• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • Ambulance Strike: समय पर एंबुलेंस न मिलने से मरीज की मौत, स्‍वास्‍थ्‍य विभाग ने हड़तालियों से चाबी छीनी

Ambulance Strike: समय पर एंबुलेंस न मिलने से मरीज की मौत, स्‍वास्‍थ्‍य विभाग ने हड़तालियों से चाबी छीनी

एंबुलेंस चालकों की हड़ताल जारी है. सांके‍तिक फोटो

एंबुलेंस चालकों की हड़ताल जारी है. सांके‍तिक फोटो

गाजियाबाद में एंबुलेंस चालकों की हड़ताल की वजह से एक मरीज की मौत हो गई. बाद में प्रशासन और स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के अधिकारियों ने हड़तालियों से एंबुलेंस की चाबी छीन ली है. हड़ताल अभी जारी है.

  • Share this:
    गाजियाबाद. मांगों के समर्थन में हड़ताल कर रहे एंबुलेंस चालकों की वजह से एक व्‍यक्ति की मौत हो गई. इसके बाद पुलिस, प्रशासन और स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के अधिकारियों ने हड़तालियों से चाबियां छीन लीं. स्‍वास्‍थ विभाग प्रदेश में एस्‍मा लगे होने की वजह से हड़ताल को अवैध घोषित करते हुए संबंधित एंबुलेंस चालक के खिलाफ मामला दर्ज कराने की तैयारी कर रहा है.

    जिले में सभी तरह की एंबुलेंस के चालकों की हड़ताल चल रही है. मंगलवार रात एमएमजी अस्‍पताल में भर्ती करने के लिए एंबुलेंस को फोन किया गया. दो घंटे तक एंबुलेंस न आने के बाद परिजन टेंपो में लेकर बिजेन्‍द्र को इलाज के लिए एमएमजी अस्‍पताल ले गए. समय से इलाज न मिलने की वजह से उनकी मौत हो गई.

    सीएमएस अनुराग भार्गव के अनुसार, बिजेन्‍द्र को दिल की बीमारी थी. उन्‍हें अस्‍पताल में भर्ती किया गया था, लेकिन बाद में उनकी मौत हो गई. दूसरी ओर एंबुलेंस चालक संघ के जिला अध्‍यक्ष बृजमोहन का आरेाप है कि प्रशासन ने दबाव बनाकर चाबियां ले ली हैं. हड़ताल के बावजूद आठ गंभीर मरीजों को मेरठ मेडिकल कॉलेज में भर्ती करया गया है. उन्‍होंने बताया कि इमरजेंसी सेवाओं के लिए एंबुलेंस रिजर्व रखी गई है, जिससे मरीजों को किसी भी तरह की परेशानी न हो. बृजमोहन का दावा है कि जिस मरीज की मौत हुई है, उनके परिजनों की ओर से 108 पर किसी भी तरह की कॉल नहीं आयी थी.

    दूसरी ओर जिला मलेरिया अधिकारी ज्ञानेन्‍द्र‍ मिश्रा ने बताया कि शासन स्‍तर पर आए आदेशों के बाद हड़ताल को अवैध करार दे दिया गया है. मौजूदा समय प्रदेश में एम्‍सा लागू है, ऐसे में हड़ताल नहीं की जा सकती है. किसी भी एंबुलेंस चालक की वजह से मरीज की मौत होने पर संबंधित चालक के खिलाफ मामला दर्ज कराया जाएगा.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज