• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • 22 रुपए किलो प्याज बेच रही है केंद्र सरकार, खरीदने के लिए उमड़ी भारी भीड़

22 रुपए किलो प्याज बेच रही है केंद्र सरकार, खरीदने के लिए उमड़ी भारी भीड़

22 रुपए किलो मिल रहे प्याज को खरीदने के लिए लाइन में लगे लोग

22 रुपए किलो मिल रहे प्याज को खरीदने के लिए लाइन में लगे लोग

केंद्र सरकार (Central Government) द्वारा 22 रुपए किलो में बेचे जा रहे प्याज (Onion) को खरीदने के लिए लोगों की भारी भीड़ मौके पर पहुंची है और लोग लाइन में लगकर प्याज खरीद रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:
    नई दिल्ली. प्याज (Onion) की कीमतों से परेशान दिल्लीवालों के लिए राहत भरी खबर है. राजधानी दिल्ली (Delhi) में केंद्र सरकार (Central Government) 22 रुपए किलो की दर से प्याज बेच रही है. न्यूज़ एजेंसी एएनआई के मुताबिक, 22 रुपए किलो मिल रहे प्याज को खरीदने के लिए लोगों की भारी भीड़ उमड़ रही है. लोग लाइन में लगकर प्याज की खरीदारी कर रहे हैं.

    मात्र दो सप्ताह पहले तक 20 से 30 रुपए किलो मिलने वाले प्याज की कीमत प्रति किलो 70 से 80 रुपए हो गई है. लगातार बढ़ते दाम से लोग परेशान हैं. केंद्र सरकार ने पहले ही घोषणा की थी कि कम दरों पर प्याज बेचने के लिए सेलिंग पॉइंट बनाए जाएंगे. इसी के तहत दिल्ली के अलग-अलग इलाके में सरकारी विक्रय केंद्र बनाए गए हैं. यहां से लोग 22 रुपए किलो के हिसाब से प्याज खरीद रहे हैं.



    प्याज उत्पादक राज्यों में भारी बारिश से फसल को नुकसान
    प्याज कारोबारियों का कहना है कि देश में ज्यादातर प्याज महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश और कर्नाटक से आता है. वहां भारी बारिश के कारण काफी मात्रा में फसल बर्बाद हो गई है. जिस कारण उन राज्यों से आवक कम हो गई है. इसके अलावा जमाखोरी भी कीमतों में तेजी का प्रमुख कारण है. इसके साथ ही त्योहारी सीजन के कारण भी मांग में तेजी आई है.

    ये भी पढ़ें-

    प्याज की बढ़ती कीमतों पर CM खट्टर ने खड़े किए हाथ, आचार संहिता का दिया हवाला

    प्याज की कीमतें बढ़ीं तो साढे़ आठ लाख रुपए का प्याज चुरा ले गए चोर

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज