• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • 'निर्भया' के दो दोषियों की याचिका पर पटियाला हाउस कोर्ट में आज फिर सुनवाई

'निर्भया' के दो दोषियों की याचिका पर पटियाला हाउस कोर्ट में आज फिर सुनवाई

निर्भया के दोषी पवन और अक्षय ने दायर की है याचिका.

निर्भया के दोषी पवन और अक्षय ने दायर की है याचिका.

दोषियों के वकील एपी सिंह ने दाखिल की गई याचिका में कहा कि तिहाड़ जेल (Tihar Jail) प्रशासन ने अभी तक उन्हें दोषी पवन गुप्ता और अक्षय ठाकुर के दस्तावेज मुहैया नहीं कराये हैं जिससे इन दोनों के लिये दया याचिका (Mercy Petition) और क्यूरेटिव पिटिशन (Curative Petition) फाइल किए जाएं

  • Share this:
    दिल्ली. दिल्ली (Delhi) के पटियाला हाउस कोर्ट (Patiala House Court) में शनिवार को निर्भया गैंगरेप (Nirbhaya Case) के दो दोषियों की याचिका पर सुनवाई होगी. दोषी पवन गुप्ता और अक्षय ठाकुर के वकील एपी सिंह ने तिहाड़ जेल प्रशासन पर कई आरोप लगाते हुए ये याचिका दायर की है. इसमें कहा गया है कि तिहाड़ जेल (Tihar Jail) प्रशासन ने अभी तक उन्हें दोषी पवन और अक्षय के दस्तावेज मुहैया नहीं कराये हैं जिससे इन दोनों के लिये दया याचिका और क्यूरेटिव पिटिशन फाइल किए जाएं.



    इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने हाल ही में दो अन्य दोषियों विनय शर्मा और मुकेश सिंह की सुधारात्मक याचिका खारिज कर दी थी.

    नया डेथ वारंट हुआ है जारी
    बता दें कि निर्भया के चारों दोषियों के लिए नया डेथ वॉरंट जारी हुआ है. इसके तहत पवन, अक्षय, विनय और मुकेश को एक फरवरी की सुबह छह बजे तिहाड़ जेल में फांसी दी जानी है. इनमें से दोषी मुकेश की क्यूरेटिव पिटीशन और राष्ट्रपति को भेजी गई दया याचिका खारिज हो चुकी है. अब बाकी तीन दोषियों के पास क्यूरेटिव पिटीशन और दया याचिका भेजने का विकल्प बचा है.

    निर्भया गैंगरेप केस के चारों दोषियों ने तिहाड़ जेल के अधिकारियों को इसकी जानकारी नहीं दी है कि वो फांसी की सजा के पहले आखिर में अपने परिवार के किस सदस्य से मिलना चाहते हैं. इसके अलावा दोषियों ने अपने वसीयत की जानकारी अधिकारियों को नहीं दी. तिहाड़ जेल के अधिकारियों ने इस बात की जानकारी दी है.

    'निर्भया' के साथ चलती बस में हुआ था गैंगरेप
    बता दें कि 16 दिसंबर, 2012 की रात 23 साल की एक पैरामेडिक स्टूडेंट अपने दोस्त के साथ दक्षिण दिल्ली के मुनिरका इलाके में बस स्टैंड पर खड़ी थी. इस दौरान वो अपने घर जाने के लिए वहां से गुजर रहे एक प्राइवेट बस में सवार हो गई. इस चलती बस में एक नाबालिग समेत छह लोगों ने युवती के साथ बर्बर तरीके से मारपीट और गैंगरेप किया था. इसके बाद उन्होंने पीड़िता को चलती बस से फेंक दिया था. बुरी तरह जख्मी युवती को बेहतर इलाज के लिए एयर लिफ्ट कर सिंगापुर ले जाया गया था. यहां 29 दिसंबर, 2012 को अस्पताल में उसकी मौत हो गई थी.

    ये भी पढ़ें: निर्भया केस: 3 दोषियों ने दायर की याचिका, तिहाड़ जेल प्रशासन पर लगाया ये आरोप

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन