी

दिल्ली कैंट रेप केसः मासूम से दुष्कर्म के आरोपियों की रिमांड 3 दिन बढ़ी

दिल्ली के नांगल में बच्ची से रेप और हत्या के आरोपियों की रिमांड बढ़ी. (सांकेतिक फोटो)

दिल्ली के नांगल में बच्ची से रेप और हत्या के आरोपियों की रिमांड बढ़ी. (सांकेतिक फोटो)

Nangal Rape Case: पटियाला हाउस कोर्ट ने दिल्ली कैंट के नांगल गांव में 9 साल की बच्ची से कथित बलात्कार और हत्या के मामले में आरोपियों की रिमांड अवधि बढ़ाई. श्मशान घाट पर पानी पीने गई बच्ची के साथ रेप और हत्या के आरोपियों पर चल रहा है मामला.

  • Share this:

नई दिल्ली. राजधानी के दिल्ली कैंट इलाके में स्थित नांगल गांव में 9 साल की मासूम बच्ची से दुष्कर्म के आरोपियों की रिमांड अवधि 3 दिनों के लिए बढ़ा दी गई है. पटियाला हाउस कोर्ट में आज इस मामले की सुनवाई के दौरान अदालत ने यह निर्णय दिया. दिल्ली पुलिस ने मामले में 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. इन सभी के ऊपर नांगल गांव श्मशान घाट में मासूम बच्ची के साथ दुष्कर्म और उसकी हत्या करने का आरोप है. अदालत की ओर से रिमांड अवधि बढ़ाए जाने के बाद अब दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच आरोपियों से गहनता से पूछताछ कर मामले की छानबीन करेगी.

इसी महीने 1 अगस्त को दिल्ली कैंट इलाके के पास ओल्ड नांगल गांव के श्मशान घाट के एक पुजारी और तीन कर्मचारियों पर 9 वर्षीय लड़की के साथ कथित तौर पर बलात्कार के बाद हत्या करने का आरोप लगा था. बच्ची के परिजनों का कहना था कि वह पानी पीने के लिए श्मशान घाट के पास लगे वॉटर कूलर पर गई थी. काफी देर तक जब बच्ची लौटकर नहीं आई, तो परिजन घाट पर पहुंचे, जहां पता चला कि बच्ची के अंतिम संस्कार की तैयारी की जा रही है. आरोपियों ने परिजनों को बताया कि पानी पीने के दौरान करंट लगने से बच्ची की मौत हो गई. आरोपियों ने मामले के पुलिस में जाने के बाद पोस्टमॉर्टम में शव के चीर-फाड़ का भय दिखाकर बच्ची के अंतिम संस्कार की तैयारी शुरू कर दी थी.

इसी दौरान नांगल गांव में रहने वाले लोगों को मामले का पता चल गया, तो श्मशान घाट के पास भीड़ जुट गई. लोगों ने तत्काल पुलिस को सूचना दी जिसके बाद बच्ची के शव को चिता पर से उतार लिया गया. इस मामले में पुलिस ने आरोपियों के ऊपर आईपीसी की धारा 302, 376 और 506 के साथ-साथ यौन अपराधों से बच्चों का संरक्षण (POCSO) कानून और अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति अधिनियम की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है. इस मामले को लेकर दिल्ली में सियासत भी गर्मा गई है. कांग्रेस समेत सभी विपक्षी दल इसे कानून-व्यवस्था की विफलता बताते हुए सरकार के ऊपर सवाल उठा रहे हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज