लाइव टीवी

गुरुग्राम के सरकारी दफ्तर नहीं भरते बिजली बिल
Delhi-Ncr News in Hindi

ETV Haryana/HP
Updated: January 4, 2018, 6:20 PM IST
गुरुग्राम के सरकारी दफ्तर नहीं भरते बिजली बिल
प्रतीकात्मक तस्वीर

गुरुग्राम बिजली विभाग हर महिने सरकार के खाते में करोड़ों का रेवेन्यू देता हैं लेकिन गुरुग्राम के सरकारी महकमों पर बिजली निगम का करीब 50 फीसदी बिल पेंडिंग हैं जिनको वसूलने में बिजली के पसीने छूट रहे हैं.

  • Share this:
गुरुग्राम बिजली विभाग हर महिने सरकार के खाते में करोड़ों का रेवेन्यू देता हैं लेकिन गुरुग्राम के सरकारी महकमों पर बिजली निगम का करीब 50 फीसदी बिल पेंडिंग हैं जिनको वसूलने में बिजली के पसीने छूट रहे हैं.

निगम की बात करें तो कुल 35 करोड़ रुपये गुरुग्राम के सरकारी अधिकारियों के ऑफिसों पर पेंडिंग हैं. प्रदेश सरकार के इस आदेश के बाद सभी जिलों के ऑपरेशन सर्कल में बिजली निगम के अफसरों ने सरकारी विभागों पर बकाया राशि की गणना की.

इसमें अकेले गुरुग्राम ऑपरेशन सर्कल के दो दर्जन से ज्यादा सरकारी विभागों पर 35 करोड़ रुपये बकाया है. इसमें जिला प्रशासन पर 2 करोड 14 लाख 95 हजार 266 रुयपे का बिजली बिल बकाया है. यानी कुल बकाया बिलों का अकेले 35.14 प्रतिशत जिला प्रशासन पर, इसके कानून का पढाने वाली गुरुग्राम पुलिस कमिश्नर ऑफिस पर पुलिस कमिश्नर ऑफिस 19,20,486 रुपये हैं.

दूसरों को न्याय देने वाले गुरुग्राम कोर्ट बिजली विभाग को न्याय नहीं दे पा रहे हैं. जिला कोर्ट पर बिजली विभाग का 1,53,58,362 रुपये का बिल पेंडिंग हैं. कुल मिलाकर 16.02 प्रतिशत पुलिस डिपार्टमेंट, 27.29 प्रतिशत हूडा और 14.4 प्रतिशत रोडवेज पर बकाया है. बिजली निगम पर भी बिजली बिल बकाया है, जो 37 लाख रुपये से अधिक है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 4, 2018, 6:20 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर